what is history in hindi| Itihaas kya hai इतिहास क्या है

अक्सर विश्‍व को, अपने देश को, अपने सभ्यता संस्कृति को जानने के लिए या पीछे जो घटनाएं घटी है के बारे में जानने के लिए इतिहास पढ़ते हैं इतिहास का अध्‍ययन करते हैं लेकिन इतिहास क्या है Itihaas kya hai इतिहास का क्या अर्थ होता है इतिहास का क्या परिभाषा होता है इतिहास शब्द का उत्पत्ति कैसे हुआ के बारे में अक्सर लोगों को पूरी तरह पता नहीं रहता है

तो इतिहास किसे कहते हैं और Itihaas से संबंधित जानकारीयों को जानने के लिए इस लेख को पूरा जरूर पढ़ें.  वर्तमान समय में जो सभ्यता और संस्कृति रहन सहन के साथ मानव जाति पृथ्वी पर रह रहे हैं उन सारे चीजों का पता इतिहास में चलता है इतिहास शब्द का इंग्लिश हिस्ट्री होता है अक्सर लोगों को लगता है कि हिस्ट्री सब्जेक्ट बहुत ही इजी सब्जेक्ट है

कई लोगों को इतिहास पढ़ना अपने पिछली घटनाओं का अध्ययन करना उनका शोध करना पसंद होता है लेकिन History  शब्‍द की उत्‍तपति कहां से हुई नहीं पता होती हैं तो आइए इस लेख में इतिहास का मतलब क्या होता है इतिहास का जनक किसे कहा जाता है इतिहास को इंग्लिश में क्या बोलते हैं इतिहास का क्या महत्व है हमारे इतिहासकारों ने इतिहास को कितने भागों में बांटा है के बारे में विस्तार से जानते हैं. 

इतिहास क्या है What is history in hindi

अपने देश का या पृथ्वी पर पहले जो घटना घट चुकी है उसके बारे में जानने के लिए इतिहास सब्जेक्ट का अध्ययन किया जाता है लेकिन उससे पहले इतिहास क्या है के बारे में जानकारी रखना आवश्यक है तो इतिहास को एक ज्ञान का शाखा माना जाता है जिसमें की संपूर्ण मानव जाति की उत्पत्ति के बारे में वह किस तरह से नए-नए चीजों का अविष्कार करके आगे बढ़े विकास किये इतिहास में विस्तृत रूप से जानकारी मिलता है.

Itihaas में जो प्राचीन में घटनाएं घट चुकी है या प्राचीन समय की बातों को धारणाओं को एक व्यवस्थित रूप से लोगों को जानकारी देना ही इतिहास कहलाता है जैसे कि महाभारत रामायण, मानव वेद जाति से संबंधित हर वह घटनाओं के बारे में वर्तमान समय के लोग देखे नहीं है लेकिन उसका अवशेष कहीं कहीं मिल जाता है उसके आधार पर या इतिहास में उसका ऐतिहासिक साक्ष्यों के तथ्यों को आधार मानकर प्रमाणित किया जाता है.

Itihaas kya hai

इतिहास की किताबों में उनके बारे में पूरी तरह से वर्णन मिलता है उसे ही इतिहास कहा जाता है. प्राचीन समय से लेकर अब तक जो घटनाएं घट चुकी है जिन्हें ऐतिहासिक साक्ष्यों के आधार पर सही माना जाता है उन घटनाओं को मानव जाति से संबंध माना जाता है और उन सारे घटनाओं को एक क्रम अनुसार सुरक्षित रखा जाता है उसी को Itihaas कहा जाता है. 

इतिहास शब्द की उत्पत्ति 

इतिहास शब्द संस्कृत के 3 शब्दों से मिलकर बना है पहला इति दूसरा ह और तीसरा आस. इति= का मतलब जो बीत गया है या जो सही में घट चुका है होता है , ह= का मतलब की जो घटना सही में हुआ है आस= का मतलब था या जो हुआ है इस तीनों शब्द के अर्थ को मिलाकर इतिहास का मतलब हैं कि जो घटना सही रूप में बीत चुका है होता है.

