AC Ka Full Form – एसी का फुल फॉर्म क्या हैं

एसी का फुल फॉर्म क्या हैं AC ka full form kya hai in hindi एसी का अविष्कार किसने किया ac ka avishkar kisne kiya tha एसी का अविष्कार कब हुआ ac क्या हैं।  एसी का उपयोग कहां और कैसे किया जाता हैं ac ki khoj kisne ki इस लेख में जानेगें एसी

वर्तमान समय में हर घर में एक बहुत ही उपयोगी मशीन बन गया हैं।  गर्मी से निजात पाने के लिए लगभग हर कोई अपने घर में एसी का उपयोग करते हैं कोई भी अपने घर में ऑफिस में दुकान में हॉस्पिटल में हर जगह एसी का उपयोग वर्तमान समय में बहुत ही ज्यादा हो रहा हैं।

लेकिन शायद कम ही लोगों को यह पता होगा कि एसी का अविष्कार किसने किया तो आइए  ac ka full form kya hai in hindi एसी से क्‍या फायदा हैं क्‍या नुकसान हैं एसी कितने प्रकार का होता हैं के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करते हैं।

AC ka full form kya hai in hindi 

एसी यानी कि एयर कंडीशनर ऐसा मशीन होता है जो कि कहीं भी बंद जगह या रूम में लगाया जाता है तो उससे ठंडी हवा निकलती है। एसी का मुख्य रूप से उपयोग इसलिए किया जाता है ताकि जब ज्यादा गर्मी पड़ने लगता है उस समय गर्मी से राहत मिलती हैं

एसी कहीं भी रूम में या कहीं ठंडक के लिए लगाया जाता हैं जिससे बाहर से गर्म हवा जो आती है उसको वह सोख लेता है और उसके अंदर जो refrigerant का क्वायल लगा रहता है उसके द्वारा ठंडी हवा बाहर आने लगता है जिससे वहां का वातावरण पूरी तरह से ठंडा हो जाता है कमरे में जितनी गर्मी होती है एसी उसको बाहर करके वह रूम एकदम ठंडा कर देता है

AC ka full form kya hai in hindi

AC ka Full Form:- Air Condition

AC ka full form  एयर कंडीशन होता हैं ac ka full form हिंदी में वातानुकूल शीत ताप नियंत्रक कहा जाता हैं।आजकल एसी का प्रयोग हर जगह किया जा रहा है जैसे कि बैंक एटीएम सरकारी या प्राइवेट कार्यालय में हॉस्पिटल में किसी भी दुकान में मॉल में या किसी भी घर में गर्मी से राहत पाने के लिए ऐसी का इस्तेमाल किया जाता है

जिससे लोग बहुत ही उच्च तापमान में भी राहत महसूस करते हैं। ज्यादा गर्मी से लोगों को राहत मिलता है तथा उससे गर्मी नहीं लगता है और लोग आसानी से एक उच्च तापमान वाली जगह पर भी रह पाते हैं।

AC ka avishkar kisne kiya tha

पहले लोग गर्मी से निजात पाने के लिए घरों में बिजली के पंखे का प्रयोग करते थे कहीं-कहीं तो लोग गर्मी के दिनों में खिड़कियों पर पानी से भिगोकर कपड़े टांग देते थे और बाहर से जब हवा आती थी तो ठंडा ठंडा हवा घर में आता था

लेकिन इसी का अविष्कार हो जाने के बाद इन सारी चीजों से लोगों को आराम मिल गया हैं और अपने घर में AC लगा के आराम से गर्मी से निजात पाया जा सकता हैं सबसे पहले एसी का आविष्कार न्यूयॉर्क के विलिस कैरियर ने किया था।

उन्होंने सबसे पहले AC बनाने का शुरुआत किया था विलिस कैरियर ने एक बिजली से चलने वाला एयर कंडीशन बनाने का काम शुरू किया उनके बाद कई इंजीनियरों ने ऐसी बनाना शुरू किया इनके बाद एक इंजीनियर स्टुअर्ट डब्ल्यू  क्रेमर ऑफ चार्लोट ने एक रूम में एसी के जरिए ठंडा रखने के लिए एक मशीन का अविष्कार किया

उन्होंने इस मशीन का नाम एयर कंडीशनिंग रखा उन्होंने इसका पेटेंट भी अपने नाम करवाया था इनके बाद कई इंजीनियरों ने AC बनाने का काम जारी रखा और उसमें नए नए प्रयोग करके नए तरीके का एसी बनाने लगे।एक इंजीनियर रॉबर्ट शेरमेन ने एक ऐसी एसी का आविष्कार किया

जो कि ठंडा में गर्म हवा और गर्मी में ठंडा हवा देता था और वह एसी ऐसा था जो कि घर में जगह भी नहीं रोकता था इस एसी को बाहर लगाया जाता था और उसके पाइप घर के अंदर आता था जिससे कि ठंडा ठंडा हवा घर में आता था।

