Bijli ka Avishkar – बिजली का अविष्कार किसने किया

Bijli ka Avishkar kisne kiya tha in hindi बिजली का अविष्कार कब हुआ बिजली क्या हैं बिजली से क्‍या फायदा हैं  bijli से नुकसान सारी जानकारी हम लोग इस लेख में प्राप्त करने वाले हैं।

bijli हम लोगों के लिए वर्तमान समय में बहुत ही जरूरी और अनिवार्य बन गया हैं । हमारा लगभग सारा काम बिजली के सहारे ही होता हैं ।अगर Bijli नहीं रहता हैं तो रोज के कामों में बहुत परेशानी उत्पन्न हो जाता हैं।

लेकिन बहुत कम ही लोगों को यह पता होगा की बिजली का अविष्कार किसने किया  कब और कैसे हुआ तो इस लेख में हम लोग विस्तार से आइए नीचे जानते हैं।

Bijli ka Avishkar kisne kiya tha in hindi

बिजली का अविष्कार कई हजार वर्ष पहले 600 वर्ष ईसा पूर्व में ही एक वैज्ञानिक ने किया था जिनका नाम थेल्स था। थेल्स यूनान के दार्शनिक महान भौतिक विज्ञानी थे उन्होंने ही सबसे पहले चीड़ के पेड़ जो कि सड कर रस या गोंद बन जाता हैं उसको रगड़ने से कपड़े पर या किसी भी सूखा पत्ता या कोई भी पक्षी का पंख अपनी ओर आकर्षित करता हैं

उसको थेल्स ने इलेक्ट्रिसिटी नाम से खोज किया और उन्होंने लोगों के सामने यह रखा कि इसमें से भी Bijli उत्पन्न किया जा सकता हैं उसके बाद कई वैज्ञानिकों ने बिजली के खोज में लगे हुए थे।

Bijli ka Avishkar kisne kiya tha in hindi

फिर संयुक्त राज्य अमेरिका के एक वैज्ञानिक बेंजामिन फ्रैंकलिन ने एक परीक्षण करके बिजली उत्पन्न करने की खोज की उन्होंने लोगों को बताया कि आकाश में जो Bijli चमकता हैं उसी का दूसरा रूप बिजली हैं।

उसके बाद फ्रांस के एक वैज्ञानिक जार्ज लेक्लांशे ने एक गिला बैटरी बनाकर उसमें से बिजली उत्पन्न किया उन्होंने अमोनियम क्लोराइड का घोल बनाकर उसमें जस्ता और कार्बन का छड़ बनाया और अमोनियम क्लोराइड के घोल में उसको डुबाकर बिजली उत्पन्न करके लोगों को दिखाया।

Bijli ka avishkar kab hua

बिजली का अविष्कार या यूं कहें कि बिजली का खोज बहुत पहले से ही वैज्ञानिकों ने शुरू कर दिया था कई हजार वर्ष पहले 600 ईसा पूर्व में वैज्ञानिक थेल्स ने बिजली का खोज किया

उसके बाद कई वैज्ञानिकों ने भी Bijli की खोज में अपना योगदान दिया।1752 ईसवी में अमेरिका के महान वैज्ञानिक बेंजामिन फ्रैंकलिन ने एक परीक्षण कर के बिजली का झटका महसूस किया

उन्होंने पतंग के जरिए लोगों को यह बताया कि आकाश में जो बिजली हैं उसी का दूसरा रूप भी बिजली इलेक्ट्रिसिटी होती हैं।1865 में फ्रांस के एक वैज्ञानिक ने गिला बैटरी बनाकर उसमें से बिजली उत्पन्न करके लोगों के सामने प्रदर्शित किया।

1898 में अमेरिका में पानी से Bijli उत्पन्न किया जाने लगा उसके बाद कई तरह से बिजली उत्पन्न करने के लिए वैज्ञानिकों ने खोज किया जैसे कि हवा से उर्जा कैसे उत्पन्न किया जाए सौर से ऊर्जा कैसे उत्पन्न किया जाए परमाणु के द्वारा बिजली पैदा किया जाने लगा।

