क्रिसमस डे क्यों मनाया जाता हैं

एबाउट क्रिसमस इन हिन्‍दी, क्रिसमस डे क्यों मनाया जाता हैं क्रिसमस डे हम लोग देखते हैं कि हर साल बहुत ही धूमधाम से मनाया जाता हैं 10 sentences about christmas in hindi लेकिन यह क्यों मनाया जाता हैं.क्रिसमस डे हर साल कब मनाया जाता हैं क्रिसमस डे का क्या महत्व होता हैं.

क्रिसमस डे कैसे मनाया जाता हैं के बारे में आप लोग जानना चाहते हैं तो इस लेख में christmas day से जुड़ी पूरी जानकारी मिलेगी. christmas day भारत में ही नहीं बल्कि पूरे विश्व में मनाया जाता हैं हर कोई इसे एक त्यौहार की तरह मनाता हैं.

लेकिन मुख्य रूप से क्रिसमस डे किस धर्म का त्यौहार हैं  और christmas day का महत्व क्या होता हैं about christmas in hindi किसमिस डे किस दिन मनाया जाता हैं किसकी याद में मनाया जाता हैं, christmas in hindi, के बारे में आइए नीचे विस्तार से जानते हैं.गणतंत्र दिवस क्यों मनाते हैं

क्रिसमस डे क्यों मनाया जाता हैं

christmas day ईसाई धर्म का एक बहुत ही महत्वपूर्ण और प्रमुख पर्व त्यौहार हैं ईसाई धर्म में इस पर्व को बहुत ही धूमधाम से और हर्षोल्लास से मनाया जाता हैं क्योंकि इसी दिन ईसा मसीह या जीसस क्राइस्ट का जन्म हुआ था.

इसीलिए लोग उनके जन्मदिन के रूप में खुशी में क्रिसमस डे मनाते हैं पहले तो यह सिर्फ ईसाई धर्म में मनाया जाता था ईसाई समुदाय के लोग ही क्रिसमस सेलिब्रेट करते थे.

10 sentences about christmas in hindi

लेकिन वर्तमान समय में हर धर्म के लोग christmas day को धूमधाम से मनाते हैं. इसी दिन ईसा मसीह का जन्म हुआ था इसलिए ईसाई धर्म के लोग इसे सबसे बड़ा खुशी का दिन मान कर इसे त्यौहार के रूप में मनाते हैं और इसीलिए इसे बड़ा दिन भी कहा जाता हैं.

जिस तरह हिंदू मुस्लिम में कई तरह के त्योहार दिवाली होली ईद बकरीद मनाया जाता हैं और उनके लिए त्यौहार प्रमुख होता हैं उसी तरह ईसाई धर्म का बहुत ही मुख्य पर्व christmas day होता हैं.शिक्षक दिवस क्यों मनाते हैं

Christmas Day kab manaya jata hai

क्रिसमस डे हर साल दिसंबर में 25 तारीख को मनाया जाता हैं क्रिश्चियन समुदाय का यह एक बहुत ही महत्वपूर्ण त्यौहार या खुशी का दिन होता हैं क्रिसमस डे सेलिब्रेट करने के लिए लगभग 15 से 20 दिन पहले से ही ईसाई धर्म के लोग तैयारियां करने लगते हैं. क्रिसमस डे सबसे पहले 336 ईसवी में रोम में मनाया गया था.

उसके बाद से इसे विश्व के हर देश में मनाया जाने लगा क्रिसमस शब्द क्राइस्ट शब्द से उत्पन्न हुआ हैं. ईसा मसीह ईसाई धर्म के भगवान माने जाते हैं इसीलिए उनका जन्मदिन 25 दिसंबर के दिन त्यौहार के रूप में मनाते हैं साथ ही साथ इसे 12 दिनों तक मनाया जाता हैं तो यह त्यौहार 25 दिसंबर से शुरू होता हैं और 6 जनवरी तक मनाया जाता हैं.