एसी का अविष्कार कब हुआ

सबसे पहले AC का आविष्कार 1902 में विलिस कैरियर ने न्यूयॉर्क के बफेलो शहर में बिजली से चलने वाला एयर कंडीशन का आविष्कार किया। उनके बाद 1906 में स्टुअर्ट डब्ल्यू क्रेमर ऑफ चार्लोट ने सबसे पहला एक रूम में ठंडा करने वाला एसी मशीन का आविष्कार किया।

उन्होंने इस एसी के अविष्कार के लिए पेटेंट भी अपने नाम करवाया था। 1945 में रॉबर्ट शेरमेन ने एयर कंडीशन का आविष्कार किया जो कि ठंडा में गरम और गरमी में ठंडा हवा देता था। और उन्होंने यह एसी ऐसा बनाया था। जो कि रूम के बाहर उसे लगाया जाता था। और पाइप के द्वारा रूम में ठंडा ठंडा हवा आता था।

AC kya hai

एसी एक ऐसा मशीन हैं जो रूम में लगाया जाता हैं। तो उससे ठंडा ठंडा हवा आता हैं वह रूम एकदम ठंडा हो जाता हैं। एसी एक ऐसा मशीन है जिसके माध्यम से ठंडी हवा ले सकते हैं गर्मी से निजात पा सकते हैं आजकल गर्मी के मौसम में लगभग सभी लोग अपने घर में एयर कंडीशन लगाते हैं

पहले जिसके पास ज्यादा पैसा होता था वही लोग एसी अपने घर में लगाते थे लेकिन वर्तमान समय में लगभग हर कोई अपने घर में एसी का हवा आसानी से ले सकता है एसी को ऑन करने के बाद उसका टेंपरेचर अपने आप से किया जा सकता है ताकि जिस तरह का वातावरण है

उसी तरह के तापमान में टेंपरेचर आसानी से सेट किया जा सके और उसी हिसाब से एसी ऑटोमेटिकली काम करने लगता है लेकिन पहले लोग गर्मी से निजात पाने के लिए पंखा लगाते थे तो  इतना ठंडा नहीं होता था। लेकिन एसी लगाने से रूम में एकदम ठंडक रहता है।

एसी एक ऐसा इलेक्ट्रॉनिक मशीन है जो कि हवा को फिल्टर करता है हवा में जो भी हानिकारक कण होते हैं उसको बाहर निकाल के एसी शुद्ध रूप से हवा बाहर निकालता है एसी में दो तरह के भाग होते हैं

जिसका एक भाग बाहर की तरफ लगा रहता है और दूसरा कमरे के अन्दर रहता है जिससे कि बाहर का जो भी गर्म हवा है उसको एसी के अंदर ऐसा मशीन लगाता है लगा रहता है जिससे की उसको फिल्टर करके अंदर ठंडा हवा प्रदान करता है।

एसी का उपयोग क्या हैं

एसी के द्वारा गर्मी में ठंडी हवा प्राप्त किया जाता है गर्मी से छुटकारा मिल जाता है। इसी को वातानुकूलित भी कहा जाता है। एसी का उपयोग हर कोई कर रहा हैं आजकल हर किसी का कार्य भागदौड़ भरा है गर्मी के दिनों में बाहर निकलने पर झुलसने वाला धूप हो जाता है

जिससे कि किसी भी व्यक्ति के लिए सहन करना मुश्किल हो जाता है जब वह अपने कमरे में आता है तो एक ठंडक चाहता है और यह पॉसिबल एसी से हो पाता है ऐसी किसी भी जगह रूम में कार्यालय में बैंक हॉस्पिटल आदि जगहों पर लगाकर के ठंडी हवा आसानी से प्राप्त किया जाता।

AC का उपयोग तो वर्तमान समय में कई जगहों पर किया जाता है लेकिन घर में किसी भी रूम में AC लगा कर और गर्मी से निजात पाया जाता हैं। किसी भी दुकान में एसी लगाया जाता हैं। वर्तमान समय में तो कई गाड़ी भी एसी वाला आ रहा हैं

जिसमें कहीं जाने आने में बहुत ही आराम रहता हैं कई एसी वाला ट्रेन चलता हैं। जिस में सफर करने में बहुत ही आरामदायक और सुविधाजनक होता हैं। भारत में सबसे पहला 1934 में एयर कंडीशन वाला ट्रेन चलाया गया था।

एसी से फायदा 

AC से कमरे के अंदर आरामदायक तापमान प्राप्त होता है कमरे में ठंडा रहता है अगर किसी व्यक्ति को गर्मी में ज्यादा काम करना पड़ता है कई तरह का तनाव हो जाता है तो एसी लगाने की वजह से जो गर्मी से तनाव उत्पन्न होता है वह दूर हो जाता है