Itihaas का इंग्लिश History होता है और हिस्ट्री शब्द ग्रीक भाषा के हिस्टोरिया शब्द से लिया गया है जिसका अर्थ पूछताछ करना या शोध करना कहा जाता है इसीलिए इतिहास का मतलब पहले की घटनाओं के बारे में पूछताछ करना उसके बारे में शोध करना माना जाता है. 

इतिहास के जनक या पिता किसे कहते हैं 

इतिहास क्या होता है इतिहास शब्द की उत्पत्ति कैसे हुई के बारे में तो ऊपर जानकारी दी गई है लेकिन इतिहास के पिता यानी इतिहास के जनक किसे कहा जाता है सबसे पहले इतिहास का इंग्लिश हिस्ट्री शब्द का प्रयोग किस इतिहासकार ने किया के बारे में भी जानकारी आइए जानते हैं.

History शब्द का उपयोग सबसे पहले हेरोडोटस ने अपनी पुस्तक हिस्टोरीका में किया था इसीलिए हेरोडोटस को इतिहास का जनक या इतिहास के पिता के रूप में जाना जाता है.

हेरोडोटस को इतिहास का पिता रोमन के एक दार्शनिक सिसरो ने कहा था हेरोडोटस यूनान के एक विद्वान और इतिहासकार थे जो कि सिकंदर से पहले माने जाते हैं भारत के Itihaas के पिता के रूप में मेगास्थनीज को जाना जाता है जो कि भारत के महान राजा सम्राट चंद्रगुप्त मौर्य के शासनकाल में यूनान के राजदूत के रूप में भारत आए थे. 

मेगास्थनीज ने भारत के बारे में भारत के तत्कालीन सम्राट चंद्रगुप्त मौर्य के शासन काल के बारे में भारत के पूरे Itihaas के बारे में अपनी पुस्तक इंडिका में लिखा है मेगास्थनीज ने चंद्रगुप्त मौर्य काल के शासनकाल कि सारी बातों का वर्णन किया साथ ही पाटलिपुत्र के बारे में पूरी तरह से वर्णन किया है. 

Itihaas ki paribhasha

इतिहास का अध्ययन करने पर हमारे समाज का ज्ञान भौगोलिक जानकारी पहले किन किन राजाओं ने शासन किया उनका शासन काल कब से कब तक था उनका शासन व्यवस्था कैसा था उस समय के लोगों का रहन सहन कैसा था किस काल में कौन सी कला और स्थापत्य कला प्रसिद्ध था के बारे में जानकारी मिलता है.

कई विद्वानों और इतिहासकारों का मानना है कि इतिहास शब्द जर्मन भाषा के Geschichte से लिया गया है जिसका अर्थ घटित होना होता है वैसे कई इतिहासकारों ने Itihaas शब्द का परिभाषा अपने अपने अनुसार कई तरह से दिया है

जैसे कि जी आर एल्टन ने Itihaas को अतीत तथा वर्तमान के बीच एक सेतु एक बांध के रूप में माना है हेनरी जॉनसन ने इतिहास को पृथ्वी पर जितने भी मानव जाति है उनके भूत का वैज्ञानिक लेखा-जोखा के रूप में वर्णन किया है. किसी इतिहासकार ने इतिहास को मानव जीवन के सामाजिक जीवन का वर्णन करने का एक जरिया माना है. 

Itihaas ka arth 

वर्तमान समय से पहले जो समय बीत चुका है जो घटना घट चुका है उसको एक क्रमबद्ध रूप में सजा करके वर्णन करना उसका उल्लेख करना ही इतिहास का अर्थ होता है इतिहास में वर्तमान समय से पहले लोगों का किस तरह से जीवन था लोग कैसे जीवित रहते थे का उल्लेख मिलता है.

जिससे प्रेरित होकर वर्तमान में लोग अपना कार्य करते हैं इतिहास के आधार पर ही वर्तमान टिका हुआ है क्योंकि जो घटनाएं पहले नहीं घटती तो वर्तमान में जो स्थिति चल रही है वह नहीं रहती इसीलिए इतिहास को भविष्य और वर्तमान का सेतु कहा गया है.Itihaas  का अर्थ वर्तमान से पहले का बीता हुआ समय होता है. 

