होम्योपैथिक डॉक्टर कैसे बनें Homeopathic doctor kaise bane 22

होम्योपैथिक डॉक्टर कैसे बने Homeopathic doctor kaise bane होम्योपैथिक डॉक्टर बनने के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए होम्योपैथिक डॉक्टर बनने के लिए कौन-कौन से कोर्स है होम्योपैथिक कोर्स करने के बाद क्या जॉब अपॉर्चुनिटी है होम्योपैथिक कोर्स करने के लिए कौन कौन से कॉलेज एवं संस्थान है और इस कोर्स को करने के लिए कितना फीस लगता है कि बारे में इस लेख में विस्तार से जानेंगे.

बहुत सारे लोग ऐसे हैं जो कि किसी भी तरह के रोग का इलाज करवाने के लिए होम्योपैथिक दवाई कराते हैं क्योंकि होम्योपैथिक दवाई से किसी भी तरह का साइड इफेक्ट नहीं होता है यह दवाई किसी के लिए भी बहुत ही इफेक्टिव होता है.

भले ही किसी भी रोग को ठीक करने में होम्योपैथिक दवाई से समय लगता है लेकिन गंभीर से गंभीर बीमारी होम्योपैथिक दवाई से जड़ से खत्म हो जाता है तो आइए इस लेख में नीचे विस्तार से जानते हैं कि होम्योपैथिक डॉक्टर का क्या उद्देश्य होता है Homeopathic doctor kaise bane होम्योपैथिक डॉक्टर कैसे बने.

होम्योपैथी डॉक्टर कैसे बनें Homeopathic doctor kaise bane

आज के समय में जितने ही संसाधन बढ़ रहे हैं जितना जनसंख्या बढ़ रहा है वह उतना ही कई तरह के नई नई बीमारियां भी हो रही है और उन बीमारियों को शरीर से जड़ से खत्म करने के लिए उसे हमेशा के लिए खत्म करने के लिए होम्योपैथिक दवाई एक बहुत ही बेहतर इलाज होता है कई ऐसे व्यक्ति होते हैं कि उन्हें कितना भी गंभीर बीमारी हो वह सबसे पहले होम्योपैथिक डॉक्टर के पास ही इलाज कराने के लिए जाते हैं.

होम्योपैथिक दवाई सर्दी खांसी या अन्य कोई भी मौसमी बीमारी में बहुत ही इफेक्टिव होता है तो मन में यह सवाल जरूर रहता हैं कि होम्योपैथिक डॉक्टर कैसे बने तो होम्योपैथिक डॉक्टर बनने के लिए सबसे बेहतर और शुरुआती कोर्स BHMS बीएचएमएस कोर्स होता है जिसे बैचलर ऑफ होम्योपैथिक मेडिसिन एंड सर्जरी कहा जाता है.

Homeopathic doctor kaise bane

बीएचएमएस कोर्स में एडमिशन लेने के लिए ऑल इंडिया इंजीनियरिंग और मेडिकल कॉलेज एसोसिएशन के माध्यम से ऑल इंडिया कॉम एंट्रेंस टेस्ट पास करना पड़ता है. ऑल इंडिया इंजीनियरिंग एंड मेडिकल कॉलेज एसोसिएशन का मेन ऑफिस चेन्नई में स्थित है. 

इसके अलावा भी होम्योपैथिक डॉक्टर बनने के लिए कई डिप्लोमा कोर्स है पोस्ट ग्रैजुएट डिप्लोमा कोर्स है मास्टर डिग्री है जिसको करने के बाद एक सफल होम्योपैथिक डॉक्टर बन सकते हैं.

होम्योपैथी क्या है

होम्योपैथिक एलोपैथिक की तरह एक चिकित्सा पद्धति है होम्योपैथिक शिक्षा का शुरुआत 1983 में शुरू किया गया होम्‍योपैथी के जन्‍मदाता सैमुएल हैनीमेन हैं इस कोर्स का शुरुआती शिक्षा ग्रेजुएट लेवल और डिप्लोमा कोर्स के रूप में किया गया होम्योपैथिक डॉक्टर बनने के लिए कई सारे डिप्लोमा कोर्स मास्टर डिग्री बैचलर कोर्स आदि है.

होम्योपैथिक में किसी भी तरह का इलाज करने के लिए किसी भी बीमारी को जड़ से खत्म करने के लिए जड़ी बूटी, पौधों, खनिज, पशु स्रोत, प्रकृतिक पदार्थ आदि का उपयोग करके दवा तैयार किया जाता है इसलिए किसी भी तरह के रोग का उपचार अगर होम्योपैथिक दवाई से किया जाता है तो इससे किसी भी तरह के साइड इफेक्ट नहीं होता है. 

