बीसीए का फुल फॉर्म क्या होता है योग्‍यता, फायदे एवं सिलेबस

BCA Full Form in hindi बीसीए का फुल फॉर्म क्या होता है BCA का फुल फॉर्म बैचलर ऑफ कंप्यूटर एप्लीकेशन होता है. 12वीं पास करने के बाद एक छात्र स्‍नातक कंप्यूटर के साथ करने के लिए BCA कंप्यूटर कोर्स का चयन करते हैं. 

BCA एक स्नातक लेवल का कोर्स है. वैसे छात्र जो साइंस स्ट्रीम से इंटरमीडिएट पास करते हैं उनके लिए कंप्यूटर के साथ स्नातक करने के लिए BCA एक बेहतर कोर्स है.

वैसे स्नातक में और भी कई कोर्स हैं जिसमें कंप्यूटर की पढ़ाई की जाती है लेकिन स्नातक स्तर पर मीडियम में एक बेहतर कोर्स के रूप में बैचलर ऑफ कंप्यूटर एप्लीकेशन को भी माना जाता है.

वर्तमान समय में स्नातक लेवल के जितने भी कोर्स हैं उन कोर्स के साथ कंप्यूटर को भी सीखना चाहते हैं इसीलिए बैचलर लेवल के जो कंप्यूटर से संबंधित बेहतर कोर्स हैं उनमें बीटेक, BCA, bsc it प्रमुख रूप से है.पीएचडी का फुल फॉर्म क्या होता हैं

BCA Full Form in hindi

बीसीए का फुल फॉर्म बैचलर ऑफ कंप्यूटर एप्लीकेशन होता है जिसको हिंदी में स्नातक स्तरीय कंप्यूटर कोर्स के नाम से भी जाना जाता है. वैसे इसका शुद्ध हिंदी कंप्यूटर अनुप्रयोगों से स्नातक होता है. 

  • B:-Bachelor of 
  • C:- Computer 
  • A:- Application

वैसे छात्र जो स्नातक लेवल पर इंजीनियरिंग करना चाहते हैं और कंप्यूटर के बारे में पूरी जानकारी पाना चाहते हैं उनके लिए बैचलर लेवल का एक बेहतरीन ऑप्शन BCA कोर्स है.

BCA Full Form in hindi

BCA कोर्स 3 साल का होता है जिसमें कंप्यूटर के बारे में ही पूरी जानकारी प्राप्त किया जाता है. इस कोर्स को करने के लिए कम से कम साइंस या कॉमर्स के साथ 12वीं उतीर्ण होना चाहिए, तभी आप इस कोर्स में एडमिशन ले सकते हैं. भारत में BCA करने के लिए कई सरकारी एवं प्राइवेट कॉलेज है जहां से BCA कोर्स को कर सकते हैं.एमबीए का फुल फॉर्म क्या होता हैं

BCA कोर्स क्या है

BCA एक कंप्यूटर कोर्स है जिसको बैचलर ऑफ कंप्यूटर एप्लीकेशन के नाम से जाना जाता है. इसको शॉर्ट में BCA के नाम से जानते हैं. वैसे सामान्य रूप से बीए कोर्स के बारे में थोड़ी बहुत जानकारी अधिकतर लोगों के पास होती है जैसे ba एक बैचलर कोर्स है जिसमें आर्ट्स के बारे में जानकारी दी जाती है

ठीक उसी प्रकार बैचलर ऑफ कंप्यूटर एप्लीकेशन एक कंप्यूटर का कोर्स है, जिसमें कंप्यूटर के बारे में पूरी जानकारी दिया जाता है. 

इस कोर्स में कंप्यूटर क्या है इसको कैसे चलाया जाता है, कंप्यूटर में सॉफ्टवेयर कैसे बनाया जाता है, प्रोग्रामिंग क्या होता है, प्रोग्रामिंग कैसे करते हैं, डाटा बेस क्या होता है, जावा क्या है, कंप्यूटर नेटवर्क क्या है, इंटरनेट के बारे में तथा और भी कंप्यूटर से संबंधित पूरी जानकारी दिया जाता है सॉफ्टवेयर कैसे बनाया जाता है सॉफ्टवेयर कैसे काम करता है इन सभी चीजों के बारे में  इस कोर्स में सिखाया जाता है.एलएलबी का फुल फॉर्म क्या होता हैं

BCA के लिए योग्यता

इस कोर्स को अगर कोई छात्र करना चाहते हैं तो उनके लिए दो ऑप्शन होता है एंट्रेंस एग्‍जाम के माध्‍यम से या डयरेक्‍ट एडमिशन के द्वारा. कई कॉलेज ऐसे हैं जहां पर डायरेक्ट एडमिशन हो जाता है

लेकिन ज्यादातर कॉलेज में BCA में एडमिशन लेने के लिए पहले एंट्रेंस एग्जाम देना पड़ता है. BCA में एडमिशन लेने के लिए एंट्रेंस एग्जाम के माध्यम से एडमिशन लिया जाए या डायरेक्ट लिया जाए उसके लिए स्टूडेंट में कुछ जरूरी योग्यता होनी चाहिए.

