जयललिता कौन थींं

जयललिता बायोग्राफी इन हिन्‍दी जयललिता कौन थींं Jayalalitha biography in hindi का जीवन परिचय क्या है उनके जन्म के बारे में उनके शिक्षा के बारे में उनके फिल्मी सफर के बारे में जयललिता के राजनीतिक जीवन के बारे में और जयललिता को कितने और कौन-कौन पुरस्कार मिलेहम लोग इस आर्टिकल में विस्तार पूर्वक जानेंगे.

अपने करियर का शुरुआत फिल्म इंडस्ट्री से करने वाली जयललिता ने बाद में जब राजनीति में अपने जीवन का शुरुआत किया तो कभी भी उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा वह राजनीतिक की एक जानी मानी शख्सियत थी.

भारत में जितनी महिला मुख्यमंत्री हुई हैं उनमें जय ललिता का नाम दूसरे नंबर पर लिया जाता है वह हिंदी तमिल कन्नड़ तेलुगू आदि भाषाओं में फिल्में कर चुकी है आइए जानते हैं जयललिता के बारे में.

Jayalalitha biography in hindi 

जयललिता तामिलनाडु के पूर्व महिला मुख्यमंत्री थी वह एक अभिनेत्री और राजनेता दोनों थी जयललिता कर्नाटक के अखिल भारतीय अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम पार्टी की नेता थी.भारत के राजनीतिक सफर में बहुत महिला राजनेता हुई है बहुत प्रधानमंत्री मुख्यमंत्री महिला हुई है.इंदिरा गांधी की जीवनी

जयललिता उन्‍हीं में से एक हैं जिन्होंने पहले तमिल अंग्रेजी कन्नड़ हिंदी फिल्म में अभिनेत्री का रोल किया लेकिन बाद में उन्होंने राजनीति में अपना करियर बनाया और कर्नाटक की 6 बार मुख्यमंत्री भी रही थी. जयललिता को वहां के लोग अम्मा कहके संबोधित करते थे.

Jayalalitha biography in hindi

वह दक्षिण भारत के एआईएडीएमके पार्टी के महासचिव भी रही थी कर्नाटक में उनके समर्थक उन्हें अम्मा कह के बुलाते थे और पुराची थलावी भी कहके बुलाते थे.

अम्मा का मतलब होता है मां और पुराची थलावी का मतलब होता है क्रांतिकारी नेता. राजनीति में आने से पहले दक्षिण भारत के एक प्रसिद्ध अभिनेत्री थी उन्होंने तमिल कन्‍नड तेलुगू हिंदी और अंग्रेजी फिल्मों में काम किया था.

जयललिता का जन्म 

तामिलनाडु की पूर्व मुख्यमंत्री और दक्षिण भारत के प्रसिद्ध पूर्व अभिनेत्री जयललिता जय राम का जन्म 24 फरवरी 1948 को हुआ था जयललीता मैसूर के जो कि अब कर्नाटक में है मेलू कोट की रहने वाली थी उनके पिता का नाम जयराम था और माता का नाम वेदवल्ली था

उनके पिताजी एक वकील थे जयललिता जब 2 साल की हुई तो उनके पिता जी का मृत्यु हो गया उसके बाद उनकी माता ने उन्‍हें लेकर उनके नाना जी के घर   बेंगलुरु चली गई और वहीं पर उनका पालन-पोषण हुआ जयललिता के माता भी दक्षिण भारत के प्रसिद्ध अभिनेत्री थी उनकी मां फिल्म में संध्या नाम से प्रचलित थी.सर्वपल्ली राधाकृष्णन कौन थे

नाम जयललिता जयराम
उपनाम अम्‍मा
जन्‍म 24 फरवरी 1948
जन्‍म स्‍थान मेलू कोट
पिता का नाम जयराम
माता का नाम वेदवल्ली
विवाह जीवन कुंवारी
कार्यक्षेत्र एआईएडीएमके पार्टी के महासचिव तामिलनाडु की पूर्व मुख्‍यमंत्री
मृत्‍यु 22 सितंबर 2016

जयललिता का शिक्षा 

Jayalalitha जब अपने नाना जी के घर बेंगलुरु चली गई वहीं पर उन्होंने मैट्रिक तक पढ़ाई किया और उसके बाद उन्होंने मद्रास विश्वविद्यालय से डिलीट की मानक उपाधि प्राप्त की थी जयललिता शास्त्रीय नृत्य में निपुण थी

वह पढ़ने में बहुत तेज थी वह अपने स्कूल के एक तेजस्वी विद्यार्थी थीचेन्नई के बिशप कॉटन गर्ल्स हाई स्कूल से जयललिता ने अपने शुरुआती पढ़ाई किया था सैक्रेड हार्ट मैट्रिकुलेशन स्कूल से उन्होंने मैट्रिक के पढ़ाई पूरी की थी जयललिता अपने स्कूल में बहुत ही तेज तरार छात्रा थी जो भी एग्जाम देती थी

उसमें नंबर उनका बहुत अच्छा आता था इसीलिए सरकार के तरफ से उन्हें छात्रवृत्ति भी मिलता था जयललिता वकालत की पढ़ाई करना चाहती थी लेकिन उनका जीवन एक अलग ही मोड़ पर चला गया

उनकी माता चाहती थी कि वह फिल्मों में काम करें इसलिए उन्होंने फिल्मों में अपना कैरियर बनाना शुरु कर दिया और वह दक्षिण भारत के एक प्रसिद्ध अभिनेत्री भी बन गई थी.

