ITI ka Full Form – आईटीआई का फूल फॉर्म क्‍या होता हैं

आईटीआई का फूल फॉर्म क्‍या होता हैं ITI ka full form kya hai in hindi आईटीआई क्या हैं आईटीआई कब करना चाहिए आईटीआई के बारे में पूरी जानकारी हम लोग इस लेख में प्राप्त करेंगे। आजकल हर कोई को नौकरी की परेशानी हो रही है बेरोजगारी बढ़ रही है कोरोना होने की वजह से कई कंपनी बंद हो गए हैं जिससे बेरोजगारी चरम सीमा पर है

इसलिए हर छात्र चाहते हैं कि कोई ऐसा कोर्स करें डिप्लोमा कोर्स या स्पेशल एजुकेशन कोर्स जिसके माध्यम से आगे चलकर उसे किसी अच्छी कंपनी में एक बेहतर और सम्मानित नौकरी मिल सके जिससे कि उन्हें नौकरी ढूंढने के लिए किसी भी तरह की परेशानी न हो अगर कोई 10वीं या 12वीं का परीक्षा पास कर लिया है तो उसे अपने कैरियर को आगे बढ़ाने के लिए किसी भी तरह का डिप्लोमा कोर्स का जरूरत है

तो उसके लिए ITI  एक अच्छा माध्यम हो सकता है जिसमें इंडस्ट्रियल ट्रेनिंग दिया जाता है औद्योगिक क्षेत्र में जो भी कार्य करना है उसके बारे में पूरी तरह से कुशल प्रशिक्षण दिया जाता हैतो आइए इस लेख में नीचे जानते हैं कि ITI का फुल फॉर्म क्या होता है इसका स्थापना कब हुआ आईटीआई करने के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए। ITI  कोर्स कब करना चाहिए आईटीआई कोर्स करने के लिए क्या उम्र होना चाहिए क्या एजुकेशन होना चाहिए आईटीआई कोर्स में कौन कौन से ट्रेड होता हैं आईटीआई कोर्स कितने दिनों का होता हैं

ITI ka full form kya hai in hindi

आईटीआई एक सरकारी प्रशिक्षण संगठन होता है जिसमें इंडस्ट्री से संबंधित कई तरह के कोर्स कराए जाते हैं प्रशिक्षण दिया जाता है इसमें स्टूडेंट को उद्योग को बढ़ाने के लिए उद्योग का विकास करने के लिए

उद्योग से संबंधित प्रशिक्षित किया जाता है जिस स्टूडेंट को तकनीकी ज्ञान लेने का इच्छा होता है उन्हें इंडस्ट्रियल से संबंधित कार्य करने में ज्यादा रुचि होता है उनके लिए ITI  बहुत ही अच्छा एक कोर्स होता है किसी भी इंडस्ट्री या कंपनी में काम करने के लिए किसी भी तरह की परेशानी का सामना नहीं करना पड़े आईटीआई में वह सारे प्रशिक्षण दिये जाते हैं

ITI ka full form kya hai in hindi

कोई भी छात्र आईटीआई करने के बाद किसी भी अच्छे कंपनी में आसानी से जॉब कर सकता है इसमें अपनी रूचि के अनुसार किसी भी ट्रेड का चुनाव करके आईटीआई में प्रशिक्षण दिया जा सकता है

ITI  एक एजुकेशनल कोर्स हैं। आईटीआई में इंडस्ट्रीज में काम करने के लिए ट्रेनिंग दिया जाता हैं आईटीआई कोर्स करने के बाद किसी भी इंडस्ट्रीज में जिस क्षेत्र में आप अच्छा जानते हैं काम अच्छे से कर सकते हैं। आईटीआई का फूल फॉर्म

  • I:-industrial
  • T:-training
  • I:-institute

ITI में छात्रों को औद्योगिक क्षेत्र में काम करने के लायक प्रशिक्षण दिया जाता हैं उसमें बच्चों को इतना प्रशिक्षित कर दिया जाता हैं कि वह आईटीआई करने के बाद कहीं भी अच्छा जॉब करके अच्छा पैसा कमा सकते हैं

आईटीआई भारत में लगभग सभी छात्रों के लिए बहुत ही प्रचलित कोर्स हैं। जिसे बहुत छात्र करना चाहते हैं और अच्छा जॉब करके अच्छा कमाई करना चाहते हैं।

ITI kya hai

ITI एक तरह का संस्थान हैं जिसमें इंडस्ट्रियल यानी कि औद्योगिक कोर्स कराया जाता हैं जिसमें औद्योगिक स्तर पर काम करने के लिए प्रशिक्षित किया जाता हैं

