अमेरिका की खोज किसने की थी

 अमेरिका एक ऐसा देश हैं जो कि विश्व में सबसे शक्तिशाली हैं और इसको बच्चा-बच्चा जानता हैं लेकिन America ki khoj kisne ki सबसे पहले अमेरिका की धरती पर किसने पांव रखा था.

इसके बारे में जानकारी बहुत ही कम ही लोगों को होगा इसलिए अगर अमेरिका जाने के लिए समुद्री रास्तों का खोज किसने किया के बारे में जानकारी प्राप्त करना हैं तो इसलिए को पूरा जरूर पढ़ें.

अमेरिका एक बहुत ही विकसित और महान देश हैं अमेरिका की अर्थव्यवस्था पूरे विश्व में जितने भी देश हैं उनमें सबसे अच्छी हैं तो आइए इस लेख में अमेरिका की खोज किसने की थी

अमेरिका का खोज कैसे हुआ था अमेरिका की धरती पर समुद्री रास्ते जाकर किसने सबसे पहले उस जगह का पता लगाया था इसके बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करते हैं. भारत का खोज किसने किया

अमेरिका की खोज किसने की थी

जिस तरह भारत का खोज वास्कोडिगामा ने किया था भारत आने के लिए समुद्री रास्तों का किसी को पता नहीं था तो वास्कोडिगामा ने समुद्र के रास्तों का पता लगाया

उसी तरह अमेरिका जैसे महान देश में जाने के लिए समुद्री रास्तों का खोज स्पेन के एक व्यक्ति ने जिसका नाम क्रिस्टोफर  काेलंबस था उसी ने किया था. वैसे तो अमेरिका का खोज कोई क्या करेगा क्योंकि अमेरिका तो पहले से ही था

लेकिन अमेरिका जाने के लिए समुद्री रास्ते का पता किसी को नहीं था कि समुद्र में किस तरफ के रास्ते से जाने पर अमेरिका देश पड़ सकता हैं तो इन समुद्री रास्तों का खोज क्रिस्टोफर काेलंबस ने किया था.

America ki khoj kisne ki

अमेरिका का खोज कैसे हुआ

अमेरिका की खोज किसने की थी वैसे तो क्रिस्टोफर काेलंबस ने अमेरिका का खोज किया था लेकिन kristofar kolambas समुद्री रास्तों से निकला था इंडिया का खोज करने

क्योंकि भारत में सोने की खान थी मसाले बहुत ही मात्रा में मिलते थे तो क्रिस्टोफर काेलंबस भारत में आकर सोना और मसाले का व्यापार करना चाहता था.

इसलिए वह भारत का खोज करने के लिए निकला था. क्रिस्टोफर काेलंबस एक जुलाहे का बेटा था तो उसे समुद्री यात्राओं का सही से पता था और समुद्री यात्रा पर जाने में उसका दिलचस्पी भी था.एसी का फुल फॉर्म क्या हैं

अमेरिका का खोज कैसे हुआ

इसलिए उसने इंडिया का खोज करने का निर्णय लिया और उसने पुर्तगाल के राजा से इंडिया का खोज करने के लिए अनुमति मांगा या प्रस्ताव रखा क्योंकि इस खोज को करने के लिए बहुत पैसों का जरूरत था और काेलंबस के पास इतना पैसा नहीं था लेकिन पुर्तगाल के राजा ने मना कर दिया.

उसके बाद क्रिस्टोफर काेलंबस ने स्‍पेन के राजा के सामने इस बात को रखा तो उन्होंने इस यात्रा के खर्चे के लिए और इस यात्रा को करने के लिए हामी भर दी उसके बाद काेलंबस ने तीन जहाज लेकर इस यात्रा को शुरू कर दिया.

अमेरिका का खोज कब हुआ था

अमेरिका की खोज करने के लिए क्रिस्टोफर काेलंबस ने समुद्री रास्ते से 3 अगस्त 1492 में अपनी यात्रा शुरू की थी उसने तीन जहाज नीना पिंटा और सेंटा मारिया लेकर अपनी यात्रा शुरू किया था.

यात्रा बहुत ही लंबा था इसलिए क्रिस्टोफर काेलंबस ने कुछ नाविक को साथ लेकर चल दिया लेकिन कुछ दिन चलने के बाद जब कहीं भी कोई धरती दिखाई नहीं दिया तब क्रिस्टोफर काेलंबस के साथ जो नाविक थे उन्होंने उस का साथ छोड़ने का बात करने लगे.