  • BCA में एडमिशन लेने के लिए सबसे पहले किसी भी स्ट्रीम से 12 वीं पास होना जरूरी है.
  • 12वीं में कम से कम 50 परसेंट मार्क्स आवश्यक है.
  • वैसे तो कई कॉलेज में 12वीं किसी भी सब्जेक्ट से पास हो तो BCA में एडमिशन हो सकता है. लेकिन कई कॉलेज साइंस मैथ और कंप्यूटर साइंस सब्जेक्ट से 12वीं पास होने पर ही एडमिशन देते हैं.
  • इस कोर्स को करने के लिए उम्र 17 से 25 साल होनी चाहिए
  • छात्र भारत का नागरिक होना आवश्यक है.

BCA कैसे करें

BCA एक ऐसा कोर्स है जो कि कंप्यूटर के क्षेत्र में विशेषज्ञ बन जाते हैं. इस कोर्स को करने वाले छात्र को कई तरह के कंप्यूटर के ज्ञान प्राप्त होते हैं. साथ ही आगे चलकर कंप्यूटर से रिलेटेड कई अच्छे जॉब भी प्राप्त होते हैं. लेकिन सबसे पहले सवाल यह है कि BCA कैसे करें BCA करने के लिए दो ऑप्शन है 

एक गवर्नमेंट कॉलेज और दूसरा प्राइवेट कॉलेज. वैसे कई ऐसे कॉलेज है जहां पर ट्वेल्थ के अच्छे नंबर के द्वारा ही डायरेक्ट एडमिशन हो जाता है. लेकिन कई कालेजों में पहले एंट्रेंस एग्जाम पास करना पड़ता है उसके बाद ही छात्र का एडमिशन होता है.

सरकारी कॉलेज में एडमिशन लेने के लिए एंट्रेंस एग्जाम क्वालीफाई करना पड़ता है. BCA कोर्स के लिए कहीं एंट्रेंस एग्जाम हैं जिसमें अगर अच्छा नंबर आता है तो कॉलेज में एडमिशन हो जाता है और वह भी प्राइवेट कॉलेज की तुलना में कम फीस लगता है.नीट का फुल फॉर्म क्या होता हैं

BCA Entrance Exam

  • BUMAT
  • SUAT
  • IPU CET
  • AIMA UGAT
  • GGSIPU
  • LUCSAT BCA
  • KIITEE BCA

अगर BCA  प्राइवेट कॉलेज से करना है तो गवर्नमेंट कॉलेज से ज्यादा फीस लगता है. भारत में कई ऐसे प्राइवेट कॉलेज भी है जिनमें एंट्रेंस एग्जाम के आधार पर एडमिशन होता है और कई कॉलेज ऐसे भी हैं जिनमें सीधा 12वीं के नंबर के आधार पर ही एडमिशन हो जाता है

इसलिए गवर्नमेंट कॉलेज या प्राइवेट कॉलेज किसी कॉलेज में एडमिशन लेने से पहले उस कॉलेज के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त कर लेना चाहिए कि वहां पर एंट्रेंस एग्जाम देना पड़ता है या डायरेक्ट एडमिशन हो सकता है.

BCA में क्या सिखाया जाता है

यह प्रोफेशनल डिग्री कोर्स है. कंप्यूटर एप्लीकेशन से लेकर कंप्यूटर साइंस वेब डेवलपर प्रोग्रामिंग आदि कंप्यूटर के हर एक एप्लीकेशन के बारे में जानकारी दिया जाता है. ताकि अगर कोई छात्र BCA कोर्स कंप्लीट करता है उसके बाद वह कंप्यूटर की इतनी जानकारी प्राप्त कर ले कि खुद से वह अपना बिजनेस भी शुरू कर सकता है. 

