Biology kya hai – बायोलॉजी क्या हैं

बायोलॉजी क्या हैं Biology kya hai यह किन किन शब्दों से मिलकर बना हैं. what is biology in hindi बायलॉजी शब्द का प्रयोग यानी कि शुरुआत सबसे पहले किस वैज्ञानिक ने किया था. जीव विज्ञान को कितने भागों में बांटा गया हैं. वैज्ञानिकों के द्वारा उसका अध्ययन कैसे किया गया हैं. जीव विज्ञान की कितनी शाखाएं हैं.

बायलॉजी से जुड़े सभी जानकारी इस लेख में मिलेगा. विज्ञान की पढ़ाई  स्कूल में पढ़ना शुरू करते हैं तभी से होने लगता हैं.ट्वेल्थ पास करने के बाद जिसको जिस सब्जेक्ट में रूचि होता हैं वह उसी से आगे पढ़ाई करते हैं.

कई छात्रों को डॉक्टर बनना होता हैं तो वह Biology से अपना पढ़ाई पूरी करते हैं विज्ञान में रसायन शास्त्र भौतिक शास्त्र और जीव विज्ञान तीनों आता हैं. इन्हीं में से हैं जीव विज्ञान यानी कि बायोलॉजी. Biology क्या हैं और इससे जुड़े और भी जानकारी आइए नीचे जानते हैं.

Biology kya hai

बायोलॉजी शब्द ग्रीक भाषा का शब्द हैं. जिसका हिंदी जीव विज्ञान होता हैं.  जितने भी धरती पर सजीव प्राणी हैं जिनमें जीवन हैं उनके बारे में उनकी प्रक्रियाओं के बारे में जीव विज्ञान में पढ़ने को मिलता हैं.

इसमें पृथ्वी के सारे प्राणियों की संरचना वर्गीकरण, इनका पहचान, विकास, उद्भव और उनके विवरण के बारे में बताया गया हैं. जीव विज्ञान में सभी सचिवों के पहलुओं का गहन एवं सूक्ष्म वर्णन मिलता हैं.

biology kya hai

बायोलॉजी किन किन शब्दों से मिलकर बना हैं 

Biology शब्द ग्रीक भाषा का शब्द हैं जोकि Boi और Logos दो शब्दों से मिलकर बना हैं. जीव विज्ञान का परिभाषा बायो का अर्थ जीव यानी कि जीवन होता हैं. लोगोस का अर्थ अध्ययन होता हैं.

इस तरह दोनों शब्द मिलकर जीव या जीवन का अध्ययन होता हैं. Biology क्या हैं इसका मतलब यही हुआ कि इसमें सारे जीवो के बारे में अध्ययन किया जाता हैं.

What is biology in hindi बायोलॉजी का अर्थ 

विज्ञान को 3 शाखाओं में बांटा गया है तो प्राकृतिक विज्ञान की तीन शाखाओं में एक शाखा Biology यानी कि जीव विज्ञान है जीव विज्ञान में पृथ्वी पर जितने भी जीव है जीवन है उनके जीवन के बारे में उनके जीवन के प्रक्रिया के बारे में जानकारी मिलता है अध्ययन किया जाता है.

पृथ्वी पर जितने भी जीव है उन जीवो की पहचान का संरचना उनके कार्य वितरण का उद्भव विकास आदि का अध्ययन और पूरी तरह से जानकारी प्राप्त किया जाता है जब भी कोई भी छात्र साइंस की पढ़ाई करता है तो ट्वेल्थ में बायोलॉजी सब्जेक्ट एक बहुत ही फेमस और लोकप्रिय सब्जेक्ट है.

बायोलॉजी का पढ़ाई 10th के बाद इलेवेंथ ट्वेल्थ में साइंस सब्जेक्ट में शुरू हो जाता है साइंस से जो पढ़ाई करते हैं उन्हें बायोलॉजी फिजिक्स केमेस्ट्री के साथ-साथ मैथ इंग्लिश आदि के पढ़ाई भी कर सकते है.

Biology से पढ़ाई करने पर आगे चलकर किसी भी स्टूडेंट को एक अच्छा कैरियर ऑप्शन चुज करने का मौका मिलता है जीव विज्ञान के जनक के रूप में अरस्तु को जाना जाता है.

अरस्तु ने भौतिक, राजनीतिक शास्त्र, जीव विज्ञान, संगीत, नाटक, कविता, तर्कशास्त्र आदि विषयों पर बहुत ही गहन अध्ययन किया था और उस पर रचना भी किया था अरस्तु एक दर्शनशास्त्र के बहुत ही बड़े दार्शनिक के रूप में जाने जाते हैं.