कई ऐसी पुरानी और खतरनाक बीमारी होती है जिसका इलाज होम्योपैथी के द्वारा करने पर बहुत ही बेहतर होता है भारत में केंद्र सरकार के आयुष मंत्रालय के द्वारा भी होम्योपैथी को एक बेहतर प्रमुख चिकित्सा पद्धति माना गया है.

एलोपैथिक में किसी बड़े बड़े रोग का इलाज करने के लिए ऑपरेशन करना पड़ता है इंजेक्शन देना पड़ता है लेकिन होम्योपैथी में किसी भी तरह का रोग का इलाज करने के लिए दवाई का इस्तेमाल किया जाता है लेकिन होम्योपैथिक से इलाज कराने पर एलोपैथिक से ज्यादा समय लगता है.

होम्योपैथिक डॉक्टर बनने के लिए योग्यता

होम्योपैथिक डॉक्टर बनने के लिए जो सबसे ज्यादा प्रचलित कोर्स बैचलर ऑफ़ होम्योपैथी मेडिसिन एंड सर्जरी होता है

  • इस कोर्स को करने के लिए 12वीं में कम से कम 50 परसेंट मार्क होना अनिवार्य होता है.
  • अगर किसी को होम्योपैथिक डॉक्टर बनना है तो उसके लिए 12वीं में साइंस स्ट्रीम होना अनिवार्य है
  • जिसमें बायोलॉजी केमिस्ट्री फिजिक्स आदि कोर्स में ज्यादा से ज्यादा अंक प्राप्त करते हैं तो ही बैचलर ऑफ होम्योपैथी मेडिसिन एंड सर्जरी कोर्स जिसे बीएचएमएस कहा जाता है में एडमिशन ले सकते हैं. 
  • होम्योपैथिक कोर्स करने के लिए 18 वर्ष से ज्यादा का उम्र होना आवश्यक है.
  • होम्योपैथिक कोर्स करने के लिए इंग्लिश भाषा का ज्ञान होना चाहिए क्योंकि होम्योपैथिक के जो भी कोर्स होते हैं ज्यादातर सब्जेक्ट में इंग्लिश में ही पढ़ाई होता है.

BHMS course detail in Hindi

बीएचएमएस कोर्स एक होम्योपैथिक मेडिकल फील्ड का अंडर ग्रैजुएट डिग्री होता है. बीएचएमएस कोर्स 5 साल का एक होम्योपैथिक कोर्स होता है और 1 साल का इंटर्नशिप भी इसमें होता है. बीएचएमएस कोर्स करने के बाद एक होम्योपैथिक डॉक्टर बनने के योग्‍य हो जाते हैं बीएचएमएस कोर्स एक बहुत ही प्रसिद्ध कोर्स होता है इस कोर्स को करने के लिए लगभग 1 लाख फीस लगता है 

बीएचएमएस कोर्स करने के लिए 12वीं क्लास में फिजिक्स केमेस्ट्री बायोलॉजी सब्जेक्ट में अच्छा प्राप्त करना होता है उसके बाद ही बीएचएमएस कोर्स नीट एग्जाम के पास करने के बाद किया जा सकता है और इस कोर्स को करने के बाद एक सफल होम्योपैथिक डॉक्टर बन सकते हैं.

BHMS ka full form

होम्योपैथिक डॉक्टर कैसे बने – बीएचएमएस का फुल फॉर्म बैचलर ऑफ होम्योपैथिक मेडिसिन एंड सर्जरी होता है यक एक अंडर ग्रैजुएट कोर्स होता है 12वीं पास करने के बाद होम्योपैथिक डॉक्टर बनने के लिए सबसे पहला कोर्स बीएचएमएस होता है

जिसको करने के लिए 12वीं में फिजिक्स केमेस्ट्री बायोलॉजी सब्जेक्ट अनिवार्य रहता है साथ ही इन सभी विषयों में 50 परसेंट कम से कम मार्क्स होना जरूरी है बीएचएमएस कोर्स में एक सफल होम्योपैथिक डॉक्टर बनने के लिए पूरी पढ़ाई करवाई जाती है.