किसी भी रेस्टोरेंट होटल में एसी लगा रखा है जिससे यह फायदा होता है कि उस होटल या रेस्टोरेंट दुकान में जो खाना बना रहता है वह जल्दी खराब नहीं होता है किराने की दुकान में एसी लगाने से किराना का सामान रहता है वह खराब नहीं होता हैं एसी लगाने की वजह से मच्छर का खतरा नहीं रहता है

गर्मी के दिनों में गर्म हवा के साथ धूल और हवा में हानिकारक कीटाणु से कई लोगों को अस्थमा और एलर्जी हो जाता है लेकिन AC में रहने से बाहर का जो भी हानिकारक हवा आता है उसको एसी शुद्ध हवा में परिवर्तित करके बाहर निकालता है जिससे कि अस्थमा और एलर्जी में फायदा होता है

एसी से नुकसान

AC से कई तरह के फायदे हैं इसका उपयोग कई जगहों पर किया जा रहा है लोगों को कई परेशानियों से निजात मिल जाता है इसके साथ ही एसी से कई तरह के नुकसान भी है एसी में लगातार रहने की वजह से किसी भी व्यक्ति के त्वचा की नामी खोने लगती है और त्वचा पर जलन और सूखापन होने लगता है

किसी भी एसी का तापमान 21 से 26 डिग्री तक है अगर रखा जाए तो फायदेमंद होगा लेकिन इससे ज्यादा का अगर तापमान होगा तो कई रोग हो सकते हैं एसी का समय समय से सफाई भी करना जरूरी है नहीं तो उसमें धूल बैक्टीरिया पराग आदि जमने लगता है और उसमें से जो हवा निकलता है वह कई तरह के रोग का कारण हो जाता है

लोगों को अस्थमा और कई तरह के संक्रमण होने लगते हैं श्‍वास रोग होने लगता है इसलिए एसी को नियमित रूप से साफ करना चाहिए एसी में जो क्लोरो फ्लोरो कार्बन गैस का प्रयोग किया जाता है उससे भी कई तरह की परेशानी होती है क्योंकि यह एक हानिकारक गैस होता है और इससे स्वास्थ्य पर कई तरह का दुष्प्रभाव पड़ता है

इस गैस के वजह से पर्यावरण में भी नुकसान होता है कई तरह के स्किन की बीमारी होने लगती है जो व्यक्ति हमेशा एसी लगा हुआ जगह पर रहता है तो उसे सिर दर्द की समस्या भी होने का खतरा बढ़ जाता है

सर्दी खांसी जुकाम जैसी बीमारी ज्यादा होने का खतरा बढ़ जाता है क्योंकि एसी में रहने से रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होने लगती है एसी लगी हुई रूम में ज्यादातर देर तक सोने से लोगों को थकान की समस्या होने लगती है जो व्यक्ति एसी में रहता है

उसे उसी तापमान में रहने का आदत हो जाता है जिसकी वजह से कहीं दूसरी जगह जाने पर और वहां पर एसी नहीं लगा रहता है तो उस व्यक्ति के लिए गर्म माहौल में परिवर्तित होने से कई तरह की परेशानी होने लगती है बेचैनी होने लगता है स्ट्रेस बढ़ने लगता है।

एसी का प्रकार

AC भी कई तरह के कई प्रकार के पाए जाते हैं बाजार में जाने पर कई तरह के एसी देखे जाते हैं एक ऐसा ऐसी होता है जो कि विंडो पर यानी की खिड़की पर लगाया जाता है जिसका आधा भाग बाहर रहता है

आधा भाग अंदर रहता है एक रूम एयर कंडीशनर होता है सेंट्रल एयर कंडीशनर, लम एयर कंडीशनर जो कि अलग-अलग जगहों पर लगाया जाता है रूम एयर कंडीशनर को खिड़की पर लगाया जाता है या रूम के अंदर दीवार पर लगाया जाता है

सारांश

एसी का उपयोग वर्तमान समय में हर कोई अपने अपने दुकान हॉस्पिटल या किसी भी तरह के रूम में किया जाता हैं। एसी को गर्मी से आराम पाने के लिए लगाया जाता हैं। हम लोग ने एसी का आविष्कार किसने किया के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त की हैं

इस लेख से जुड़े अगर कोई सवाल आपके मन में हैं तो हमें कमेंट करके जरूर पूछें। इस लेख में ac ka full form kya hai in hindi  एसी का आविष्कार किसने किया के बारे में पूरी जानकारी दी गई हैं। आप लोगों को यह जानकारी कैसा लगा हमें कमेंट करके जरूर बताएं और शेयर भी जरूर करें।

Leave a Comment