बायोलॉजी शब्द का प्रयोग सबसे पहले किसने किया

Biology शब्द का प्रयोग सबसे पहले 1801  में फ्रांस के एक वैज्ञानिक लैमार्क ने किया था. फिर उनके बाद जर्मन के एक वैज्ञानिक ट्रेविरैनस ने बायोलॉजी का नाम जीव विज्ञान रखा.

पृथ्वी पर लगभग 17 से 18 लाख जीवों का खोज हुआ हैं. इसलिए जिवों में कुछ मौलिक प्रक्रिया के बारे में भी वर्णन किया जाता हैं. जिससे कि सजीव का पहचान किया जाता हैं.

  • पोषण :- पृथ्वी पर जितने भी जीव हैं उनमें पोषण बहुत ही जरूरी हैं. पोषण यानी कि उनके जीने के लिए खाना-पीना किस चीज से मिलता हैं.जिससे कि उन्हें ऊर्जा प्राप्त हो सकता हैं.
  • स्वसन :- स्वसन यानी कि जितने भी जीव यानी जीवन हैं पृथ्वी पर वह सांस लेते हैं और छोड़ते हैं. इसी से पता चलता हैं कि वह सजीव हैं या निर्जीव हैं. क्योंकि निर्जीव में यह प्रक्रिया नहीं होती हैं.
  • प्रजनन :- प्रजनन जीवन का सबसे महत्वपूर्ण प्रक्रिया हैं . प्रजनन कोई भी जीव अपनी तरह ही संतान उत्पत्ति करता हैं और अपने जैविक अस्तित्व को बनाए रखता हैं.
  • संवेदनशीलता :- इसमें जीवों में बाहरी अन्य क्रियाओं के प्रति संवेदनशील होना पाया जाता हैं. जैसे कि कोई दूसरा जीव किस तरह से उनके साथ व्यवहार करता हैं. किस तरह से बात करता हैं. इसके बारे में उन्हें समझ आता हैं.

बायोलॉजी की कितनी शाखाएं हैं 

पृथ्वी पर कई तरह के सजीव प्राणी या जीव रहते हैं. उनमें से कुछ पेड़ पौधे हैं कुछ जंतु हैं. इन्हीं दोनों के बारे में जीव विज्ञान में अध्ययन करने को मिलता हैं.Biology को दो शाखाओं में बांटा गया हैं जैसे कि जंतु विज्ञान और वनस्पति विज्ञान.

जंतु विज्ञान

जंतु विज्ञान ग्रीक भाषा का जूलॉजी शब्द का हिंदी हैं. Zoo का मतलब जंतु तथा Logos का मतलब विज्ञान होता हैं. इस तरह दोनों मिलकर जंतु विज्ञान बन जाता हैं. जंतु विज्ञान के जन्मदाता के रूप में अरस्तु को जाना जाता हैं. क्योंकि इन्होंने ही जंतु इतिहास नाम का सबसे पहले एक किताब लिखा था .

अरस्तु जो कि एक बहुत प्रख्यात दार्शनिक थे. उन्होंने अपने किताब जंतु इतिहास में जंतुओं के स्वभाव रचना और जनन आदि के बारे में पूरी तरह से वर्णन किया था. इन्हें father of zoology यानी कि जंतु विज्ञान का पिता कहा जाता हैं.

वनस्पति विज्ञान

वनस्पति विज्ञान को Botany कहा जाता हैं. Botany एक ग्रीक भाषा का शब्द हैं. जिसको हिंदी में वनस्पति विज्ञान कहा जाता हैं. इसमें पादपों की संरचना के बारे में उनके भिन्न भिन्न प्रकार के जैविक क्रियाओं के बारे में अध्ययन कराया जाता हैं.

इसमें पृथ्वी पर जितने भी पेड़ पौधे हैं. उनके बारे में पूरी तरह से वर्णन किया जाता हैं. वनस्पति विज्ञान के जनक थियोफ्रेस्टक को माना जाता हैं.

जीव विज्ञान में जीव धारियों को कितने भागों में बांटा गया हैं 

पृथ्वी पर जितने भी जीव जंतु वनस्पति हैं या कहें कि जितने भी जीव इस पर रहते हैं. उनको  पांच खंडों में बांटा गया हैं. Biology का मतलब हैं होता हैं कि पृथ्वी पर जितने जीवित प्राणी जिसमें की छोटे से बैक्टीरिया से लेकर बड़े-बड़े ह्वेल और सभी वनस्पतियों के बारे में अध्ययन किया जाता हैं. इसी को देखते हुए इसे 5 भागों में वर्गीकृत किया गया हैं. 

