IFS Ka Full Form – आईएफएस का फुल फॉर्म क्या होता हैं

आई एफ एस का फुल फॉर्म क्या होता हैं IFS ka full form kya hai in hindi आईएफएस क्या होता हैं IFS ऑफिसर कैसे बनते हैं आईएफएस ऑफिसर बनने के लिए क्या योग्यता होना चाहिए उम्र होना चाहिए यह सारी बातें जानना  बहुत ही जरूरी हैं

जो IFS ऑफिसर बनने के लिए रुचि रखते हैं। यह जानना है सबसे आवश्यक हैं। कई ऐसे छात्र होते हैं जिन्हें बचपन से ही आईएफएस आईपीएस आईएएस ऑफिसर बनने का सपना होता हैं।IFS ऑफिसर का फुल फॉर्म जानना भी उन छात्रों के लिए बहुत जरूरी हैं।

तभी आईएफएस एग्जाम का तैयारी अच्छे से कर सकते हैं। तो आईएफएस का फुल फॉर्म क्या होता है IFS का गठन कब हुआ इसका क्या क्या कार्य है इसके बारे में विस्तार से आइए नीचे जानकारी प्राप्त करते हैं।

IFS ka full form kya hai in hindi

आईएफएस भारतीय सरकार के द्वारा समूह बी का एक प्रशासनिक और राजनैतिक विभाग है इस नौकरी में लोगों को बहुत ही परिश्रम करना पड़ता है मेहनत करना पड़ता है यह एक प्रकार का कार्यकारी शाखा है भारत के सिविल सेवाओं के तहत आईएफएस को माना जाता है

भारत के तरफ से विदेशों में जो भारत के कई मामले हैं जैसे की संस्कृति कूटनीति व्यापार आदि को अगर संभालना है संभालने का कार्य करना है तो यह कार्य हमारे देश के आईएफएस ऑफिसर करते हैं विदेशी संगठनों में भारत का प्रतिनिधित्व आईएफएस अधिकारी के द्वारा ही किया जाता है

IFS ka full form kya hai in hindi

आई एफ एस ऑफिसर का पद प्राप्त करना हर कोई चाहता है हर युवा का अपना एक अलग लक्ष्य होता है शौक होता है किसी को आईएएस ऑफिसर बनना होता है किसी को आईपीएस ऑफिसर बनने का शौक होता है किसी को आर्मी में सीआरपीएफ में जाने का लक्ष्य होता है तो किसी को IFS ऑफिसर बनने का जीवन का सबसे बड़ा सपना होता है क्योंकि IFS ऑफिसर का पद बहुत बड़ा पद होता है

IFS ऑफिसर का सबसे प्रमुख कार्य विदेश में जो भारतीय विदेश सेवा के लिए अधिकारी होते हैं उनका प्रतिनिधित्व करना होता है आईएफएस एक राजनयिक सेवा होता है जो कि भारत से बाहर दूसरे देशों के जो भी व्यापार संस्कृति कूटनीति आदि मामले होते हैं

उनका देखरेख करना एक आईएएस अधिकारी का कार्य होता है आईएफएस का फुल फॉर्म Indian foreign service होता है जिसे हिंदी में भारतीय विदेश सेवा कहा जाता है भारत के जितने भी आईएफएस अधिकारी है

वह भारत से दूसरे देशों में 162 से भी अधिक ऐसे देश हैं जहां पर की भारतीय राजनयिक मिशन पर आईएफएस ऑफिसर कार्य करते हैं उसका देखरेख करते हैं IFS अधिकारी का पद भारत के प्रतिष्ठित सिविल सेवा पदों में से एक माना जाता हैं

IFS ka full form:-Indian Foreign Service

आईएफएस का फुल फॉर्म हिंदी में भारतीय विदेश सेवा होता हैं। भारतीय विदेश सेवा में काम करने वाले लोगों को आईएफएस ऑफिसर कहा जाता हैं। आईएफएस यानी कि इंडियन फॉरेन सर्विस का परीक्षा केंद्र सरकार के द्वारा किया जाता है और केंद्र सरकार के ही द्वारा उनकी नियुक्ति भी होती हैं।

आईएफएस क्या हैं

IFS  का एग्जाम केंद्र सरकार के द्वारा लिया जाता हैं और केंद्र सरकार की जिम्मेदारी पर ही IFS अफसर का नियुक्ति भी होता हैं आईएफएस ऑफिसर का काम अपने देश के और विदेश के मामलों में जैसे किसी व्यापार का मामला हो अपने देश से और विदेश में अच्छे संबंध बनाए रखना होता हैं।

IFS ऑफिसर का  जिम्मेदारी होता हैं कि अपने देश के सरकार और विदेशी सरकार के बीच में संबंध को अच्छे से स्थापित करें और उन दोनों के बीच व्यापारिक और अन्य रिश्ते सही ढंग से बनाए रखें।

