जीएनएम का फुल फॉर्म क्या होता है योग्‍यता महत्‍व व स्‍कोप

GNM ka full form क्या होता है जीएनएम क्या है इसको हिंदी में क्या कहते हैं जीएनएम के बारे में विस्तार से जानने के लिए इस लेख को पूरा पढ़ें. यह एक मेडिकल क्षेत्र का नर्सिंग कोर्स हैं जिसको करने के बाद मेडिकल के क्षेत्र में अगर एक नर्स के रूप में कार्य करना चाहते हैं तो आसानी से कर सकते हैं. 

इस कोर्स को लड़का या लड़की कोई भी कर सकता है. कई छात्र छात्रा होते हैं जिन्हें मेडिकल के क्षेत्र में अपना करियर बनाने का सपना होता है. इंटरमीडिएट करने के बाद कोई ऐसा नर्सिंग कोर्स करना चाहते हैं,

जो कि आगे चलकर प्राइवेट या गवर्नमेंट संस्थानों में एक प्रशिक्षित नर्स का कार्य कर सकें, उनके लिए यह एक बहुत ही बेस्ट कोर्स है.इस कोर्स को करने के बाद एक प्रशिक्षित रजिस्टर्ड नर्स के रूप में किसी भी हॉस्पिटल में कार्य करने के योग्य बन जाते हैं. बीएससी नर्सिंग क्‍या हैं 

GNM ka Full Form क्या होता है

अगर नर्स के रूप में अपना करियर बनाना चाहते हैं तो मेडिकल लाइन का एक बहुत ही बेहतर कोर्स GNM होता है. जीएनएम का फुल फॉर्म general nursing and midwifery होता है. यह कोर्स करने के बाद क्लीनिकल नर्सिंग के क्षेत्र में एक प्रशिक्षित दाई या गर्भवती महिलाओं की देखभाल कर सकते हैं. 

G General
N Nursing and
M Midwifery

अन्य मरीजों की देखभाल करने के हर तरह के गुण इस कोर्स में सिखाया जाता है. जहां से भी यह कोर्स करते हैं उस संस्थान से कोर्स को पूरा करने के बाद एक सर्टिफिकेट दिया जाता है. उस सर्टिफिकेट के अनुसार एक रजिस्टर्ड नर्स बनने के लिए आप पूरी तरह से तैयार हो जाते है.

GNM ka full form 1

जीएनएम एक डिप्लोमा कोर्स है. इस कोर्स में रोगियों का बेहतर तरीके से देखभाल करने के लिए सिखाया जाता है. अन्य मेडिकल उपकरणों की देखभाल करने के लिए बताया जाता है. अगर ऑपरेशन थिएटर में डॉक्टर जाते हैं तो उनके साथ एक सहायक नर्स के रूप में भी जाने के लिए तैयार किया जाता है.

GNM kya hai

जीएनएम मेडिकल क्षेत्र का एक नर्सिंग कोर्स है. जोकि 3 साल 6 महीने में पूरा किया जाता है. जीएनएम कोर्स एक डिप्लोमा कोर्स है. 3 साल तक इस कोर्स को कराया जाता है और 6 महीना इंटर्नशिप कराया जाता है.

GNM कोर्स करने के बाद किसी भी हॉस्पिटल में डॉक्टर के साथ एक सहायक नर्स के रूप में कार्य कर सकते हैं. स्वास्थ्य और चिकित्सा टीम के सदस्य के रूप में भी बहुत ही बेहतर तरीके से अपना कार्य करने के लिए तैयार हो जाते हैं. 

इस कोर्स को करते समय हर एक छात्र को हेल्थ टीम के साथ किस तरह से नर्सिंग वर्क करना है सिखाया जाता है. GNM कोर्स 12वीं पास करने के बाद किसी भी निजी मेडिकल कॉलेज में एडमिशन करा कर सकते हैं.

अगर कोई अभ्यार्थी जीएनएम कोर्स करने के बाद सरकारी संस्थानों में नौकरी करना चाहते हैं तो उसके लिए उन्हें राज्य के नर्सिंग काउंसिल में रजिस्ट्रेशन करवाना पड़ता है.

GNM full form in hindi

जीएनएम का फुल फॉर्म जनरल नर्सिंग एंड मिडवाइफरी होता है, इसे हिंदी में सामान्य पोषण एवं दाई कहा जाता है. क्योंकि इस कोर्स में मरीजों की देखभाल करने से संबंधित कार्यों को सिखाया जाता है.

गर्भवती महिलाओं की देखभाल करने के लिए सिखाया जाता हैं. सामान्य पोषण एवं दाई को एक स्टाफ नर्स के नाम से भी जाना जाता है. GNM कोर्स में 3 साल में अलग-अलग सब्जेक्ट की पढ़ाई होती है.

