बीएससी नर्सिंग क्‍या हैं, योग्‍यता व फायदे – BSC Nursing in hindi

Bsc Nursing kya hai जिस तरह जनसंख्या बढ़ रहा है कई तरह के बीमारी बढ़ रहे हैं वैसे ही कई नए नए हॉस्पिटल बनाया जा रहा है उसमें डॉक्टर की सहायता करने के लिए नर्स की भी भर्ती की जाती है

तो एक नर्स के रूप में करियर बनाने के लिए कौन सा कोर्स किया जाए इसके बारे में अक्सर लोग इंटरनेट पर सर्च करते रहते हैं तो नर्स बनने के लिए या मेडिकल लाइन में किसी भी नर्सिंग होम ट्रामा सेंटर या हॉस्पिटल में नर्सिंग के क्षेत्र में अपना कैरियर बनाने के लिए Bsc Nursing कोर्स बहुत ही बेहतर कोर्स होता है. 

इस कोर्स को करने के बाद मेडिकल लाइन में कई जॉब के ऑप्शन मिल जाते हैं. इस फील्ड में कैरियर का ग्रोथ भी जल्दी होने का चांस होता है. किसी भी सरकारी हॉस्पिटल या प्राइवेट हॉस्पिटल में नर्स के रूप में कार्य करके लोगों की सेवाएं कर सकते हैं साथ ही अच्छी खासी सैलरी भी मिल सकती हैं. 

इसके अलावा और भी कई क्षेत्रों में में कार्य कर सकते हैं तो आइए इस लेख में नीचे Bsc Nursing कोर्स को करने के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए कौन से इंट्रेंस एग्जाम देना पड़ता है एक नर्स का क्या कार्य होता है इसके क्या फायदे हैं के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करते हैं.बी फार्मा क्या है बी फार्मा के लिए योग्‍यता व फायदे

Bsc Nursing kya hai

नर्सिंग को हिंदी में परिचर्या कहते हैं.Bsc Nursing एक अंडर ग्रेजुएट कोर्स है जिसको करने के बाद एक नर्स के रूप में मेडिकल फील्ड में अपना कैरियर आसानी से बना सकते हैं.

कई लोग ऐसे हैं जिन्हें मेडिकल फील्ड में कार्य करने का सपना होता है लेकिन किसी भी कारण से मेडिकल कोर्स जैसे कि एमबीबीएस या अन्‍य कोर्स नहीं कर पाते हैं तो उनके लिए Bsc Nursing का कोर्स एक बेहतर कोर्स है.

यह एक मेडिकल लाइन का बेहतरीन कोर्स है जिसको करने के बाद किसी भी प्राइवेट हॉस्पिटल, सरकारी हॉस्पिटल, रेलवे हॉस्पिटल, आर्मी हॉस्पिटल आदि विभागों में नौकरी प्राप्त कर सकते हैं.

Bsc nursing kya hai

ट्वेल्थ पास करने के बाद Bsc Nursing कोर्स किया जाता है इस कोर्स को करने के लिए इंटर में बायोलॉजी केमिस्ट्री इंग्लिश आदि सब्जेक्ट होना जरूरी है तभी इस कोर्स को किया जा सकता है. 

इस कोर्स को करने वाले छात्र या छात्रा को नर्स के रूप में कार्य करने के लिए पूरी तरह से तैयार किया जाता हैं. एक डॉक्टर के साथ उनका सहयोग करने के लिए ट्रेनिंग दी जाती हैं मरीज की सेवा करना मरीज को समय से दवाई देना आदि सिखायी जाती है.मेडिकल स्टोर कैसे खोले 4 कोर्स 

Bsc Nursing का फुल फॉर्म

बीएससी नर्सिंग का फुल फॉर्म बैचलर ऑफ साइंस इन नर्सिंग होता है. यह मेडिकल फील्ड में नर्सिंग का एक बैचलर डिग्री कोर्स है.