अगर कोई आईएफएस अधिकारी बनने के बाद यूपीएससी की परीक्षा दोबारा देना चाहता है तो वह नहीं दे सकता है जो लोग यूपीएससी के परीक्षा में पास होते हैं तभी उन्हें आईएफए ऑफिसर बनने का मौका मिलता है भारत का अन्य देशों के साथ संबंध विकसित करना

बढ़ावा देना मैत्रीपूर्ण बनाना आईएफएस ऑफिसर का कार्य होता है विदेशों में हमारे भारत देश के लोग रहने वाले हैं उनके लिए कांसुलर सुविधाएं प्रदान करना आईएफएस अधिकारी का ही जिम्मेदारी होता है

किसी भी आईएफएस अधिकारी का उद्देश्य भारत का अन्य देशों के साथ राष्ट्रीय उद्देश्य को पूरा करना उसके लिए कड़ा मेहनत करना देश का प्रतिनिधि विदेशों में करना होता है

IFS अधिकारी को अपने देश का व्यापार बढ़ाने के लिए देश का संबंध दूसरे देशों में अच्छा बनाने के लिए दुनिया भर में यात्रा करना पड़ता है दुनिया भर के मशहूर लोगों के साथ मिलकर बैठकर बातें करना पड़ता है ताकि उन्हें दुनिया भर के विभिन्न पहलुओं का अनुभव हो सके।

आईएफएस का शुरुआत कब हुआ

इंडियन फॉरेन सर्विस का शुरुआत भारत में ईस्ट इंडिया कंपनी के द्वारा किया गया था 1783 में इंडियन फॉरेन सर्विस कब प्रारंभ किया गया लेकिन जो वर्तमान में आईएफएस कार्य कर रहा है जो नियम लागू किए गए हैं इसका गठन 9 अक्टूबर 1946 में किया गया

आईएफएस ऑफिसर कैसे बनते हैं

IFS का फुल फॉर्म इंडियन फॉरेन सर्विस होता हैं। जिसे हिंदी में भारतीय विदेश सेवा कहा जाता हैं। IFS अफसर का काम अपने देश और विदेशी सरकार के बीच में संबंधों को अच्छा बनाए रखना होता हैं आईएफएस का परीक्षा यूपीएससी के द्वारा ही होता हैं।

आईएफएस अधिकारी बनने के लिए यूपीएससी का 3 चरणों में होने वाला परीक्षा पास करना पड़ता हैं और उसके बाद 3 साल का ट्रेनिंग होता हैं। 3 साल की ट्रेनिंग के बाद एक आईएफएस ऑफिसर का दर्जा मिलता हैं आई एफ एस ऑफिसर का पावर भी एक आईपीएस और आईएएस ऑफिसर की तरह ही होता हैं।

आईएफएस ऑफिसर बनने के लिए क्या योग्यता होना चाहिए

IFS ऑफिसर बनना लगभग युवाओं का सपना होता हैं। आई एफ एस का एग्जाम बहुत ही मुश्किल एग्जाम होता हैं इसमें कोई भी आसानी से परीक्षा पास नहीं कर सकता हैं। इसके लिए बहुत मेहनत करना पड़ता हैं।

इंडियन फॉरेन सर्विस परीक्षा के लिए निम्नलिखित योग्यताएं होना जरूरी है। आईएएस ऑफिसर बनने के लिए किसी भी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन पास करना बहुत ही जरूरी है चाहे वह किसी भी विषय से ग्रेजुएशन पास किया हो इससे कोई फर्क नहीं पड़ता हैं

लेकिन ग्रेजुएशन का डिग्री होना चाहिए। इंडियन फॉरेन सर्विस परीक्षा देने के लिए किसी भी छात्र को भारत का नागरिक होना जरूरी हैं। भारतीय विदेश सेवा का परीक्षा के लिए छात्र का उम्र सीमा का भी एक लिमिटेशन होता हैं।

आईएफएस एग्जाम देने के लिए कम से कम 21 वर्ष उम्र होना चाहिए और ज्यादा से ज्यादा 32 साल का उम्र होना चाहिए इसमें भी जो आरक्षण वाले वर्ग  के छात्र हैं उनके लिए उम्र सीमा का कुछ छूट दिया जाता हैं।

आईएफएस अधिकारी का क्या कार्य होता है

IFS अधिकारी का कार्य भारत का संबंध विदेशों से अच्छा बनाना होता है देश में जो भी स्थिति हैं उसको बारीकी से देखना उस पर निगरानी करना उसका आकलन करना होता है भारत में जो भी रणनीति हित है

अपने देश के लिए कूटनीति करना वार्ता करना आईएफएस अधिकारी का कार्य होता है अपने देश के हित को देखते ही हुए देश के लिए नीति निर्माण और मेजबान करना आईएफएस अधिकारी का कार्य होता है अंतरराष्ट्रीय मंचो पर अपने देश का भारतीय निर्यात औद्योगिक सहयोग व्यापार आयोजन को बढ़ाना