लेकिन चलते चलते 12 अक्टूबर 1492 में समुद्रों के बीच धरती दिखाई दिया तब जाकर वहां पर क्रिस्टोफर काेलंबस और उसकी टीम ने अपनी जहाज रोकी तो वह जगह अमेरिका का बहामास आईलैंड सैन सल्वाडोर था.

kristofar kolambas का मेन मकसद एशिया का भारत पहुंचना था लेकिन वह अमेरिका के जमीन पर जा पहुंचा और इस तरह से अमेरिका का खोज हुआ. जब अमेरिका का खोज हुआ

तब लोगों को कहां पता था कि यह देश आगे चलकर विश्व में एक महान और विकसित देश बनेगा. जब क्रिस्टोफर काेलंबस अमेरिका समुद्री रास्ते का खोज करते हुए गया था.

उस समय कई द्विपों का खोज हुआ था और वह सारे कैरेबियाई द्वीप थे वह द्वीप जुआना हिस्पैनियोला आदि था वैसे तो क्रिस्टोफर काेलंबस इंडिया जाकर सोने की खान और मसालों का व्यापार नहीं कर सका.

लेकिन जब वह अमेरिका पहुंचा तो वहां से भी उसने बहुत काफी दौलत लेकर स्पेन लौटा था जब वह स्पेन लौटा तो वहां के शासक उससे बहुत प्रसन्न हुए और बाद में जिस हिस्पानियोला द्वीप का kristofar kolambas ने खोज किया था वही का गवर्नर घोषित किया गया इसके बाद भी क्रिस्टोफर काेलंबस तीन बार अमेरिका के दौरे पर गया था.इंडिया का फुल फॉर्म क्या होता हैं

क्रिस्टोफर काेलंबस कौन था

क्रिस्टोफर काेलंबस स्पेन का 1 जुलाहे का पुत्र था अपने पिता के साथ भी वह समुद्रों में काम करने जाता था इसीलिए  काेलंबस को समुद्री यात्रा का आदत भी था और समुद्री यात्रा करने में दिलचस्पी भी था क्रिस्टोफर kristofar kolambas का जन्म 1451 में इटली में हुआ था.

उस समय मसाले सिल्क और सोना भारत का यूरोप में बहुत प्रसिद्ध था लेकिन जिस रास्ते से जाया जाता था वह रास्ता बहुत ही लंबा था इसलिए क्रिस्टोफर काेलंबस ने समुद्री रास्ते का पता लगाने के ठानी ताकि वह रास्ता छोटा हो और जल्दी पहुंचा जाए और कम खर्चे में जाना आसान हो.

इसीलिए उसने भारत का खोज करने के लिए यह यात्रा शुरू किया था ताकि वहां जाकर वहां से मसाला सिल्क और सोना का व्यापार कर सके लेकिन भारत न पहुंचकर वह अमेरिका के धरती पर जा पहुंचा

उसने अमेरिका को एक नई दुनिया के रूप में खोज निकाला वैसे अमेरिका की खोज तो अनजाने में काेलंबस से हुआ था.

लेकिन अमेरिका की खोज किसने किया अगर कहा जाए तो वह  काेलंबस ही था.इसीलिए अमेरिका में 10 अक्टूबर को क्रिस्टोफर काेलंबस डे के रूप में मनाया जाता हैं और इस दिन हर जगह राष्ट्रीय अवकाश भी होता हैं.(शुन्‍य) जीरो का अविष्कार किसने किया

 

सारांश

क्रिस्टोफर काेलंबस1492 में सबसे पहली बार कैरेबियाई द्वीप पर पहुंचा था लेकिन इसके बाद भी उसने तीन बार अमेरिकी दीपों की यात्रा की थी तब जाकर उसने अमेरिकी महाद्वीप के जो मुख्य भूमि था उसके बारे में जानकारी हासिल कर पाया था. इस लेख में अमेरिका की खोज किसने किया था.

अमेरिका का खोज कैसे हुआ था अमेरिका के धरती पर सबसे पहले कौन सी जगह पर kristofar kolambas पहुंचा था kristofar kolambas कौन था इसके बारे में पूरी जानकारी दी गई हैं इस लेख से जुड़े कोई सवाल अगर आपके मन में हैं तो कृपया हमें कमेंट करके जरूर पूछें.

इस जानकारी को अपने दोस्त मित्रों रिश्तेदारों और अन्य सोशल साइट्स पर भी शेयर जरूर करें और इस वेबसाइट को फुल फॉर्म से जुड़े जानकारी बायोग्राफी से जुड़े जानकारी हेल्थ से जुड़ी जानकारी इंसुरेंस से और अन्य जानकारियों के लिए विजिट करते रहे.

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

Leave a Comment