आईटीआई में electrician, welder fitte,r plumber, wire man, information technology आदि क्षेत्रों में में प्रशिक्षित किया जाता हैं।इसके अलावा भी आईटीआई में बहुत सारे ट्रेड हैं

जिसमें की छात्रों को ट्रेनिंग दिया जाता हैं ताकि वह किसी भी क्षेत्र में आत्मनिर्भर होकर अपना काम कर सके।जैसे कि fabrication, lift mechanics, electrical automobile कोर्स ज्‍यादा प्रचलित हैं।

ITI में भी दो तरह के कोर्स है जिसमें एक नॉन इंजीनियरिंग है और दूसरा नाम इंजीनियरिंग ट्रेड हैं इंजीनियरिंग ट्रेड में विज्ञान प्रौद्योगिकी अवधारणा गणित आदि के बारे में पढ़ाया जाता है

और नॉन इंजीनियरिंग ट्रेड में सॉफ्ट स्किल्स भाषा के साथ और भी कई क्षेत्र में विशेष कौशल और विशेषज्ञता के बारे में पूरी तरह से प्रशिक्षण दिया जाता है

किसी भी ITI  संस्थान का संचालन भारत सरकार के माध्यम से किया जाता है आईआईटी करने के बाद बिजली विभाग रेलवे आदि जगहों पर सरकारी नौकरी भी आसानी से मिल सकता है

ITI करने के बाद किसी भी छात्रों को किसी भी मल्टीनेशनल कंपनी में एक अच्छे पैकेज पर अच्छी नौकरी मिल सकती है या अगर किसी को विदेश जाकर के नौकरी करने का इच्छा है

शौक है तो वह भी भारत के बाहर भी एक 2 साल के एक्सपीरियंस के बाद नौकरी करने के लिए जा सकता है।

आईटीआई करने के लिए क्या एजुकेशन होना चाहिए

आईटीआई कोई भी छात्र लड़का हो या लड़की कर सकते हैं आईटीआई करने के लिए कम से कम 10th पास होना चाहिए आईटीआई करने के लिए कुछ में तो 10th के बाद और कुछ में 12th के बाद एडमिशन होता हैं।

ITI  में 8th बाद एडमिशन लिया जा सकता हैं। 8th के बाद डिप्लोमा कोर्स किया जाता हैं। ITI  करने के लिए 10th क्लास में कम से कम 35 परसेंट अंक रहना चाहिए

उस छात्र का 14 से 40 वर्ष उम्र होना जरूरी हैं। अगर किसी छात्र का नंबर अच्छा हैं उसका परसेंटेज ज्यादा हैं तो उसे किसी भी सरकारी कॉलेज में एडमिशन मिल सकता हैं। और सरकारी कॉलेज में फी भी कम लगता हैं

लेकिन अगर उसका नंबर कम हैं परसेंटेज कम हैं तो किसी भी प्राइवेट इंस्टिट्यूट में एडमिशन मिल जाएगा लेकिन प्राइवेट इंस्टिट्यूट में फी ज्यादा लगता हैं जैसे कि 25 या 30 हजार में ITI का कोर्स पूरा हो जाएगा।

ITI full form in hindi

आईटीआई एक कोर्स हैं जिसे इंग्लिश में इंडस्ट्रियल ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट कहा जाता हैं और आईटीआई को हिंदी में औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान कहते हैं।

  • I:-industrial:-औद्योगिक
  • T:-training:-प्रशिक्षण
  • I:-institute:-संस्थान

ITI एक प्रकार का डिग्री हैं जिसको पूरा करके लड़के या लड़की कोई अच्छा जॉब भी कर सकते हैं या अपना स्वयं का व्यवसाय भी कर सकते हैं। ITI  में औद्योगिक स्तर पर काम करने के लायक बनाया जाता हैं

और उसमें प्रशिक्षण दिया जाता हैं ताकि छात्र अपना फैक्ट्री या अपना खुद का कोई बिजनेस करके अपना जीवन यापन कर सकें।

आईटीआई कोर्स कितने दिनों का होता हैं

ITI एक संस्थान हैं जो कि अलग-अलग क्षेत्र में काम करने के लायक छात्रों को ट्रेनिंग दिया जाता हैं उसे किसी भी एक क्षेत्र में ट्रेनिंग दिया जाता हैं। आईटीआई भारतीय सरकार के द्वारा श्रम एवं नियोजन मंत्रालय द्वारा संचालित एक संस्थान हैं