Bsc Nursing के लिए योग्यता

अगर कोई छात्र या छात्रा नर्सिंग फील्ड में जाने के लिए नर्स (परिचर्या) के रूप में कार्य करना चाहते हैं अपना सपना पूरा करना चाहते हैं तो Bsc Nursing कोर्स करने के लिए कुछ जरूरी योग्यता होनी चाहिए. उनमें एक जरूरी क्वालिफिकेशन होना चाहिए क्योंकि किसी भी कोर्स को करने के लिए कॉलेज कुछ एलिजिबिलिटी स्टूडेंट में जरूर मांगता है.

  • इस कोर्स को करने के लिए सबसे जरूरी है कि किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से ट्वेल्थ पास होना जरूरी है.
  • 12वीं क्लास में बायोलॉजी, फिजिक्स, केमिस्ट्री और इंग्लिश सब्जेक्ट होना जरूरी है.
  • स्टूडेंट को इंटर कम से कम 50 से 55 परसेंट मार्क से पास होनी चाहिए तभी Bsc Nursing कोर्स में एडमिशन मिल सकता है.
  • स्टूडेंट का उम्र कम से कम 17 वर्ष होना आवश्यक है.
  • वैसे हर कॉलेज में कुछ अलग-अलग भी योग्यता मांगी जाती है लेकिन लगभग सभी कॉलेजों में यह योग्यता होनी जरूरी है.पॉजिटिव एटीट्यूड सोच जीवन को बनाए अनमोल

Bsc Nursing कोर्स की अवधि

यह एक मेडिकल लाइन का अंडरग्रैजुएट कोर्स है जिसको 12वीं पास करने के बाद किया जाता है. इस कोर्स को करने के बाद एक स्टूडेंट मेडिकल लाइन में एक नर्स के रूप में किसी भी प्राइवेट या गवर्नमेंट हॉस्पिटल में कार्य करने के योग्य बन जाते हैं. Bsc Nursing कोर्स 4 साल का कोर्स होता है. 

इस कोर्स में 8 सेमेस्टर होता है इस कोर्स को लड़का या लड़की कोई भी कर सकते हैं. जब 8 सेमेस्टर पूरा हो जाता है उसके बाद Bsc Nursing का सर्टिफिकेट मिल जाता है और मेडिकल क्षेत्र में कार्य करने के लिए एक नर्स के रूप में पूरी तरह से तैयार हो जाते हैं. बी फार्मा क्या है 

Bsc Nursing कोर्स कैसे करें

1. पहला तरीका

भारत में कई पॉपुलर प्राइवेट और सरकारी मेडिकल कॉलेज है जहां से यह कोर्स कर सकते हैं अगर कि कोई छात्र सरकारी मेडिकल कॉलेज से इस कोर्स को करना चाहते हैं तो इसके लिए उन्हें एंट्रेंस एग्जाम देना पड़ता है.

एंट्रेंस एग्जाम में अगर अच्छे मार्क्स आते हैं मेरिट लिस्ट बनता है तभी उनका एडमिशन हो सकता है. लेकिन अगर एक सरकारी मेडिकल कॉलेज में एंट्रेंस एग्जाम पास करके एडमिशन ले लेते हैं तो वहां पर बहुत ही कम खर्चों में इस कोर्स को कर सकते हैं.

सरकारी मेडिकल कॉलेज में एडमिशन लेने के लिए एंट्रेंस एग्जाम पास करने के लिए 10th से ही कड़ी मेहनत करनी पड़ती है. बायोलॉजी, केमिस्ट्री, फिजिक्स, इंग्लिश आदि सब्जेक्ट का तैयारी अच्छे से करना पड़ता है तभी एंट्रेंस एग्जाम निकाल सकते हैं.

