एमएमएस का फुल फॉर्म क्‍या होता हैं

एमएमएस का फुल फॉर्म एमएमएस क्या होता हैं MMS ka Full Form in hindi क्या होता हैं. एमएमएस कौन कौन सी डिवाइस से भेजा जा सकता हैं. अगर इन सवालों को खोजते हुए आप लोग इस पोस्ट पर आए हैं तो इस पर आप लोगों को एमएमएस के बारे में पूरी जानकारी जरूर मिलेंगी.

क्योंकि आजकल एसएमएस और एमएमएस बहुत ही लोकप्रिय शब्द हो गया हैं. वर्तमान समय में लगभग हर काम डिजिटली हो रहा हैं. हर कोई मोबाइल लैपटॉप कंप्यूटर से लगभग ज्यादातर अपना काम कर रहा हैं. पहले किसी का भी हाल चाल लेना होता था.

तो डाक से हम लोग पत्र लिख कर के भेजते थे. किसी का शादी करना होता था तो उसका फोटो मंगाते थे. लेकिन आजकल जमाना डिजिटल हो गया हैं. हर कोई मोबाइल का इस्तेमाल कर रहा हैं एमएमएस के द्वारा फोटो वीडियो और किसी भी तरह का मैसेज कुछ ही मिनटों में किसी के भी पास पहुंच जाता हैं. डीपी का फुल फॉर्म क्या होता हैं

एमएमएस का फुल फॉम

एमएमएस एक ऐसा शब्द हैं जो कि हर कोई जो भी मोबाइल लैपटॉप कंप्यूटर का इस्तेमाल करता हैं वह इस शब्द का इस्तेमाल और प्रयोग जरूर करता हैं. MMS ka full form मल्टीमीडिया मैसेजिंग सर्विस होता हैं.

एमएमएस का फुल फॉम

  • M:-Multimedia
  • M:-Messaging
  • S:-Service

mms ka full form in hindi

एमएमएस का हिंदी क्या होता हैं

इंग्लिश मल्टीमीडिया मैसेजिंग सर्विस होता हैं और इसका हिंदी में मल्टीमीडिया संदेश सेवा कहा जाता हैं.

  • M:-Multimedia:- मल्टीमीडिया
  • M:-Messaging:- संदेश
  • S:-Service:- सेवा 

एमएमएस क्या होता हैं

MMS एक ऐसा शब्द हैं जो कि S.M.S. का ही विस्तार रूप हैं .जैसे हम लोग अपना संदेश किसी के पास पहुंचाने के लिए एसएमएस द्वारा लिख कर के भेजते हैं. उसी तरह एमएमएस के द्वारा हम लोग लिखकर तो भेजते ही हैं उसके साथ साथ किसी भी तरह का वीडियो फोटो ऑडियो ग्राफिक्स आदि.

किसी के मोबाइल पर कंप्यूटर पर भेज सकते हैं और प्राप्त कर सकते हैं. एस एम एस भेजने पर उसमें एक लिमिटेशन होता हैं कि इतना ही कैरेक्टर तक किसी को मैसेज भेज सकते हैं. लेकिन एमएमएस में कोई भी लिमिट नहीं होता हैं.

S.M.S. में 160 करैक्टर से ज्यादा कोई भी टेक्स्ट मैसेज नहीं भेज सकते हैं लेकिन से किस भी तरह का टेक्स्ट मैसेज और उसके साथ साथ किसी भी तरह के फाइल भी किसी के पास भेज सकते हैं वह बहुत ही आसानी से. पहले कोई अगर किसी ऑफिस के फाइल का जरूरत भी होता था.

तो उसके लिए जाकर के ले कर आना पड़ता था. लेकिन एमएमएस के सुविधा से किसी भी तरह का फाइल कहीं से भी थोड़े ही समय में अपने मोबाइल लैपटॉप या कंप्यूटर पर मंगा सकते हैं या किसी को भेज सकते हैं. जीपीएस का फुल फॉर्म क्या होता हैं

एमएमएस का प्रयोग कैसे किया जाता हैं

MMS हर किसी भी मोबाइल से नहीं भेजा जा सकता हैं. यह सिर्फ और सिर्फ उसी डिवाइस से भेजा जा सकता हैं जिस डिवाइस में एमएमएस का सपोर्ट करता हैं. इसका उपयोग हम लोग मोबाइल लैपटॉप कंप्यूटर आदि जिसमें इंटरनेट 2G 3G 4G हो उसी से भेजा जा सकता हैं. अगर किसी भी मोबाइल में इंटरनेट 2G हैं तो उससे भी एमएमएस भेजा सकता हैं.