BHMS full form:- Bachelor of Homeopathic Medicine and Surgery 

BHMS ke bad kya Kare

होम्योपैथिक डॉक्टर कैसे बने – बीएचएमएस कोर्स पूरा करने के बाद इंटर्नशिप पूरा किया जाता है और उसके बाद वह व्यक्ति एक सफल होम्योपैथिक डॉक्टर बन जाता है जब 1 साल तक इंटर्नशिप पूरा किया जाता है उसके बाद किसी भी अनुभवी होम्योपैथिक डॉक्टर के द्वारा इंटर्नशिप का सर्टिफिकेट प्राप्त किया जाता है जिसके बाद आपको होम्योपैथिक डॉक्टर का सर्टिफिकेट मिल जाता है.

बीएचएमएस की डिग्री जब भारत सरकार के द्वारा पूरी हो जाती है मान्यता प्राप्‍त होम्योपैथिक डॉक्टर के रूप में व्यक्ति को पहचान मिल जाती है  बीएचएमएस करने के बाद एक डॉक्टर के रूप में किसी भी बड़े बड़े अस्पताल में कार्य करने के लिए भारत सरकार के पास आवेदन करना पड़ता है.

अगर एक सरकारी होम्योपैथिक डॉक्टर बनना चाहते हैं तो इसके लिए भारत सरकार के द्वारा एक परीक्षा आयोजित किया जाता है उस परीक्षा को पास करना पड़ता है जिसके बाद एक सरकारी होम्योपैथिक डॉक्टर के रूप में किसी भी बड़े सरकारी हॉस्पिटल में कार्य कर सकते हैं 

अगर किसी प्राइवेट हॉस्पिटल में होम्योपैथिक डॉक्टर बनकर लोगों का इलाज करना चाहते हैं तो उसके लिए भारत सरकार के द्वारा मान्यता लेने के लिए अलग से आवेदन करना पड़ता है.

होम्योपैथी डॉक्टर बनने के लिए कोर्स

होम्योपैथिक डॉक्टर कैसे बने – होम्योपैथिक कोर्स करने के लिए कड़ा मेहनत करना पड़ता है 12वीं में कम से कम 50 परसेंट मार्क्स होना अनिवार्य हो जाता है यदि किसी को स्टूडेंट आगे चलकर होम्योपैथिक डॉक्टर बनना है तो उसे किसी भी होम्योपैथिक कोर्स को करने के लिए 11वीं से ही अच्छी तैयारी करनी चाहिए होम्योपैथिक कोर्स में जो सबसे ज्यादा प्रसिद्ध कोर्स है एस कोर्स को बैचलर ऑफ होम्योपैथिक मेडिसिन एंड सर्जरी कहा जाता है 

लेकिन इसके अलावा भी कई डिप्लोमा कोर्स है पोस्ट ग्रेजुएट कोर्स है मास्टर डिग्री है जिसको करके होम्योपैथिक फील्ड में एक बेहतर डॉक्टर बन सकते हैं. अगर बीएचएमएस कोर्स करने के बाद होम्योपैथिक एमडी कोर्स अगर कोई करना चाहता है तो वह कोर्स 3 साल का होता है.होम्योपैथिक के माध्यम से कई स्पेशलाइजेशन कोर्स है जिसको करने के बाद एक बेहतर डॉक्टर बन सकते हैं जैसे कि

  • होम्योपैथिक फार्मेसी
  • स्किन स्पेशलिस्ट
  • पेडियाट्रिक्स
  • साइकाइट्रिक
  • मटेरिया मेडिका
  • होम्योपैथिक फिलासफी

होम्योपैथी कि जो एमडी कोर्स होता है उसको करने के लिए अवधि 3 साल होता है एमडी करने के लिए जो भी कोर्स होते हैं एक पोस्ट ग्रैजुएट लेवल का कोर्स होता है होम्योपैथिक डॉक्टर बनने के लिए कुछ प्रचलित डिप्लोमा कोर्स हैं.

  • डिप्लोमा इन होम्योपैथिक मेडिसिन एंड सर्जरी
  • डिप्लोमा इन इलेक्ट्रो होम्योपैथी
  • मास्टर ऑफ डॉक्टर इन होम्योपैथी कोर्स
  • पोस्ट ग्रैजुएट डिप्लोमा इन होम्योपैथिक मेडिसिन एंड सर्जरी

होम्योपैथिक कॉलेज और संस्थान

होम्योपैथिक डॉक्टर कैसे बने – होम्योपैथिक कोर्स करने के बाद कई तरह के क्षेत्र में करियर बनाने का मौका मिलता है इसमें सबसे प्रसिद्ध कोर्स होम्योपैथिक मेडिसिन एवं सर्जरी कोर्स है इस को कोर्स करने के लिए भारत में कई प्रसिद्ध कालेज संस्थान है.