बिजली का अविष्कार कैसे हुआ

Bijli का अविष्कार सबसे पहले 600 ईसा पूर्व में यूनान के महान दार्शनिक और भौतिक विज्ञानी ने अंबर के पेड़ से बिजली उत्पन्न करने का एक जरिया लोगों के सामने रखा।

इसके बाद संयुक्त राज्य अमेरिका के एक वैज्ञानिक बेंजामिन फ्रैंकलीन ने बहुत ही खतरनाक परीक्षण किया जिसमें उन्होंने आकाश में पतंग उड़ाया पतंग के डोर पर एक चाबी बांध दिया जब वह पतंग उड़ा रहे थे

Bijli हो रहा था और आकाश में बहुत ही बिजली चमक रहा था जब उन्होंने पतंग उड़ाया बिजली कड़का तब नीचे जब उन्होंने चाबी को छुआ तो उसमें से झटका महसूस हुआ

ऐसे करके उन्होंने Bijli का खोज किया। फिर फ्रांस के एक वैज्ञानिक ने गिला बैटरी बनाकर उसमें से बिजली पैदा किया और लोगों को यह दिखाया कि बिजली कैसे उत्पन्न किया जाता हैं।

बिजली क्या हैं

Bijli एक ऐसा पावर हैं जोकि किसी भी चीज में बिना कुछ डाले ही उत्पन्न होती हैं बिजली पानी से भी उत्पन्न किया जाता हैं हवा से बिजली उत्पन्न किया जाता हैं।बिजली को जस्‍ता के तार के जरीये सप्‍लाई किया जाता हैं।

तभी हमलोग Bijli का प्रयोग कर पाते हैं। बिजली के प्रयोग से हम लोग बहुत सारे इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों हो चार्ज करके और उसे भी बिजली के सहारे चलाकर अपना काम करते हैं।

बिजली से फायदा 

वर्तमान समय में हम लोगों को बिजली से अनेकों फायदा हैं क्योंकि वर्तमान समय में जब सारे काम  डिजिटली हो रहा हैं बिना मोबाइल के कोई काम नहीं हो सकता हैं सारा काम मोबाइल लैपटॉप कंप्यूटर से ही होता हैं

इसलिए जब अगर बिजली नहीं रहेगा तो मोबाइल लैपटॉप कंप्यूटर सारी चीज चार्ज नहीं होगा और यह काम नहीं करेगा इसलिए बिजली  बहुत ही जरूरी हैं

गर्मी के दिनों में हम लोग पंखा कूलर एसी यह सारी चीजें गर्मी से परेशानी दूर करने के लिए चलाते हैं यह सारी बिना बिजली के नहीं चल पाएगी बिजली से बहुत सारे फायदे हैं।

बिजली से नुकसान

Bijli से बहुत सारे फायदे तो हैं ही लेकिन बिजली से नुकसान भी हैं क्योंकि अगर किसी को गलती से भी बिजली का झटका लग जाता हैं तो आदमी के जान का खतरा हो जाता हैं

कहीं कहीं सुना जाता हैं कि बिजली के तार आपस में टकराने के आग भी लग जाता हैं और उस आग से कितने लोगों के संपत्ति जलकर राख हो जाता हैं इसलिए बिजली से बचाव भी जरूरी हैं।

सारांश

बिजली का अविष्कार वर्तमान समय में हम लोगों के लिए बिजली कितनी उपयोगी हैं हमारा कितना काम भी बंद हो जाएगा हमारे जितने भी इलेक्ट्रॉनिक उपकरण हैं वह सारे बंद हो जाएगा

तो हमारा रोज के कार्य में भी बाधा आ जाएगा इस लेख में हमने बिजली का अविष्कार के बारे में विस्तार से जानकारी दिया हैं इससे जुड़े कोई सवाल आपके मन में हैं तो हमें कमेंट करके जरूर बताएं।

इस लेख में हमने बिजली का अविष्कार किसने किया बिजली का अविष्कार के बारे में पूरी जानकारी देने की कोशिश की हैं आप लोगों को बिजली का अविष्कार जानकारी कैसी लगी हमें कमेंट करके जरूर बताएं और शेयर भी जरूर करें।

Leave a Comment