जीएनएम के लिए योग्यता

किसी भी मेडिकल क्षेत्र का कोर्स करने के लिए ट्वेल्थ में साइंस स्ट्रीम से पढ़ाई करना पड़ता है. GNM कोर्स में भी अगर कोई छात्र 12वीं में साइंस फिजिक्स केमिस्ट्री आदि सब्जेक्ट से किए हैं तो कोर्स करने के लिए बेहतर एलिजिबल माने जाते हैं. इस कोर्स को करने के लिए और कौन-कौन सी है योग्‍यताओं की जरूरत है इसकी भी जानकारी रखना जरूरी है.

  1. जीएनएम कोर्स करने के लिए शैक्षिक योग्यता 12 वीं पास होना जरूरी है.
  2. 12वीं में आर्ट्स या साइंस किसी भी किसी भी सब्जेक्ट से हो तो कर सकते हैं.
  3. 12वीं में साइंस फिजिक्स केमिस्ट्री आदि सब्जेक्ट से किए हैं तो और भी बेहतर है. वैसे हर कॉलेज और यूनिवर्सिटी का नियम अलग-अलग होता है.
  4. 12वीं में लगभग 50 परसेंट अंक होना चाहिए.
  5. उम्र सीमा कम से कम 17 साल और ज्यादा से ज्यादा 35 वर्ष होनी चाहिए.
  6. जो भी छात्र इस कोर्स को करना चाहते हैं वह मेंटली और फिजिकली फिट होना आवश्‍यक हैं.

जीएनएम कोर्स कैसे करें

कोई भी छात्र अगर मेडिकल लाइन में नर्स के रूप में अपना कैरियर बनाना चाहते हैं तो 12वीं के बाद जीएनएम का कोर्स करने के लिए एलिजिबल होते हैं. इस कोर्स को एंट्रेंस एग्जाम पास करके भी एडमिशन ले सकते हैं. कई कॉलेज ऐसे भी हैं जहां पर नंबर के आधार पर डायरेक्ट एडमिशन मिल जाता है.

इसलिए अगर GNM कोर्स करने के लिए किसी भी कॉलेज में एडमिशन लेते हैं तो वहां पहले अच्छी तरीके से जानकारी प्राप्त कर ले. वह कॉलेज मान्यता प्राप्त है कि नहीं इसका अच्छे से जानकारी रखें.

उस कॉलेज में डायरेक्ट एडमिशन होता है या एंट्रेंस एग्जाम के आधार पर एडमिशन होता है यह भी अच्छे से जान ले. हर राज्‍य अपना अलग अलग जीएनएम नर्सिंग एंट्रेंस एग्‍जाम आयोजित करवाता हैं. GNM कोर्स करने के लिए कुछ प्रमुख एंट्रेंस एग्जाम है.

  • BHU nursing entrance
  • AIIMS nursing entrance exam
  • Bihar GNM
  • Gujarat GNM 
  • Madhya Pradesh GNM
  • RUHS nursing entrance exam
  • MGM CET Nursing
  • PGIMER Nursing
  • IGNOU open net
  • Jipmer nursing entrance exam

जीएनएम कोर्स में क्या सिखाया जाता है

किसी भी हॉस्पिटल में एक नर्स की महत्वपूर्ण भूमिका होती है गर्भवती महिला बच्चे बड़े किसी भी मरीज का अच्छे से देखभाल करके उनका बेहतर इलाज करने की जिम्मेदारी एक नर्स पर ही होती है.

अगर कोई व्यक्ति गंभीर रूप से बीमार है तो एक नर्स मजबूती से और भावनात्मक रूप से उस पेशेंट का इलाज करके जल्द से जल्द ठीक करने की कोशिश करती है.

GNM एक नर्सिंग कोर्स है  इस नर्सिंग कोर्स में किसी भी पेशेंट अच्‍छे तरीके से देखभाल करना सिखाया जाता हैं. एक प्रशिक्षित नर्स बनने के लिए बेहतर तरीके से तैयार किया जाता है.

  • अगर कोई मरीज गंभीर रूप से बीमार है तो उसका अच्छे से देखभाल करना.
  • डॉक्टर के साथ एक सहायक नर्स के रूप में कार्य करने की शिक्षा दी जाती है.
  • हॉस्पिटल के सभी मेडिकल उपकरणों का देखभाल करने के बारे में बताया जाता है.
  • हर एक रोगी को समय समय से दवा देना और उसका रिकॉर्ड रखना.
  • ऑपरेशन थिएटर में डॉक्टर की सहायता करना.
  • बच्चे महिलाएं या वृद्ध किसी भी पेशेंट का प्रभावी उपचार करना.
  • गर्भवती महिला का देखभाल करना.
  • किसी भी पेशेंट के साथ अच्छे से व्यवहार करना और सहानुभूति और धीरज के साथ उनका देखभाल करना.
  • पेशेंट को फर्स्ट ऐड देना.
  • समय समय से पेशेंट का चेकअप करना.
  • किसी भी पेसेट से इलाज के साथ-साथ बेहतर संपर्क बनाना.
  • इस कोर्स में जमीनी प्रशिक्षण के साथ-साथ बुनियादी कौशल हासिल होता है.