जयललिता का व्यक्तित्व

तामिलनाडु की महिला मुख्यमंत्री जयललिता जयराम एक ऐसी महिला थी जिन्होंने जो भी कार्य किए उसमें बहुत ही प्रसिद्ध हुई पहले वह साउथ फिल्म इंडस्ट्री के एक बहुत ही प्रचलित अभिनेत्री थी हिंदी तमिल तेलुगू कन्नड़ आदि भाषाओं में उन्होंने कई प्रसिद्ध फिल्में की थी

लेकिन बाद में जब उन्होंने राजनीति की तरफ रुख किया वह कभी भी पीछे मुड़कर उन्होंने नहीं देखा और राजनीति की भी एक जानी-मानी महिला मुख्यमंत्री बन गई वह अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम पार्टी की महासचिव थी जयललिता 6 बार मुख्यमंत्री बनी थी और उन्होंने अपने नाम एक रिकॉर्ड कायम किया था जय ललिता को कई तरह के डांस आते थे

नृत्य का बहुत ही शौक रखती थी भारतनाट्यम कि वह एक प्रसिद्ध नृत्यांगना थी भारतनाट्यम के साथ-साथ मोहिनीअट्टम, कत्थक, मणिपुरी आदि प्रसिद्ध नृत्य वह जानती थी फिल्मों में अभिनय के साथ गाना भी गाने का उन्हें बहुत शौक था

इसीलिए कई फिल्मों में जयललिता ने गाना भी गाया था जयललिता ने शादी नहीं किया था वह जीवन भर कुंवारी ही थी. 15 साल की उम्र से ही फिल्मों में अभिनय का शुरुआत उन्‍होंने किया था उनकी पहली फिल्म 1961 में अंग्रेजी भाषा में एपिस्टल रिलीज हुई थी 1972 में जयललिता का एक फिल्म पट्टीकाडा पट्टनामा नाम का तमिल फिल्म आया था

जिसमें उनके साथ शिवाजी गणेशन फिल्म के हीरो थे इस फिल्म को राष्ट्रीय पुरस्कार भी मिला था हिंदी फिल्म के प्रसिद्ध अभिनेता धर्मेंद्र के साथ इज्जत फिल्म में अभिनेत्री के रूप में जयललिता ने काम किया था. उन्‍होंने राजनीति में 1982 में कदम रखा उस समय उन्होंने एमजी रामचंद्रन की एक पार्टी के रूप में अपने राजनीतिक जीवन का शुरुआत किया.

फिल्मी सफर या कैरियर 

वह जब मात्र 13 साल की थी तब उन्होंने अंग्रेजी फिल्म एपिस्टल में बाल कलाकार के रूप में काम किया था जयललिता का संगीत से बेहद लगाव था वह कर्नाटक की एक संगीत गायक भी थी और कई लघु कथा और उपन्यास भी उन्होंने लिखे हैं जयललिता को शास्त्रीय नृत्य भारतनाट्यम मोहिनी अट्टम मणिपुरी कत्थक आदि आते थे .

1965 ईस्वी में उन्होंने तमिल फिल्म वेनिरा वड़ाई नामक फिल्म किया था और इसके बाद उन्होंने बहुत सारे कन्नड़ तमिल तेलुगू हिंदी आदि फिल्मों में काम किया और एक प्रसिद्ध अभिनेत्री बन गए हिंदी फिल्म इज्जत में उन्होंने बॉलीवुड के प्रसिद्ध अभिनेता धर्मेंद्र के साथ भी काम  किया था उसके बाद उन्होंने राजनीति की ओर रुख किया.

फिल्मों में उन्होंने अपने बेहतरीन अदाकारी और प्रभावशाली अभिनय के कारण अपना पहचान बहुत अच्छे से बना लिया था एमजी रामचंद्रन के साथ उन्होंने बहुत सारी फिल्में की थी उन्हीं के वजह से वह फिल्मों में भी आई थी.अरुण जेटली कौन थे

राजनीतिक जीवन 

उन्‍होंने शादी नहीं किया था वह आजीवन कुंवारी ही थी जयललिता ने जैसे फिल्मों में अपना एक अलग पहचान बना लिया उसी तरह जब वो राजनीति में आई तो राजनीति में भी उन्होंने एक अपना अलग पहचान बना लिया जिस तरह फिल्मों में उन्होंने अपना कैरियर एमजी रामचंद्रन के प्रेरणा से बनाया.

उसी तरह उन्होंने राजनीति में भी एमजी रामचंद्रन के कहने पर ही कदम रखा और ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कंझगम पार्टी में सदस्य से शुरू किया कुछ ही दिनों बाद इस पार्टी के संस्थापक एमजी रामचंद्रन ने उन्हें पार्टी का प्रचार सचिव बना दिया.