किसी मल्टीनेशनल कंपनी में बड़े पद पर नौकरी भी कर सकता है कंप्यूटर के बारे में इतना नॉलेज हो जाएगा कि खुद से सॉफ्टवेयर डेवलप करके वेबसाइट डेवलप करके ज्‍यादा से ज्यादा पैसे कमा सकते हैं. इसके साथ ही इस कोर्स में और भी कई तरह के जानकारी दिया जाता है.बीबीए का फुल फॉर्म क्या होता हैं

  • कंप्यूटर प्रोग्रामिंग
  • कंप्यूटर लैंग्वेज
  • कंप्यूटर की बेसिक जानकारी
  • सॉफ्टवेयर डेवलप
  • कंप्यूटर नेटवर्क
  • वेबसाइट डिजाइन
  • सी प्लस प्लस
  • एप्लीकेशन डेवलपमेंट
  • वेब सिक्योरिटी
  • पीएचपी
  • कंप्यूटर एप्लीकेशन
  • कंप्यूटर साइंस
  • प्रोग्रामिंग
  • जावा

BCA कोर्स की समयअवधि

यह एक अंडरग्रैजुएट डिग्री है यह कोर्स 3 साल का कोर्स होता है जिसमें 6 सेमेस्टर होते हैं. हर साल 2 सेमेस्टर कंप्लीट किया जाता है. यह कोर्स दो तरीके से किया जाता है. एक रेगुलर मोड और दूसरा प्राइवेट मोड. रेगुलर मोड में हर रोज क्लास करना पड़ता है और प्राइवेट मोड में प्रतिदिन कॉलेज करना जरूरी नहीं होता है.एमसीए क्‍या हैं एमसीए के लिए योग्‍यता,सिलेबस,फायदे एवं 10 कॉलेज

BCA में प्रमुख सब्जेक्ट और कोर्स

बैचलर ऑफ एजुकेशन कोर्स में कई प्रमुख सब्जेक्ट होते हैं जिसको इस कोर्स में लिया जा सकता है और उसी सब्जेक्ट के बारे में इस कोर्स में पढ़ाया जाता है.

BCA कोर्स सब्जेक्ट

  • डाटा स्ट्रक्चर 
  • मैथमेटिक्स 
  • सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग 
  • ऑपरेटिंग सिस्टम डेवलपमेंट 
  • जावा 
  • सी सी प्लस प्लस 
  • डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम 
  • एचटीएमएल 
  • प्रोग्रामिंग 
  • सी लैंग्वेज 
  • नेटवर्किंग 
  • इंग्लिश स्पीकिंग कोर्स

BCA में कराए जाने वाले प्रमुख कोर्स

  • वर्ड प्रोसेसिंग 
  • कंप्यूटर ग्रैफिक्स 
  • एनिमेशन 
  • वीडियो प्रसंस्करण 
  • सिस्टम विश्लेषण 
  • इंटरनेट टेक्नोलॉजी 
  • कंप्यूटर फंडामेंटल्स 
  • हार्डवेयर नेटवर्किंग 
  • सी प्रोग्रामिंग 
  • एचटीएमएल 
  • फाइनेंसियल 
  • एकाउंटिंग 
  • पाइथन प्रोग्रामिंग 
  • सिस्टम एनालिसिस 
  • डिजाइन 
  • जवा प्रोग्रामिंग

BCA के लिए प्रमुख कॉलेज

इस कोर्स को कंप्लीट करने के बाद छात्र पूरी तरह से कंप्यूटर का एक्सपर्ट बन जाता है. वह छात्र कई अन्य क्षेत्रों में कंप्यूटर से रिलेटेड हर तरह के कार्य करके अपना कैरियर सक्सेसफुल बना सकता है.भारत में कई प्राइवेट और गवर्नमेंट टॉप कॉलेज हैं जिनमें बैचलर ऑफ एप्लीकेशन कोर्स की पढ़ाई की जाती है.

  • Christ university Bangalore
  • Kalinga University Raipur
  • SRM institute of science and technology Chennai
  • Loyola College Chennai 
  • Vellore institute of technology Vellore
  • Xavier’s institute of computer application Ahmedabad
  • DAV College Chandigarh 
  • National institute of management Mumbai 
  • Institute of management studies Noida 
  • Bharati Vidyapeeth Pune
  • Stella Maris College Chennai
  • Allahabad university 
  • Techno India University Kolkata 
  • Lucknow university 
  • Guru Gobind Singh Indraprastha university Delhi
  • Chhatrapati SahuJi Maharaj university Kanpur
  • Ambedkar institute of technology
  • Maharaja Sayaji Rao University of Baroda
  • ST Joseph college
  • Jamia Hamdard university