2. दूसरा तरीका

Bsc Nursing कोर्स करने के लिए दूसरा ऑप्शन प्राइवेट मेडिकल कॉलेज है. प्राइवेट मेडिकल कॉलेज में ट्वेल्थ फिजिक्स केमिस्ट्री बायोलॉजी से लगभग 50 से 55 परसेंट मार्क्‍स से पास होने के बाद डायरेक्ट एडमिशन ले सकते हैं. लेकिन कई प्राइवेट कॉलेज ऐसे भी हैं जहां एंट्रेंस एग्जाम पास करने के बाद ही एडमिशन लिया जाता है. 

वैसे सबसे बेहतर होगा कि अगर इस कोर्स को करने के लिए एडमिशन लेना चाहते हैं तो पहले कॉलेज में जाकर अच्छे से पता कर ले कि एंट्रेंस एग्जाम के द्वारा एडमिशन होता है या डायरेक्ट एडमिशन हो सकता है. होम्योपैथिक डॉक्टर कैसे बनें

Bsc Nursing कोर्स के लिए एंट्रेंस एग्जाम

अगर किसी स्टूडेंट को कम खर्चे में Bsc Nursing का कोर्स करना है और वह किसी सरकारी मेडिकल कॉलेज में एडमिशन लेना चाहते हैं तो उनके लिए एंट्रेंस एग्जाम पहले पास करना पड़ता है. अगर उसमें नंबर अच्छा आता है मेरिट लिस्ट बनता है तो कॉलेज में एडमिशन ले सकते हैं इसके लिए कई एंट्रेंस एग्जाम है जैसे कि

  • एसएएटी एंट्रेंस एग्जाम
  • सीईएनटीएसई
  • पीजीआईएमईआर Bsc Nursing एंट्रेंस एग्जाम
  • पंजाब पारा मेडिकल एंट्रेंस टेस्ट
  • एच एन बी जी यू Bsc Nursing एंट्रेंस एग्जाम
  • एआईआईएमएस Bsc Nursing एंट्रेंस एग्जाम
  • आईटीएम एनईएसटी

Bsc Nursing कोर्स के लिए कॉलेज

भारत में कई टॉप मेडिकल कॉलेज है जहां से Bsc Nursing का कोर्स कराया जाता है.

  • Pgimer Chhattisgarh
  • Christian medical college Vellore
  • Banaras Hindu university Varanasi
  • Sgpgims Lucknow
  • Shri Ramchandra institute of higher education and research Chennai
  • St John’s medical college Bangalore
  • Aligarh Muslim university 
  • Dr. DY Patil Vidyapeeth Pune
  • Army college of nursing Jalandhar
  • Government medical college and hospital Chandigarh
  •  Kolkata medical college 
  • Banasthali vidyapeeth Jaipur 
  • Institute of medical science Varanasi

Bsc Nursing कोर्स फीस

वैसे तो भारत में जितने भी मेडिकल कॉलेज है उनमें Bsc Nursing कोर्स करने के लिए अलग-अलग फीस है. यह हर कॉलेज पर डिपेंड करता है कि उस कॉलेज में किस तरह का पढ़ाई होता है कितना पॉपुलर कॉलेज है उसी के अनुसार उसमें फीस भी लगता है. 

अगर किसी प्राइवेट मेडिकल कॉलेज से इस कोर्स को करते हैं तो लगभग 30 या 40000 से लेकर डेढ़ लाख या ढाई लाख तक फीस हो सकता है.

वहीं अगर किसी सरकारी मेडिकल कॉलेज से यह कोर्स करते हैं तो उसमें बहुत ही कम खर्चा लगता है. लेकिन उसके लिए एंट्रेंस एग्जाम पास करना पड़ता है. सरकारी मेडिकल कॉलेज में लगभग 10 या 15 हजार से लेकर 25 या 30 हजार तक फीस लग सकता है. 