Itihaas ka mahatva 

जिस तरह हर चीज का महत्व होता है उसका फायदा होता है उससे लाभ होता है उसी तरह Itihaas का भी मानव जीवन के लिए बहुत ही महत्व है क्योंकि अगर इतिहासकारों के द्वारा विद्वानों के द्वारा इतिहास नहीं लिखा रहता तो मानव अपने अतीत को अच्छे से नहीं समझ पाते जो बातें वर्तमान में हो रही है

उसी को ज्यादा अच्छा समझते बेहतर समझते इतिहास पढ़ने से ही हर मानव जाति को अपने सभ्यता के बारे में अपनी संस्कृति के बारे में किस काल में कौन राजा हुए किन का शासन कितने दिनों तक चला किस राजा के शासनकाल में किस तरह का बदलाव हुआ यह सारी जानकारी प्राप्त होती हैं कहा जाता है कि Itihaas अपने आप को जरूर दोहराता है.

जब Itihaas के बारे में अध्ययन किया जाता है तभी वर्तमान को अच्छी तरह से समझ सकते हैं कि पहले किस तरह की कठिनाई किस तरह की समस्याएं लोगों को होती थी और वर्तमान में  पहले के मुकाबले कई  समस्याएं लगभग खत्म हो गई है.

Itihaas का अध्ययन करने से ज्ञान की प्राप्ति होती है वर्तमान में जो कई तरह के कुप्रथा कुरीति अंधविश्वास चले आ रहे हैं उसको इतिहास का अध्ययन करने से ही पता चलता है कि पहले और भी कई तरह से समाज में समाजिक गलत धारणाएं होती थी जिस को खत्म करने के लिए कई महापुरुषों ने अपनी आवाज उठाई.

इतिहास का राष्ट्रीय महत्व भी है जिस तरह से वर्तमान समय में हिंदू मुस्लिम के बिच में कई तरह के लड़ाई हो जाती है दंगे फसाद हो जाते हैं तो Itihaas का अध्ययन करने पर हमें यह जानकारी मिलती है कि किस तरह से लोगों में देश प्रेम की भावना थी जाती प्रेम की भावना थी इतिहास का अध्ययन करने से कई तरह के प्रेरणा मिलती है.

कई ऐसे शासक हुए जिन्होंने अपने देश को बचाने के लिए विदेशी शासकों से पूरी तरह से लोहा ले लिए थे. बच्चों के नैतिक आचरण को सही बनाने के लिए इतिहास का महत्व है जब वह Itihaas का अध्ययन करेंगे तो कई महान महापुरुषों के द्वारा किए गए महान कार्यों के बारे में अध्ययन करेंगे उनके आदर्शों पर चलने का कोशिश करेंगे जिससे कि उनका चरित्र का निर्माण सही तरीके से हो पाएगा अपने समाज में बदलाव और विकास करने की कोशिश करेंगें . 

भारतीय इतिहास को कितने भागों में बांटा गया है 

भारत का इतिहास हो या विश्व का इतिहास हो इतिहास को तीन भागों में बांटा गया है

  •       प्राचीन काल का इतिहास
  •       मध्य काल का इतिहास या मध्‍यकालीन इतिहास
  •       आधुनिक इतिहास

प्राचीन काल का इतिहास या प्राचीन इतिहास 

भारत के प्राचीन इतिहास को कई इतिहासकारों और विद्वानों ने मानव जाति के आगमन यानी कि मानव जाति की उत्पत्ति से लेकर आठवीं शताब्दी तक माना है लेकिन कुछ इतिहासकारों का मानना है कि प्राचीन इतिहास 701 ईस्वी से लेकर 800 ईसवी तक माना जाता है.