BCA के बाद जॉब क्षेत्र

BCA कोर्स करने के बाद प्राइवेट या गवर्नमेंट किसी भी क्षेत्र में कई बेहतर से बेहतर नौकरी के लिए अप्लाई कर सकते हैं. अगर किसी को बासीए करने के बाद सरकारी नौकरी में जाना पसंद है तो उन्हें कई ऐसे क्षेत्र हैं जहां अप्लाई कर सकते हैं.बैचलर डिग्री क्या होती हैं, प्रकार और फायदे

  • बीपीएससी
  • यूपीएससी
  • एसएससी
  • आईबीपीएस पियो
  • एफसीआई
  • सीएचएसएल
  • बैंक
  • टीचर

BCA करने के बाद जॉब अपॉर्चुनिटी

BCA कोर्स करके कई ऐसे पोस्ट है जहां नौकरी कर सकते हैं कि कंप्यूटर एप्लीकेशन कंप्यूटर साइंस आदि डाटा स्ट्रक्चर नेटवर्किंग प्रोग्रामिंग हर चीज इस कोर्स में सिखाया जाता है. आज के समय में हर क्षेत्र में लगभग कंप्यूटर से रिलेटेड ही कार्य होने लगे हैं हर कार्य ऑनलाइन किया जा रहा है. 

इसलिए वहां अगर कंप्यूटर का जानकार कंप्यूटर का विशेषज्ञ एंप्लॉय ज्यादा हायर किया जाता है, तो इस कोर्स को करने के बाद आपके पास कइ जॉब अपॉर्चुनिटी मिल जाएंगे.

  • वेब डेवलपर 
  • सॉफ्टवेयर डेवलपर 
  • प्रोग्रामर 
  • टेक्निकल असिस्टेंट 
  • सिस्टम एडमिनिस्ट्रेटर एसोसिएट 
  • सॉफ्टवेयर इंजीनियर 
  • गवर्नमेंट डिपार्टमेंट 
  • प्रोजेक्ट मैनेजर 
  • सिस्टम सिक्योरिटी ऑफिसर 
  • सॉफ्टवेयर आर्किटेक्ट

BCA के बाद क्या करें

कई छात्र ऐसे होते हैं जो कि BCA कोर्स कंप्लीट करने के बाद अन्य कई क्षेत्र में या किसी मल्टीनेशनल कंपनी में नौकरी करते हैं या गवर्नमेंट क्षेत्र में कई बेहतर से बेहतर नौकरी करके उसी में अपना कैरियर बनाते हैं. लेकिन कई ऐसे छात्र होते हैं जो कि बीसीए करने के बाद आगे अपना पढ़ाई जारी रखना चाहते हैं उनके लिए भी कई बेहतरीन कोर्स है

  • एमएससीआईटी
  • एमसीए
  • एमएससी कंप्यूटर साइंस
  • एमबीए 
  • आईएसएम
  • पीजी पीसीएस 
  • एम आई एम 
  • एमसीएम

BCA के बाद जॉब सैलेरी

बीसीए कोर्स करने के बाद जॉब सोल सैलरी आपके द्वारा किए गए नौकरी के आधार पर डिपेंड करता है. अगर किसी छोटी कंपनी में या नॉर्मल कोई नौकरी करते हैं तो भी 20,000 से 30,000 तक से शुरुआत हो सकता है. आगे चलकर आपका काम देखते हुए आपके अनुभव के आधार पर सैलरी बढ़ाया जा सकता है.

BCA Full Form in hindi 2

कंप्यूटर एप्लीकेशन कोर्स करने के बाद अगर कोई चाहे तो अपना खुद का बिजनेस करके लाखों करोड़ों कमा सकता है. किसी मल्टीनेशनल कंपनी में वेब डिजाइनिंग, सॉफ्टवेयर डिजाइनिंग करने के लिए अगर नौकरी करते हैं तो उसमें भी आपके काम के आधार पर ज्यादा से ज्यादा सैलरी प्राप्त हो सकता है.बीकॉम का फुल फॉर्म क्‍या होता हैं

BCA कोर्स सिलेबस

बीसीए में कंप्‍यूटर के ज्ञान के साथ साथ समाज में किस तरह से टेक्‍नोलॉजी को आगे बढ़ाया जा सकता हैं के बारे में भी सिखाया जाता हैं.समाज में जागरूकता, कौशल और व्‍यवसायिकता को बढाने के लिए सिखाया जाता है. इसमें 3 साल में 6 सेमेस्‍टर होता हैं.