आर्थिक हित को देखना वाणिज्य हित को देखना अन्य देशों के साथ अपने देश का संबंध मैत्रीपूर्ण बनाना अन्य देशों के साथ अपने देश का संबंध विकसित करना बढ़ावा देना आईएफएस अधिकारी का काम होता है संयुक्त राष्ट्र संघ में किसी भी तरह के कार्य हो रहे हैं

तो उसमें अपने देश का प्रतिनिधित्व करना अगर किसी भी तरह के कानूनी विवाद है मुद्दा है प्रोटोकाल है या प्रेस के साथ किसी भी तरह का बातचीत करना है तो वह आईएफएस अधिकारी का ही जिम्मेदारी होता है और उनका कार्य होता है

आईएफएस अधिकारी का कार्य इतना होता है कि उनका लगभग आधा जीवन अपने देश का विदेशों में संबंध बनाने में विदेशों के साथ रणनीति व्यापार आदि के मामलों को देखरेख करने में व्यतीत हो जाता है जिससे उन्हें अपने फैमिली के साथ समय बिताने का समय नहीं मिल पाता है।

आईएफएस अधिकारी को कौन-कौन सी सुविधाएं मिलती हैं

जो भी व्यक्ति IFS अधिकारी के पद पर नियुक्त होता है उसे कई तरह की सुविधाएं मिलती है जैसे कि सरकार के तरफ से आवास सुविधा मिलता है परिवहन सुविधा मिलता है चिकित्सा की सुविधा मिलती है जो आईएफएस अधिकारी विदेश में तैनात रहते हैं

विदेशों में कार्य करते हैं उन्हें कई प्रकार के भत्ते मिलते हैं जो उन्हें आवास मिलता है उसमें बिजली पानी मोबाइल आदि का बिल फ्री होता है अगर कहीं वह कार्य करने जाते हैं विदेशों में जाते हैं वहां का लैंग्वेज उन्हें पता नहीं है

तो लैंग्वेज सीखने के लिए आर्थिक मदद सरकार के तरफ से दिया जाता है वहां का कल्चर सीखने के लिए आर्थिक मदद मिलता है आईएफएस ऑफिसर के दो बच्चों को पढ़ाने का पूरा खर्चा सरकार के तरफ से दिया जाता है जो उन्हें कार मिलता है

उसमें ड्राइवर भी साथ में मिलता है यह सारे सुविधाएं आईएफएस ऑफिसर को ट्रेनिंग के बाद दूसरे देश में जब पोस्टिंग होता है तभी दिया जाता है।

आईएफएस ऑफिसर का अन्य फुल फॉर्म

आईएफएस ऑफिसर का फुल फॉर्म भारतीय विदेश सेवा होता है लेकिन इसके अलावा भी एक आईएएस ऑफिसर होते हैं जिन्हें भारतीय वन सेवा कहा जाता है IFS भारत के प्रशासनिक सेवाओं में आईएएस आईपीएस की तरह ही सबसे उच्च कोटि का भारतीय प्रशासनिक सेवा होता हैं

आई एफ एस का परीक्षा UPSC संघ लोक सेवा आयोग(Union public service commission) के द्वारा ही आयोजित किया जाता हैं। भारतीय वन सेवा परीक्षा देने के लिए किसी भी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से स्नातक होना चाहिए। परीक्षा देने के लिए कुछ निम्नलिखित विषयों से स्नातक की डिग्री प्राप्त करना जरूरी हैं

  • Geology
  • Chemistry
  • Mathematics
  • Botany
  • Physics
  • Zoology
  • Agriculture

आदि विषयों से स्नातक करने के बाद ही आई एफ एस का एग्जाम दिया जा सकता हैं।

सारांश

आईएफएस इंडियन फॉरेन सर्विस जिसे हिंदी में भारतीय विदेश सेवा कहा जाता हैं का परीक्षा यूपीएससी के द्वारा आयोजित किया जाता है आई एफ एस भारत के तीन सबसे सम्मानित प्रशासनिक सेवा को आईएएस आईपीएस की तरह ही सम्मान दिया जाता हैं

आईएफएस अफसर बनना किसी के लिए भी गर्व की बात होती हैं इस लेख में हम लोगों ने आईएफएस का फुल फॉर्म क्‍या होता हैं आईएफ एस ऑफिसर कैसे बनते हैं इस लेख से जुड़े अगर कोई सवाल आपके मन में हैं तो हमें कमेंट करके जरूर पूछें।

इस लेख में हम लोगों ने आईएफएस का फुल फॉर्म क्या होता हैं के बारे में विस्तार से जानकारी प्राप्त किया हैं आप लोगों को यह जानकारी कैसी लगी हमें कमेंट करके जरूर बताएं और अपने दोस्त मित्रों और रिश्तेदारों को शेयर जरूर करें।

Leave a Comment