प्राचीन इतिहास में ही मानव जाति को ब्राह्मण क्षत्रिय वैश्य शूद्र आदि चार भागों में बांटा गया और चारों जाति के अलग-अलग कार्य को विभाजित किया गया प्राचीन इतिहास का अध्ययन करने पर ही पता चलता हैं कि हड़प्पा संस्कृति मोहनजोदड़ो सिंधु घाटी की सभ्यता जो कि भारतीय इतिहास की सबसे पुरानी सभ्यता सिंधु घाटी सभ्यता है के बारे में जानकारी मिलती है.

किस तरह मोहनजोदड़ो और हड़प्पा में लोगों का खान-पान था किस तरह से वस्त्र पहने के लिए बनाते थे सिंधु घाटी सभ्यता में किस तरह से लोग मकान बनाकर सुनियोजित तरीके से रहते थे उनका उद्योग कैसा था सिंधु घाटी सभ्यता में किस देवता की उपासना किया जाता था यह सारी जानकारियां प्राप्त हो जाती है. प्राचीन इतिहास में मनुष्य का वैदिक काल के बारे में पता चलता है महाकाव्य रामायण, महाभारत वेद पुराण का उल्लेख भी मिलता है. 

मध्य काल का इतिहास या मध्‍यकालीन इतिहास 

मध्यकालीन इतिहास को मोहम्मद बिन कासिम के आक्रमण यानी 712 ईसवी से लेकर के 1707 तक माना जाता है 1707 में जब औरंगजेब की मृत्यु हुई तब तक मध्यकालीन इतिहास ही माना जाता है. 

आधुनिक इतिहास 

भारत में आधुनिक इतिहास का शुरुआत 1757 से 1947 तक माना जाता है लेकिन कुछ इतिहासकारों का मानना है कि आधुनिक काल का अंत जवाहरलाल नेहरू की मृत्यु तक यानी कि 1964 तक माना गया है . 

FAQ 

Itihas kise kahate hain 

वर्तमान से पहले जो समय बीत गया है या जो घटनाएं पहले घट चुकी है उसको एक क्रमबद्ध तरीके से पूर्ण रूप से रखना इतिहास कहलाता है. 

Itihas ka matlab kya hota hai 

जो घटनाएं पहले हो चुकी है उसको किसी भी इतिहासकार के द्वारा समझदारी से पूरी जानकारी के साथ वर्णन करना ही इतिहास है. 

Itihas ka english kya hota hai 

History इतिहास का इंग्लिश होता है. 

इतिहास का जनक किसे कहा गया है 

हेरोडोटस को इतिहास का जनक या इतिहास का पिता कहा गया है सबसे पहले सिसरो ने हेरोडोटस को फादर ऑफ हिस्ट्री नाम से संबोधित किया था. 

भारतीय इतिहास का पिता किसे कहा जाता है 

290 ईसा पूर्व में यूनान का राजदूत मेगास्थनीज भारत आया था जिन्होंने अपने पुस्तक इंडिका में उस समय के तत्कालीन शासक चंद्रगुप्त मौर्य के बारे में पाटलिपुत्र के बारे में वर्णन किया है इसलिए मेगास्थनीज को भारतीय इतिहास के जनक के रूप में या भारतीय इतिहास का पिता कहा जाता है. 

इसे भी पढ़ें

सारांश 

इस लेख में इतिहास क्या है what is history in hindi इतिहास शब्द की उत्पत्ति कैसे हुई इतिहास शब्द का इंग्लिश क्या होता है इतिहास का अर्थ क्या है परिभाषा क्या है इतिहास का मानव जीवन के लिए क्‍यूं महत्वपूर्ण है Itihaas को कितने भागों में बांटा गया है के बारे में पूरी जानकारी दी गई है.

इस जानकारी से संबंधित किसी भी तरह का सवाल या सुझाव अगर मन में है तो कृपया कमेंट करके जरूर बताएं और इस लेख को अपने दोस्त मित्रों और रिश्तेदारों को शेयर जरूर करें किसी भी तरह के फुल फॉर्म, बायोग्राफी, इंश्योरेंस, रिलिजियस प्लेस, शोसल, आदि से संबंधित जानकारियों को प्राप्त करने के लिए इस वेबसाइट को विजिट करते रहें. Gyanitecheng

Leave a Comment