किसी भी प्राइवेट या सरकारी कॉलेज में यह फीस 1 साल में लगता है. वैसे उस कॉलेज में जाकर ही पता लग सकता है कि एक्चुअली फीस कितना है यह एक अनुमानित फीस बताया गया है. होम्योपैथिक डॉक्टर कैसे बनें

Bsc Nursing कोर्स में जरूरी विषय

इस कोर्स को करने वाले छात्र के लिए कुछ जरूरी सब्जेक्ट है जिसको पढ़ना पड़ता है इस कोर्स को करने से पहले इस सब्जेक्ट का तैयारी करना पड़ता है जैसे 

  • फिजियोलॉजी 
  • बायोकेमिस्ट्री 
  • फार्मोकोलॉजी 
  • साइकोलॉजी 
  • एनाटॉमी 
  • न्यूट्रीशन 
  • मेंटल हेल्थ 
  • नर्सिंग रिसर्च 
  • प्रोजेक्ट मेडिकल 
  • सर्जिकल नर्सिंग 
  • चाइल्ड हेल्थ नर्सिंग 
  • थ्योरी एंड प्रैक्टिकल 
  • पैथोलॉजी और जेनेटिक्स

नर्स का मुख्य कार्य

किसी भी हॉस्पिटल में डॉक्टर के बाद सबसे महत्वपूर्ण भूमिका एक नर्स की होती है. नर्स का पद भी बहुत ही सम्मानीय पद होता है क्योंकि डॉक्टर के इलाज के बाद किसी भी पेशेंट का ठीक होने में एक नर्स का ही हाथ होता है. कई हेल्थ सेक्टर का विकास हो रहा है. 

जगह-जगह प्राइवेट और सरकारी हॉस्पिटल बन गए हैं उनमें एक नर्स की भी उतनी ही ज्यादा जरूरत होती है. किसी भी मरीज को जल्द से जल्द ठीक होने में एक बेहतर इलाज करने में एक नर्स की प्रमुख भूमिका होती है तो नर्स के कौन-कौन से जरूरी कार्य होते हैं के बारे में भी जानते हैं. सोच जीवन को बनाए अनमोल

  • हर एक पेशेंट को सही समय से दवाई देना.
  • हॉस्पिटल में हर एक मरीज का सही से देखभाल करना.
  • उनके खाने-पीने सोने के लिए ध्यान रखना.
  • मरीज का इलाज करते समय डॉक्टर के कार्यों में भरपूर सहायता करना.
  • मरीज को जो भी रोग है और रोग के लक्षण के बारे में जानकारी रखना.
  • हॉस्पिटल से अगर मरीज डिस्चार्ज हो रहा है तो घर पर उसे किस तरह का उपचार और देखभाल करना है इसके बारे में जानकारी परिजन को देना.
  • चिकित्सा से जुड़े जो भी उपकरण है जो भी सामान है उनका अच्छे से देखभाल करना उनका साफ सफाई करना.
  • किसी भी गर्भवती महिला का अच्छे से ख्याल रखना
  • पेशेंट और उनके परिवार के बीच जागरूकता पैदा करना
  • हर एक पेशेंट का सही देखभाल करने के लिए सही योजना बनाना. 
  • पेशेंट के स्थिति का जानकारी रखना.
  • पेशेंट के आसपास और पेशेंट की अच्‍छे से साफ-सफाई करना

Bsc Nursing कोर्स के फायदे

वर्तमान समय में कई नए-नए हॉस्पिटल में नर्स की वैकेंसी निकल रही है तो अगर कोई Bsc Nursing का कोर्स किया है तो वह कर सकता है. Bsc Nursing कोर्स करने के बाद कई फायदे हो सकते हैं.

  • किसी भी सरकारी हॉस्पिटल में नर्स की नौकरी प्राप्त कर सकते हैं.
  • प्राइवेट हॉस्पिटल में कार्य कर सकते हैं.
  • इस कोर्स को करने के बाद अगर आगे भी पढ़ाई जारी रखना चाहते हैं तो एमएससी नर्सिंग के साथ साथ और भी कई मास्टर कोर्स और पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स भी आसानी से कर सकते हैं.
  • मेडिकल लाइन में आगे बढ़ने का मौका ज्यादा मिलता है.
  • किसी मेडिकल कॉलेज में शिक्षक के रूप में भी कार्य कर सकते हैं
  • रिसर्च इंस्टिट्यूट में जॉब मिल सकता है.
  • हॉस्पिटल में मैनेजर के रूप में कार्य कर सकते हैं
  • अगर चाहे तो मिलिट्री रेलवे आर्मी आदि क्षेत्र में भी नर्स की नौकरी कर सकते हैं.डेंगू बुखार, के लक्षण व उपचार