जीएनएम कोर्स के लिए कॉलेज

भारत में कई ऐसे कॉलेज है जहां पर GNM नर्सिंग का कोर्स कराया जाता है. हर राज्य में लगभग कई कॉलेज है जहां पर छात्रों के मेरिट लिस्ट के अनुसार डायरेक्ट एडमिशन होता है. कई कॉलेजों में एंट्रेंस एग्जाम के आधार पर एडमिशन किया जाता है. भारत के कुछ प्रसिद्ध जीएनएम नर्सिंग कॉलेज है.

क्रिश्चियन मेडिकल कॉलेज  लुधियाना
सरकारी मेडिकल कॉलेज  नागपुर
आयुष और स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय  रायपुर
मद्रास मेडिकल कॉलेज  चेन्नई
श्री रामचंद्र विश्वविद्यालय  चेन्नई
कालीकट विश्वविद्यालय केरल
सशस्त्र बल मेडिकल कॉलेज महाराष्ट्र
जवाहरलाल इंस्टीट्यूट आफ पोस्टग्रेजुएट मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च  पुडुचेरी
केआईआईटी भुवनेश्वर
सेंट जॉन्स मेडिकल कॉलेज  बेंगलुरु
एसआरएम इंस्टीट्यूट आफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी  चेन्नई
क्रिश्चियन मेडिकल कॉलेज  वेल्लोर
अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय  अलीगढ़
शारदा यूनिवर्सिटी नोयडा
बनारस हिंदू विश्वविद्यालय  वाराणसी
बेंगलुरु मेडिकल कॉलेज और रिसर्च इंस्टीट्यूट  बैंगलोर
इंदिरा गांधी इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज  पटना
रविंद्र नाथ टैगोर विश्वविद्यालय  भोपाल
एन आई एम एस यूनिवर्सिटी  जयपुर
इंसटिड आफ पोस्टग्रेजुएट मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च  कोलकाता

 

GNM कोर्स सिलेबस

जीएनएम 3 साल 6 महीने का एक डिप्लोमा कोर्स है. इसमें 3 सेमेस्टर होता है. जीएनएम कोर्स में चिकित्सा से संबंधित रोगियों को बेहतर तरीके से देखभाल करने से संबंधित सब्जेक्ट पढ़ायें जाते हैं. इसमें कई सब्जेक्ट होते हैं अपने रूचि के अनुसार हर छात्र सब्जेक्ट का चयन कर सकते हैं.

1st year English
Economy and physiology Second year
Biosciences Co-curricular activities
Applied science Mental health and Psychiatric Nursing
Microbiology Child health nursing
Civics Medical surgical nursing
Psychology 3rd year
First aid Nursing Education
Nursing Foundation Nursing administration and ward management
Basics of Nursing Clinical areas in general nursing and midwifery
Environment sanitation Midwifery and gynecological nursing
Community Nursing Introduction to research and statistics
Nutrition

Co-curricular activities

Computer education Business trends and adjustments
Health education and communication skills Community health nursing
Co-Curricular activities

जीएनएम कोर्स का महत्व

किसी भी प्राइवेट या गवर्नमेंट हॉस्पिटल में मरीज की देखभाल करने के लिए नर्स के रूप में कैरियर बनाने के लिए यह कोर्स बहुत ही बेहतरीन है. यह कोर्स एक लड़का या लड़की कोई भी कर सकते हैं. GNM कोर्स करने के बाद आगे भी मेडिकल के क्षेत्र में पढ़ाई कर सकते हैं. मास्टर डिग्री प्राप्त कर सकते हैं. 

मरीज के इलाज के लिए जो भी उपकरण इस्तेमाल किए जाते हैं उसके बारे में बेहतर जानकारी हो जाती है. एक पेशेंट का किस तरह से देखभाल किया जाता है इसकी शिक्षा इस कोर्स में दिया जाता है.

GNM ka full form 2

अगर कभी आप के फैमिली मेंबर को एक बेहतर चिकित्सीय देखभाल की जरूरत होगी, तो अपने आप से ही देखभाल कर सकते हैं. इस कोर्स का महत्व यह भी है कि कई क्षेत्रों में अपना कैरियर बना सकते हैं.

जीएनएम कोर्स फीस

इस कोर्स को किसी भी प्राइवेट संस्थान या गवर्नमेंट संस्थान से कर सकते हैं. प्राइवेट संस्थान से अगर कोर्स करते हैं तो उसमें ज्यादा फीस लगता है. लेकिन वही अगर गवर्नमेंट संस्थान से इस कोर्स को करते हैं तो प्राइवेट के मुकाबले कम पैसे लगेंगे.