क्रिसमस डे का इतिहास

25 दिसंबर यानी कि christmas day के दिन ही ईसाई धर्म के भगवान कहे जाने वाले ईसा मसीह का जन्म हुआ था ईसा मसीह एक बहुत ही महान व्यक्ति थे उन्होंने समाज में लोगों को इंसानियत और प्यार से रहने की शिक्षा दी थी ईसा मसीह लोगों को भाईचारे के साथ और प्रेम पूर्वक रहने का संदेश दिया करते थे.

इसीलिए ईसाई धर्म में उन्हें ईश्वर का इकलौता पुत्र माना जाता हैं. बाद में उनके अच्छे विचारों और उनके इंसानियत को देखते हुए भी वहां के जो शासक थे उन्हें सूली पर लटका दिया था.

ईसा मसीह की माता का नाम मरियम या मेरी था और उनके पिता का नाम युसूफ था कहा जाता हैं कि मरियम को एक रात सपना आया कि उनके गर्भ में जो बच्चा हैं वह भगवान का पुत्र हैं.

कहा जाता हैं कि जब ईसा मसीह का जन्म होने वाला था तब भगवान की ओर से लोगों को यह संकेत मिला था कि मनुष्य की रक्षा और उन्हें ज्ञान देने के लिए भगवान का एक अंश मसीहा के रूप में जन्म लेने वाला हैं जब ईसा मसीह का जन्म होने वाला था उस समय उनके माता-पिता का विवाह  नहीं हुआ था.तिरंगे झंडे को किसने बनाया था

ईसा मसीह का जन्म

ईसा मसीह के जन्म के समय उनके माता-पिता को भी भगवान की ओर से संदेश आया था कि याह पुत्र बहुत ही ज्ञानी महात्मा होगा ईश्वर का अंश हैं ईसा मसीह के जन्म के समय उनके माता-पिता कहीं जंगली इलाके में जाते समय रास्ते में फस गए थे जब उनका जन्म हुआ.

तो कई लोग उन्हें देखने आये और उस दिन क्रिसमस का दिन था. ऐसा माना जाता हैं कि जब ईसा मसीह का जन्म हुआ तो सभी देवता ने मिलकर सदाबहार के वृक्ष को बहुत सजा कर के खुशी व्यक्त किया था जो वर्तमान समय में क्रिसमस ट्री सजाकर के क्रिसमस डे मनाया जाता हैं तो यह क्रिसमस ट्री उसी सदाबहार वृक्ष के प्रतीक माना जाता हैं.

10 sentences about christmas in hindi

christmas day सेलिब्रेट करने के लिए क्रिश्चियन धर्म में बहुत ही पहले से लोग तैयारियां करने लगते हैं इस दिन सभी ईसाई धर्म के लोग बाईबिल पढ़ते हैं ध्यान लगाते हैं इस दिन उपवास भी रखा जाता हैं क्रिसमस डे मनाने का मुख्य उद्देश्य होता हैं कि दुनिया में शांति का संदेश पहुंचाना क्योंकि ईसा मसीह शांति और सदाचार के प्रतीक माने गए हैं.

वह लोगों को शांति से और भाईचारे से रहने का संदेश देते थे वह लोगों के बीच शांति सदाचार दया और प्यार का भाव उत्पन्न करते थे. ईसाई धर्म के लोग चर्च में जाकर ईसा मसीह के सामने प्रेयर करते हैं गाना गाते हैं कैंडल जलाकर उनका जन्मदिन सेलिब्रेट करते हैं.

क्रिसमस डे के दिन लोग अपने घरों की सफाई करते हैं नए कपड़े खरीदते हैं कई तरह के व्यंजन बनाकर अपने रिश्तेदारों अपने दोस्तों के साथ सेलिब्रेट करते हैं.