जब उन्‍होंने पहला प्रचार शुरू किया तब उनके बहुत सारे समर्थकों की भीड़ लग गई  उन्हें देखने के लिए जब एमजी रामचंद्रन कर्नाटक के मुख्यमंत्री बने तब उन्होंने जयललिता को पार्टी का महासचिव बना दिया.

लेकिन एमजी रामचंद्रन के मृत्यु के बाद उनके समर्थक उन्हें उस पार्टी का उत्तराधिकारी बनाना चाहते थे जिस वजह से एआईएडीएमके पार्टी में फूट पड़ गया और पार्टी दो हिस्सों में बट गया और भारतीय संविधान के तहत पार्टी को निष्कासित कर दिया गया .

बाद में फिर से पार्टी बना और उनको उस पार्टी का प्रमुख बनाया गया उसके बाद जयललिता ने कई बार विधानसभा चुनाव जीते और वहां की मुख्यमंत्री रही मुख्यमंत्री रहते हुए उन पर कई तरह के आरोप भी लगे लेकिन वह मुख्यमंत्री पद पर बनी रही और लोगों का प्यार और सम्मान पाती रही.

वहां के लोग उन्हें बहुत आदर और सम्मान करते थे उन्हें अम्मा कह के बुलाते थे वह तामिलनाडु की 6 बार मुख्यमंत्री बनी थी. उन्होंने वहां पर आम जनता के लिए बहुत कार्य किए उन्होंने कमजोर वर्ग के लोगों के लिए लिंग समानता के क्षेत्र में उनकी सेवा सेवा की.श्री अटल बिहारी बाजपेई का जीवन परिचय

जयललिता को मिले पुरस्कार और सम्मान 

उनके फिल्मी कैरियर और राजनीतिक सफर के लिए बहुत सारे सम्मान और पुरस्कार भी मिले हैं उनको मिले पुरस्कार इस प्रकार है

  • फिल्मों के लिए फिल्म फेयर सर्वश्रेष्ठ तमिल अभिनेत्री का पुरस्कार मिला.
  • फ़िल्मफ़ेयर सर्वश्रेष्ठ तेलुगू अभिनेत्री का पुरस्कार मिला.
  • तमिलनाडु सरकार के तरफ से कलैमामानी पुरस्कार मिला.
  • मद्रास विश्वविद्यालय से साहित्य में डॉक्टरेट की उपाधि मिली.
  • डॉक्टर एमजीआर मेडिकल विश्वविद्यालय से विज्ञान में मानद डॉक्टरेट की उपाधि प्राप्‍त की.
  • तमिलनाडु में कृषि विश्वविद्यालय से विज्ञान में डॉक्टरेट की उपाधि प्राप्‍त की.
  • कानून विश्वविद्यालय से कानून में मानद डॉक्टरेट की उपाधि प्राप्‍त की.

जयललिता का मृत्यु  

दक्षिण भारत के सबसे प्रसिद्ध अभिनेत्री  थी और तामिलनाडु की 6 बार मुख्यमंत्री रही लोग उन्हें वहां पर बहुत सम्मान और प्रेम करते थे जयललिता का मृत्यु 22 सितंबर 2016 को हुआ था उनका मृत्यु दिल का दौरा पड़ने से हुआ था उनके मृत्यु का कारण संक्रमण और तीव्र निर्जलीकरण बताया जाता है

70 दिनों तक उनका इलाज अस्पताल में चला था लेकिन लास्ट में डॉक्टर उन्हें बचा नहीं सके और उनका मृत्यु हो गया. जयललिता पहली प्रतिपक्ष महिला राजनेता थी उनकी मृत्यु के बाद तामिलनाडु में आम जनता में बहुत दुख और शोक था लोग उन्‍हें बहुत मानते थे और उन्हें अम्मा कह के बुलाते थे.

सारांश 

जयललिता ने अपने करियर का शुरुआत एक फिल्म के अभिनेत्री के रूप में किया था फिल्म अभिनेत्री के रूप में भी उन्होंने बहुत ही प्रसिद्धि हासिल की थी एक अलग पहचान बनाई थी फिर जब उन्होंने राजनीति अपना कैरियर बनाने का शुरुआत किया तो राजनीति में भी उन्होंने अपना पहचान बनाया.

वह एक जानी-मानी मुख्यमंत्री थी तमिलनाडु की पांच बार मुख्यमंत्री बन कर उन्होंने अपने नाम एक रिकॉर्ड कायम कर लिया था तेलुगू तमिल कन्‍नड और बॉलीवुड फिल्मों में उन्होंने कई हिट फिल्म दिए.

इस लेख में हमने तामिलनाडु की पूर्व मुख्यमंत्री और दक्षिण भारत के प्रसिद्ध अभिनेत्री जयललिता  के बारे में पूरी जानकारी देने की कोशिश की है अगर आप लोगों को यह जानकारी अच्छी लगी हो तो हमें कमेंट करके जरूर बताएं और अपने दोस्त मित्रों और रिश्तेदारों को शेयर भी जरूर करें.

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

Leave a Comment