  • पादप :- पादप उन्हें कहा जाता हैं जिसमें पेड़ पौधे कई तरह के फूल  पुष्पीय और बीजीय पौधे होते हैं. इनके बारे में भी जीव विज्ञान में पढ़ाया जाता हैं.
  • मोनेरा :- इसमें दुनिया में जितने भी जीवाणु साइनो बैक्टीरिया आर्की बैक्टीरिया हैं वह आते हैं. तंतुमय जीवन भी इन्‍हीं में आते हैं.
  • इनके बारे में बायोलॉजी में पूरी तरह से अध्ययन कराया जाता हैं.
  • प्रोटीस्टा :- इसमें संसार में जितने भी कोशिकाएं जलीय यानि कि जल में पाए जाने वाले यूकैरियोटिक जीव होते हैं. उनके बारे में अध्ययन कराया जाता हैं इसमें प्रोटोजोआ भी आते हैं.
  • कवक :- कवक उन्हें कहते हैं जोकि परपोषित जीवधारी होते हैं वह अवशोषण के द्वारा पोषण लेते हैं. इनकी कोशिका भीती काइटिन से बना होता हैं.
  • जंतु :- इसमें संसार में जितने भी बहुकोशिकीय जंतु होते हैं उनके बारे में बताया जाता हैं.  इसमें सितारा हाइड्रा सरीसृप स्तनधारी जीव पक्षी जेलीफिश मछली उभयचर और क्रीमी के बारे में पूरी जानकारी  मिलती हैं.

जीव विज्ञान के क्षेत्र में करियर बना सकते हैं

कई छात्र Biology की पढ़ाई करके इसमें अपना कैरियर बनाना चाहते हैं. उनके लिए यह एक बहुत ही अच्छा सब्जेक्ट होता हैं. कोई अगर डॉक्टर बनना चाहता हैं. उसके लिए Biology सब्जेक्ट बहुत ही अच्छा हैं और अगर वह डॉक्टर नहीं बन पाते हैं

तो भी Biology से कई कोर्स होते हैं. वह करके अपना कैरियर अच्छा बना सकते हैं. इस फील्ड में उन्हें कई तरह का नौकरी मिल सकता हैं. इसमें कई तरह के ब्रांच हैं जिसमें की कोई भी छात्र अपना फ्यूचर अच्छे से सेटल कर सकता हैं जैसे कि

  • जैव सूचना विज्ञान के वैज्ञानिक
  • संरक्षण वैज्ञानिक और बनवासी
  • बायो केमिस्ट्री और बायोफिजिसिस्ट
  • भू वैज्ञानिक
  • सूक्ष्म जीव वैज्ञानिक
  • पर्यावरण विशेषज्ञ और वैज्ञानिक
  • बायोमेडिकल इंजीनियर
  • जैविक तकनीशियन
  • पशु चिकित्सक
  • जैविक विज्ञान शिक्षक
  • फोरेंसिक विज्ञान तकनीशियन
  • अनुवांशिक परामर्शदाता
  • रसायनिक तकनीशियन
  • चिकित्सा प्रयोगशाला प्रौद्योगिकीविद

इस तरह से कई ऐसे क्षेत्र हैं जो कि Biology से कोर्स करने के बाद उनसे संबंधित जॉब मिल सकते हैं. जिसको जिस क्षेत्र से संबंधित चुनाव करना हैं. वह उसमें अपनी इच्छा अनुसार चुन सकते हैं. इसलिए जो भी Biology से अपना कैरियर बनाना चाहता हैं उसके लिए यह बहुत ही अच्छा हैं.

इसे भी पढ़ें

सारांश

Biology का परिभाषा जीव का विज्ञान होता हैं. इसमें दुनिया में जितने भी जीव जंतु वनस्पति हैं. उनके बारे में अध्ययन किया जाता हैं. यह Biology शब्द का हिंदी रूपांतरण हैं.

इस लेख में जीव विज्ञान यानी  बायोलॉजी क्या हैं के बारे में पूरी जानकारी दी गए हैं. आप लोगों को Biology क्या हैं से संबंधित कोई सवाल हैं तो कमेंट करके जरूर पुछें और इस जानकारी को अपने दोस्‍तो और मित्रों को शेयर भी करें.

Leave a Comment