वैसे हर कॉलेज और यूनिवर्सिटी का नर्सिंग का कोर्स करने के लिए अलग-अलग फीस होता है. लेकिन एक अनुमानित आधार पर जीएनएम कोर्स करने के लिए लगभग 80000 से 100000 तक का फीस लग सकता है.

GNM कोर्स के बाद क्या करें

नर्सिंग का कोर्स करने के बाद किसी भी छात्र को कई क्षेत्र में आगे बढ़ने का मौका मिल सकता है. गवर्नमेंट प्राइवेट हॉस्पिटल के साथ-साथ और भी कई हेल्थ से रिलेटेड संस्थानों में अपना करियर बना सकते हैं. GNM कोर्स के बाद कई तरह के रोजगार के अवसर मिलते हैं.

क्योंकि आज के समय में इस कोर्स का बहुत ही ज्यादा डिमांड बढ़ गया है. जीएनएम कोर्स करने के बाद अगर आगे की पढ़ाई जारी रखना चाहते हैं तो कर सकते हैं. मास्‍टर डिग्री प्राप्‍त कर सकते हैं. वैसे जीएनएम कोर्स के बाद कई कैरियर ऑप्शन है.

1. कैरियर ऑप्शन

  • नर्सिंग टीचर
  • लीगल नर्सिंग कंसलटेंट
  • मिडवाइफ नर्स
  • कम्युनिटी नर्स
  • हेल्थ प्रमोशन ऑफिसर
  • चाइल्ड नर्सिंग 
  • सोशल वर्कर 
  • मेंटल हेल्थ केयर गिवर 
  • इमरजेंसी केयर नर्स 
  • फॉरेंसिक नर्स 
  • क्लीनिकल नर्स 
  • एंप्लॉयमेंट एरियाज फॉर जनरल नर्सिंग एंड मिडवाइफरी 
  • आईसीयू नर्स 
  • होम केयर नर्स 
  • जूनियर नर्स
  • ट्रैवलिंग नर्स
  • फिजिशियन अटेंडेंट 
  • सर्टिफाइड नर्सिंग असिस्टेंट

2. कैरियर क्षेत्र

  • प्राइवेट हॉस्पिटल 
  • गवर्नमेंट हॉस्पिटल 
  • कम्युनिटी हेल्थ सेंटर 
  • एनजीओ 
  • रूरल हेल्थ सेंटर 
  • प्राइवेट क्लीनिक 
  • गवर्नमेंट हेल्थ स्कीम 
  • ओल्ड एज होम 
  • गवर्नमेंट डिस्पेंसरी 
  • सैन्य बल हॉस्पिटल 
  • वरत्न कंपनी हॉस्पिटल 
  • महारत्न कंपनी के हॉस्पिटल 
  • रेलवे हॉस्पिटल 
  • नेशनल हेल्थ मिशन

GNM कोर्स के बाद सैलरी

किसी भी गवर्नमेंट हॉस्पिटल या प्राइवेट हॉस्पिटल में एक नर्स के रूप में नौकरी करते हैं, तो लगभग 15000 से 20000 हर महीने सैलरी प्राप्त कर सकते हैं.

वैसे GNM कोर्स करने के बाद कई क्षेत्रों में रोजगार का अवसर मिलता है. हर क्षेत्र में काम के आधार पर सैलरी प्राप्त कर सकते हैं. नौकरी करते हुए जैसे-जैसे अनुभव प्राप्त होगा उसी के अनुसार सैलरी में भी बढ़ोतरी होती है.

अगर कहीं कांटेक्ट के आधार पर नर्स के रूप में नौकरी करते हैं तो  सैलरी कम मिल सकता है. वहीं अगर सरकारी क्षेत्र में स्थाई रूप से नर्स की नौकरी करते हैं तो वहां पर आपके योग्यता और अनुभव के अनुसार सैलरी ज्यादा मिल सकता है.

इसे भी पढ़ें

सारांश

GNM ka full form GNM कोर्स नर्सिंग क्षेत्र का एक डिप्लोमा कोर्स है. जिसको करने के बाद हेल्थ से रिलेटेड किसी भी क्षेत्र में आसानी से नर्स का कार्य कर सकते हैं. नर्स बन कर हर रोगी का अच्छे से देखभाल कर सकते हैं.

इस लेख में GNM का फुल फॉर्म क्या होता है और GNM से रिलेटेड हर तरह की जानकारी दी गई है. अगर आप भी इस कोर्स के बारे में जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं इस लेख को जरूर पढ़ें. किसी भी तरह का सवाल या सुझाव है तो कृपया कमेंट करके जरूर बताएं.

Leave a Comment