होम्योपैथिक कॉलेज या संस्थान

नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ होम्योपैथिक कोलकाता

नेशनल होम्योपैथिक मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल लखनऊ

नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ होम्योपैथिक साल्टलेक कोलकाता 

नेहरू होम्योपैथिक मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल नई दिल्ली 

जीडी मेमोरियल होम्योपैथिक मेडिकल कॉलेज एवं हॉस्पिटल पटना

गवर्नमेंट होम्योपैथिक मेडिकल कॉलेज बेंगलुरु 

पंडित खुशीराम शर्मा गवर्नमेंट आयुर्वेद कॉलेज 

कानपुर होम्योपैथिक मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल 

गुरु गोविंद सिंह इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी दिल्ली 

बाबा फरीद यूनिवर्सिटी ऑफ हेल्थ साइंस फरीदकोट 

भारतीय विद्यापीठ होम्योपैथिक मेडिकल कॉलेज पुणे

लोकमान्य होम्योपैथिक मेडिकल कॉलेज पुणे

केरल यूनिवर्सिटी ऑफ हेल्थ साइंस केरल

राष्ट्रीय होम्योपैथिक संस्थान कोलकाता  

सरकारी होम्योपैथिक मेडिकल कॉलेज और अस्पताल बेंगलुरु

पंडित दीनदयाल उपाध्याय होम्योपैथिक मेडिकल कॉलेज रायपुर छत्तीसगढ़

होम्योपैथिक कोर्स फीस

होम्योपैथिक डॉक्टर कैसे बने – होम्योपैथिक डॉक्टर बनने के लिए कई कोर्स है जिसमें सबसे प्रसिद्ध बीएचएमएस यानी कि बैचलर ऑफ होम्योपैथिक मेडिसिन एंड सर्जरी होता है. इस कोर्स को करने के लिए साढ़े 5 साल का समय लगता है जिसमें 1 साल का इंटर्नशिप भी होता है

होम्योपैथी में एमडी कोर्स भी किया जाता है जो कि 3 साल की अवधि में कोर्स पूरा किया जाता है होम्योपैथी शिक्षा का यह एक पोस्ट ग्रैजुएट लेवल का कोर्स होता है. होम्योपैथिक कोर्स किसी भी गवर्नमेंट होम्योपैथिक कॉलेज या प्राइवेट कॉलेज से कर सकते हैं 

अगर किसी गवर्नमेंट कॉलेज से होम्योपैथिक की पढ़ाई करते हैं तो प्राइवेट कॉलेज के तुलना में कम फीस लगता है. गवर्नमेंट कॉलेज में 1 साल में कम से कम 25000 से 600000 फीस लगता है.

अगर किसी प्राइवेट कॉलेज से होम्योपैथिक की पढ़ाई पूरी करना चाहते हैं तो उसमें लगभग 1 साल में एक लाख से 40 लाख तक का फीस लग सकता है.

होम्योपैथिक कोर्स के बाद जॉब अपॉर्चुनिटी

होम्योपैथिक डॉक्टर कैसे बने – होम्योपैथिक कोर्स करने के बाद कई क्षेत्र में जॉब अपॉर्चुनिटी है अगर किसी को होम्योपैथिक की पढ़ाई करनी है तो उसके बाद एक उज्जवल भविष्य बन सकता है इसमें कई तरह के क्षेत्र में कार्य करके अच्छी कमाई कर सकते हैं 

  • कई बार तो अपने देश के साथ साथ ही विदेश में भी कैरियर बनाने का मौका मिल सकता है 
  • अगर कोई होम्योपैथी का बैचलर डिग्री बीएचएमएस का कोर्स किया है तो किसी भी सरकारी या प्राइवेट हॉस्पिटल में एक डॉक्टर के रूप में कार्य कर सकते हैं 
  • अगर चाहे तो अपना एक होम्योपैथिक क्लीनिक खोलकर लोगों का इलाज कर सकते हैं लेकिन अपना क्लीनिक खोलने के लिए कुछ वर्षों का अनुभव भी होना चाहिए. 
  • अगर होम्योपैथिक क्षेत्र में पीएचडी का कोई कोर्स किए हैं तो किसी भी कॉलेज में प्रोफेसर के रूप में नौकरी कर सकते हैं 
  • आज के समय में कई लोग ऐसे हैं जो कि होम्योपैथी दवाई कराने में डरते हैं कि बीमारी ठीक होगा या नहीं होगा तो ऐसे में एक कंसलटेंट के रूप में लोगों को होम्योपैथिक के इलाज के प्रति जागरूक करने का कार्य कर सकते हैं.
  • कई ऐसे होम्योपैथिक सरकारी या प्राइवेट संस्थान होते हैं जहां की होम्योपैथिक से जुड़ी सामानों का निर्माण किया जाता है तो वहां पर नौकरी करके अच्छी कमाई कर सकते हैं.