Bsc Nursing कोर्स के बाद जॉब ऑप्शन

इस कोर्स को करने के बाद जॉब के कई ऑप्शन मिल जाते हैं जैसे कि

  • टीचर ऑफ नर्सिंग
  • उप नर्सिंग अधीक्षक
  • सुपरिटेंडेंट
  • इंडस्ट्रियल नर्स 
  • स्टाफ नर्स 
  • नर्सिंग एडुकेटर 
  • साइकोलॉजिस्ट 
  • हॉस्पिटल मैनेजर 
  • नर्स सुपरवाइजर 
  • वार्ड नर्स और संक्रमण नियंत्रण नर्स 
  • नर्सिंग असिस्टेंट 
  • नर्सरी स्कूल 
  • नर्स जूनियर 
  • मनोचिकित्सक नर्स 
  • नर्सिंग ट्यूटर

Bsc Nursing कोर्स के बाद जॉब क्षेत्र

इस कोर्स को करने के बाद कोई जरूरी नहीं है कि सिर्फ किसी सरकारी या प्राइवेट हॉस्पिटल में ही नौकरी कर सकते हैं कई बार ऐसा होता है कि किसी मरीज को सही से देखभाल करने के लिए घर पर भी किसी अनुभवी नर्स की जरूरत होती है

वह अपनी देखभाल करने के लिए अपने घर पर ही नर्स को बुलाकर पैसे देते हैं तो अगर कोई चाहे तो वैसे भी नर्स का जॉब कर सकता है. इसके साथ ही कई ऐसे क्षेत्र हैं जहां इस कोर्स को करने के बाद अच्छी सैलरी पर नौकरी मिल सकता है.

  • रिसर्च इंस्टीट्यूट
  • सरकारी हॉस्पिटल
  • प्राइवेट हॉस्पिटल 
  • हेल्थ डिपार्टमेंट 
  • नर्सिंग होम 
  • मेडिकल कॉलेज
  • औद्योगिक घर या कारखाने
  • आर्मी हॉस्पिटल
  • रेलवे हॉस्पिटल
  • नर्सिंग साइंस स्कूल

Bsc Nursing कोर्स के बाद सैलरी

इस कोर्स के बाद अगर किसी प्राइवेट हॉस्पिटल में कार्य करते हैं तो लगभग हर महीने 15000 से 20000 सैलरी पर जॉब मिल सकता है. धीरे-धीरे आपके कार्य के हिसाब से अनुभव बढ़ने के साथ-साथ सैलरी भी धीरे-धीरे बढ़ती रहती है. वहीं अगर किसी गवर्नमेंट हॉस्पिटल में कार्य करते हैं तो लगभग 40000 से 50000 तक सैलरी हर महीने मिल सकती है.

निष्कर्ष

Bsc Nursing kya hai नर्सिंग के फील्ड में या मेडिकल फील्ड में काम करने के लिए Bsc Nursing का कोर्स एक बहुत ही बेहतर और एक प्रोफेशनल डिग्री कोर्स है. इस कोर्स को करने के कई फायदे हो सकते हैं साथ ही कई अच्छे-अच्छे जॉब भी मिल सकते हैं.

इस लेख में बीएससी नर्सिंग कोर्स के लिए क्या-क्या जरूरी बातें हैं इससे क्या फायदा है के बारे में पूरी जानकारी दी गई है अगर इस लेख से रिलेटेड किसी भी तरह का आपके मन में सवाल है तो कमेंट करके जरूर पूछें.

Leave a Comment