BCA Course Syllabus

Semester I

Semester II

Digital Computer Fundamentals

Communicative English

Creative English

Visual Programming Lab

Introduction to programming using c

Case Tools Lab

Foundational Mathematics

Operating System

C Programming Lab

Data Structures Lab

Hardware Lab

Data Structures

Statics I For BCA 

Basic Discrete Mathematics

PC Software Lab

Semester III

Semester IV

Database Management Systems

Java Programming Lab

Software Engineering

Professional English

Interpersonal Communication

Computer Network

Financial Accountig

DBMS Project Lab

Introductory Algebra

Programming In Java

Object Oriented Programming Using C++

Language Lab

Domain Lab

Financial management

C++ Lab

Wave Technology Lab

Oracle Lab

Semester V

Semester VI

Unix Programming

Client Server Computing

OOAD Using UML

Design And Analysis Of Algorithms

Graphics And Animation

Computer Architecture

User Interface Design

Multimedia Application

Python Programming

Cloud Computing

Business Intelligence

Advanced Database Management System

Unix Lab

Introduction To Soft Computing

Python Programming Lab

Web Designing Project

Graphics And Animation Lab

Business Intelligence Lab

BCA करने के फायदे

आज के समय में जो भी बड़ी बड़ी कंपनी है वह अपनी कंपनी में ऐसे एंप्‍लॉइ को हायर करते हैं जिनके पास कंप्यूटर की बेसिक जानकारी हो. ताकि किसी भी तरह के कार्य को कंप्यूटर पर आसानी से करके उस कंपनी का ज्यादा प्रोग्रेस कराने में मदद करें.

इसीलिए वर्तमान समय में जब कोई स्टूडेंट 12वीं पास करते हैं तो उनके लिए सबसे पहला ऑप्शन बीसीए कंप्यूटर कोर्स यानी कि बैचलर ऑफ कंप्यूटर एप्लीकेशन ही होता है. इस कोर्स को करने के दौरान कंप्यूटर से जुड़े हर तरह के जानकारी प्राप्त करने का मौका मिलता है.BCA कोर्स करने के कई सारे फायदे मिल सकते हैं.

  • इस कोर्स को करने के बाद कंप्यूटर से रिलेटेड A to Z हर एक बेसिक जानकारी को प्राप्त कर लेते हैं.
  • BCA कोर्स करने के बाद आईटी सेक्टर के विभिन्न क्षेत्रों में नौकरी के लिए दरवाजे खुल जाते हैं.
  • सफलता की तरफ बढ़ने के लिए BCA कोर्स एक प्रवेश द्वार माना जाता है.
  • यह कोर्स किसी भी छात्र को कुशल प्रवर्तक और किसी भी आईटी सेक्टर में कार्य करने के लिए पूरी तरह से तैयार कर देता है.
  • अगर कोई छात्र आगे भी पढ़ाई जारी रखना चाहता है तो उनके लिए मास्टर कोर्स या पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स का विकल्प तैयार हो जाता है.
  • BCA करने के बाद सिर्फ कंप्यूटर की बेसिक जानकारी ही नहीं बल्कि इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी की पूरी तरह से जानकारी हो जाती है.
  • बैचलर ऑफ कंप्यूटर एप्लीकेशन डिग्री प्राप्त करने के बाद खुद का भी बिजनेस करके लाखों कमा सकते हैं.
  • खुद का वेबसाइट डेवलप करके ज्यादा से ज्यादा आमदनी कर सकते हैं.
  • भारत के साथ-साथ विदेश में में कई कंपनियों में शानदार कैरियर का मौका मिल सकता है.
  • किसी भी मल्टीनेशनल कंपनी में एक बेहतर सैलरी और पैकेज पर नौकरी कर सकते हैं.
  • BCA कोर्स को करने के बाद छात्र इतना जानकार हो जाता है कि अपने आप से सॉफ्टवेयर डेवलप करके या ऐप बनाकर पैसा कमा सकता है.
  • प्राइवेट सेक्टर के साथ-साथ गवर्नमेंट सेक्टर में भी बेहतरीन नौकरी मिल सकता है जैसे कि इंडियन एयर फोर्स, इंडियन नेवी, इंडियन आर्मी आदि.

आईटीआई का फूल फॉर्म क्‍या होता हैं

निष्कर्ष

BCA Full Form in hindi. BCA एक बैचलर डिग्री है एक प्रोफेशनल डिग्री है जिसमें कंप्यूटर एप्लीकेशन के ए टू जेड हर तरह के जानकारी को दिया जाता है इस लेख में BCA कोर्स के बारे में हर एक जानकारी विस्तार से उपर दिया गया है.अगर इस जानकारी से किसी भी तरह का कोई शिकायत हैं या सुझाव हैं तो कमें बॉक्‍स में लिखकर जरूर बताएं.

Leave a Comment