होम्योपैथिक कोर्स करने के बाद कई तरह के पद प्राप्त कर सकते हैं और अच्छी कमाई कर सकते हैं

  • प्राइवेट प्रैक्टिशनर
  • फार्मासिस्ट
  • टीचर
  • रिसर्चर
  • पब्लिक हेल्थ स्पेशलिस्ट
  • कंसलटेंट

होम्योपैथिक डॉक्टर का उद्देश्य

होम्योपैथिक डॉक्टर कैसे बने – होम्योपैथिक दवाई से कई तरह के खतरनाक बीमारी भी जड़ से खत्म हो सकता है लेकिन होम्योपैथिक दवाई से किसी भी रोग का इलाज कराने के लिए धैर्य रखनी चाहिए क्योंकि इसमें कुछ समय लगता है उसके बाद ही बीमारी जड़ से खत्म हो सकता है. 

एक होम्योपैथिक डॉक्टर का यही उद्देश्य होता है कि जो भी रोगी आए उसका सही इलाज करके जड़ी बूटी प्राकृतिक पदार्थों से मिलाजुला दवाई करके उस रोग को जड़ से खत्म करना है. किसी भी होम्योपैथिक डॉक्टर का उद्देश्य ही होता है कि मरीज को जो भी बीमारी है उस बीमारी को सही तरीके से समझते हुए उसके दिल की बात समझते हुए इलाज के द्वारा जड़ से खत्म करें ताकि मरीज को उस रोग से ज्यादा नुकसान न हो.

FAQ

होम्योपैथिक डॉक्टर बनने के लिए क्या करें Homeopathic doctor kaise bane

होम्योपैथिक डॉक्टर कैसे बने – होम्योपैथिक डॉक्टर बनने के लिए होम्योपैथिक कोर्स करना पड़ता हैं और इस कोर्स को करने के लिए सबसे पहले नीट का एंट्रेंस एग्जाम देना पड़ता है.

होम्योपैथिक डॉक्टर कैसे बने Homeopathic doctor kaise bane

होम्योपैथिक डॉक्टर कैसे बने – होम्योपैथिक डॉक्टर बनने के लिए सबसे पहले होम्योपैथी कोर्स करना पड़ता है जिसमें सबसे प्रसिद्ध बीएचएमएस कोर्स होता है.

होम्योपैथिक डॉक्टर बनने के लिए योग्यता

होम्योपैथिक डॉक्टर कैसे बने – होम्योपैथिक कोर्स करने के लिए 12वीं में कम से कम 50 परसेंट मार्क्स होना चाहिए और 12वीं क्लास में केमिस्ट्री फिजिक्स और बायोलॉजी अनिवार्य विषय होता है.

Affiliate marketing

ये भी पढ़ें

सारांश

Homeopathic doctor kaise bane – होम्योपैथिक कोर्स करने के बाद होम्योपैथी दवाइयों का एक अच्छा जानकार बन सकते हैं एक डॉक्टर बनकर कंसलटेंट बन कर लोगों का इलाज कर के लोगों को इलाज के प्रति जागरूक कर सकते हैं.

इस लेख में होम्योपैथिक डॉक्टर कैसे बने Homeopathic doctor kaise bane होम्योपैथिक डॉक्टर बनने के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए होम्योपैथिक कोर्स कौन-कौन से हैं कौन कौन से कॉलेज संस्थान है इस कोर्स को करने के लिए क्या फीस लगता है एक होम्योपैथिक डॉक्टर का क्या उद्देश्य होता है

होम्योपैथिक कोर्स करने के बाद किस तरह के जॉब अपॉर्चुनिटी है के बारे में पूरी जानकारी दी गई है अगर होम्योपैथिक डॉक्टर कैसे बने Homeopathic doctor kaise bane से संबंधित कोई सवाल या सुझाव है तो कृपया कमेंट करके जरूर बताएं और इस जानकारी को अपने दोस्त मित्रों को शेयर जरूर करें ताकि Homeopathic doctor kaise bane होम्योपैथिक डॉक्टर कैसे बने के बारे जान पाये और कोई भी व्‍यक्ति अपने रोग का इलाज होम्योपैथिक दवाई से कराने संकोच न करे.

Leave a Comment