इसमें स्टूडेंट को इंडस्ट्रीज में काम करने के लिए ट्रेनिंग दिया जाता हैं। छात्र को अपने रूचि के अनुसार कोई भी एक सब्जेक्ट चुन सकते हैं जिसमें वह आत्म निर्भर होगा। आगे चलकर काम कर सकें।

आईटीआई का कोर्स 6 महीना का भी होता हैं और 1 से 2 वर्ष का भी होता हैं इसमें ट्रेड के अनुसार अवधी होता हैं इसमें छात्र जिस ट्रेड का चयन करेंगे उसी के अनुसार आईटीआई का कोर्स लिमिट हैं।

आईटीआई में क्या सिखाया जाता हैं

ITI में औद्योगिक क्षेत्र में काम करने के लिए सिखाया जाता हैं इसमें थ्योरीकल जानकारी से ज्यादा प्रैक्टिकल जानकारी दिया जाता हैं। क्‍योंकि छात्रों को इंडस्ट्रीज में ज्यादा काम करना होता हैं

इसलिए प्रैक्टिकल उन्हें समझाया जाता हैं। आईटीआई में लड़के और लड़कियों दोनों के लिए कोर्स हैं लड़कियों के लिए भी कुछ कोर्स हैं जैसे कि फैशन डिजाइनिंग स्किन केयर सिलाई हेल्थ केयर से संबंधित आदि।

ITI में इंडस्ट्रियल कामों का ज्यादातर ट्रेनिंग दिया जाता हैं ताकि छात्र अपना कोर्स करके किसी भी औद्योगिक क्षेत्र में अपना काम शुरू करें तो उस क्षेत्र में वह बहुत आगे बढ़ सके

अपने नॉलेज के अनुसार कोई भी काम आत्मनिर्भरता से करके अच्छा जॉब पा सके या अपना खुद का बिजनेस शुरू करके अच्छा पैसा कमा सके।

आईटीआई करने के फायदे

आजकल छात्र किसी भी मल्टीनेशनल कंपनी में नौकरी करने के लिए अच्छे जॉब पर अच्छे पैकेज पर नौकरी करने के लिए कोई भी उच्च कोर्स करना चाहते हैं कोई ऐसा डिग्री प्राप्त करना चाहता है

जिससे कि उसे आसानी से उसके नॉलेज के अनुसार उसके डिग्री के माध्यम से नौकरी मिल सके तो आईटीआई एक ऐसी संस्था है जिसमें की औद्योगिक प्रशिक्षण दिया जाता है

इस संस्थान में इंडस्ट्रियल से संबंधित सभी ट्रेनिंग दिया जाता है इसके करने के भी कई फायदे हैं अगर कोई आईटीआई कर लेता है तो उसके बाद किसी भी सरकारी और प्राइवेट उद्योग क्षेत्र में आसानी से जॉब पा सकता है।

आजकल किसी भी कंपनी में प्राइवेट हो या गवर्नमेंट हो उसमें टेक्निकल डिग्री जरूरी है टेक्निकल नॉलेज का होना जरूरी है तो आईटीआई करने के बाद किसी भी कंपनी से जॉब का ऑफर जल्दी मिल सकता है

इसमें कोर्स के दौरान ही ट्रेनिंग दिया जाता है जिससे कि आईटीआई का कोर्स पूरा होने के बाद कोई अगर चाहे तो अपना खुद का भी बिजनेस व्यापार शुरू करके अच्छा खासा पैसा कमा सकते है।

आजकल कई ऐसे कंपनी है जिसमें की गाड़ियों के पार्ट्स तैयार किए जाते हैं तो उस कंपनी को उस तरह के एम्पलाई का जरूरत है जिसे टेक्निकल नॉलेज हो प्रैक्टिस नॉलेज हो

तो आईटीआई किए हुए जो भी छात्र रहे उन्हें टेक्निकल डिग्री प्राप्त होता है तो उन्हें उस कंपनी में जॉब मिलने में ज्यादा आसानी हो जाता है।

सारांश 

इस लेख में आईटीआई का फूल फॉर्म आईटीआई क्या हैं आईटीआई में क्या सिखाया जाता हैं आईटीआई करने के लिए क्या एजुकेशन होना चाहिए यह सारी जानकारी दी गई हैं

आप लोगों को यह जानकारी कैसा लगा हमें कमेंट करके जरूर बताएं और अपने दोस्त मित्रों और रिश्तेदारों को शेयर जरूर करें।

Leave a Comment