कई जगह तो ईसा मसीह के बचपन की झांकियां दिखाया जाता हैं जिसमें की उनकी माता मरियम और मरियम के गोद में ईसा मसीह को दिखाया जाता हैं. क्रिस्चियन ऑफिस या जितने भी जगह होते हैं वहां पर इस दिन छुट्टी रहता हैं.सोनपुर का मेला कब लगता हैं

क्रिसमस डे बच्चे किस  तरह मनाते हैं

क्रिसमस डे के दिन के दिन बच्‍चों में एक अलग उत्‍साह होता हैं. इस दिन बच्चों को बहुत सारे गिफ्ट चॉकलेट उपहार मिलते हैं क्रिसमस डे के दिन क्रिसमस ट्री सजाया जाता हैं इस दिन भेदभाव किसी भी मनुष्य के बिच नहीं माना जाता हैं क्रिसमस डे के दिन बच्चों को सांता क्लॉज का बहुत ही इंतजार रहता हैं

क्योंकि संता क्लॉज आते हैं और कई तरह के गिफ्ट या बच्चों के बीच में बांटते हैं कोई भी व्यक्ति संता क्लाउज का ड्रेस पहनकर के बच्चों के बीच उन्हें उनके मनपसंद गिफ्ट देता हैं. चर्च में क्रिसमस ट्री सजाया जाता हैं आजकल तो कई लोग ऐसे हैं जो अपने घर में छोटा-छोटा क्रिसमस ट्री सजाते हैं.

केक खिलाकर क्रिसमस डे का त्योहार सेलिब्रेट करते हैं क्रिसमस डे में केक सबसे महत्वपूर्ण होता हैं इस दिन केक का बहुत ही महत्व होता हैं क्योंकि क्रिसमस डे केक काटकर खिलाकर ही सेलिब्रेट किया जाता हैं

christmas day के समय बाजारों में भी एक अलग रौनक होता हैं क्योंकि हर तरफ छोटे-छोटे क्रिसमस ट्री संता क्लाज के लाल और सफेद रंग के कपड़े कई तरह के गिफ्ट आदि मिलते हैं.ताजमहल किसने बनवाया था

क्रिसमस डे का महत्व क्या हैं

25 दिसंबर को 12:00 बजे रात में ईसा मसीह का जन्मदिन मनाया जाता हैं कहा जाता हैं कि 25 दिसंबर को रात 12:00 बजे ईसा मसीह का जन्म बेथलाहेम शहर के गौशाला में हुआ था.

ईसा मसीह ईसाई धर्म के भगवान माने जाते हैं इसलिए ईसाई धर्म में इस दिन का बहुत ही विशेष महत्व होता हैं christmas day के दिन सबसे ज्यादा चर्च में जश्न मनाया जाता हैं.फादर्स डे कब मनाया जाता हैं

 

सारांश 

क्रिश्चियन समुदाय में एक बहुत ही महत्वपूर्ण और प्रमुख त्योहार के रूप में क्रिसमस डे मनाते हैं ईसाई धर्म के साथ-साथ आजकल हर धर्म के लोग अपने अपने घरों में छोटे-छोटे क्रिसमस ट्री सजाकर के क्रिसमस डे मनाते हैं

और अपने घर के बच्चों को उनके मनपसंद उपहार चॉकलेट देते हैं घर में मिठाई बनाकर कई तरह से खाना बनाकर केक काटकर सेलिब्रेट करते हैं.

इस लेख में क्रिसमस डे क्‍यों मनाते हैं क्रिसमस डे का महत्व क्या हैं क्रिसमस डे कब और कैसे मनाया जाता हैं बच्चे क्रिसमस डे कैसे मनाते हैं Christmas Day का इतिहास क्या हैं इसके बारे में पूरी जानकारी दी गई हैं आप लोगों को यह लेख कैसा लगा कृपया हमें कमेंट करके जरूर बताएं और अपने दोस्त मित्रों को शेयर जरूर करें.

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

Leave a Comment