लेकिन उसका स्पीड थोड़ा कम रहता हैं. अगर 3G इंटरनेट हैं तो उससे और भी थोड़ा जल्दी भेजा जा सकता हैं. लेकिन अगर 4g नेटवर्क हैं तो उसका स्पीड सबसे ज्यादा तेज होता हैं. MMS सबसे ज्यादा प्रचलित फोटो भेजने के लिए ही हैं लेकिन इसका उपयोग अधिकतर लोग किसी भी तरह के वीडियो या ऑडियो भेजने के लिए भी करते हैं.

आजकल कहीं मैसेजिंग एप आ गए हैं जैसे कि फेसबुक, इंस्टाग्राम, व्हाट्सएप, स्नैपचैट जिससे कि किसी के पास वीडियो फोटो किसी तरह का ऑडियो या फाइल भेजने के लिए प्रयोग किया जाता हैं.

पहले जब कीपैड वाला मोबाइल फोन आता था तो उस पर सिर्फ टेक्स्ट मैसेज भेजा जाता था. उसके बाद कुछ मोबाइल ऐसे भी आए जिसमें कि टेक्स्ट मैसेज के साथ-साथ कुछ इमोजी और सिंबल भी भेजा जा सकता था.

लेकिन आजकल कई ऐसे स्मार्टफोन आ गए हैं जिससे कि फोटो वीडियो ऑडियो जिसे की एमएमएस कहा जा सकता हैं बहुत ही आसानी से किसी के पास भेजा जा सकता हैं.

एमएमएस किस डिवाइस से भेजा जा सकता

MMS भेजने का शुरुआत 2002 के आसपास किया गया था. लेकिन यह उस समय ज्यादा प्रचलित नहीं हो पाया. 2005 में अमेरिका में एमएमएस कैपेबल फोन लॉन्च किया गया और इसके कुछ ही समय के बाद इसका शुरुआत बहुत तेजी से होने लगा और इसका उपयोग लगभग हर जगह किया जाने लगा.

आज के समय में पूरे विश्व में लगभग 276.8 बिलियन लोग एमएमएस का उपयोग करते हैं. MMS डिवाइस से भेजा जा सकता हैं जिसमें यह सपोर्ट करता हैं. यह किसी भी तरह के मोबाइल से नहीं भेजा जा सकता हैं. आइए नीचे जानते हैं कि कौन-कौन से डिवाइस से एमएमएस का उपयोग किया जा सकता हैं.

  • मोबाइल फोन
  • पर्सनल कंप्यूटर
  • लैपटॉप
  • टेबलेट
  • स्मार्टफोन
  • हैंडहेल्ड डिवाइस

एमएमएस का लाभ

पहले हमें किसी को भी अगर किसी भी तरह का फोटो या फाइल देन होता था तो उसके लिए हमें उस व्यक्ति के पास जाना पड़ता था. जिसमें कि समय का बर्बादी भी होता था और परेशानी भी होता था. लेकिन एमएमएस की सुविधा से कहीं भी कितना भी दूर कुछ ही समय में किसी भी तरह के वीडियो ऑडियो फोटो किसी भी तरह का फाइल ग्रैफिक्स बहुत ही आसानी से भेज सकते हैं.

पहले जो भी मोबाइल आते तो उसमें सिर्फ और सिर्फ टेक्स्ट मैसेज ही भेजा जाता था. लेकिन आज के समय में जो भी स्मार्टफोन मोबाइल आ रहे हैं.

उसमें MMS भेजने का सुविधा रहता हैं. जिससे कि बहुत ही आराम हो गया हैं. S.M.S. भेजने के लिए उसमें 160 कैरेट का टेक्स्ट मैसेज  का लिमिट होता हैं. लेकिन इसमें इसका कोई भी लिमिटेशंस नहीं होता हैं. सिर्फ मोबाइल में इंटरनेट रहना चाहिए तो उससे कुछ भी भेज सकते हैं.

और साथ ही किसी भी तरह का फाइल भी अटैच कर सकते हैं. MMS की माध्यम से हम किसी भी तरह का डाटा किसी को भी सेंड कर सकते हैं और रिसीव भी कर सकते हैं. इससे फायदा एक यह भी हैं कि अगर हम लोग किसी व्यक्ति के पास किसी भी तरह का फोटो वीडियो फाइल भेज रहे हैं.

तो उस समय अगर दूसरे व्यक्ति के मोबाइल बंद हैं या इंटरनेट नहीं हैं तो भी सारे मैसेज सेफ रहता हैं और दूसरा व्यक्ति जब भी मोबाइल खुलेगा तो उसके पास वह सारे मैसेज चला जाता हैं.

एमएमएस से हानि

वैसे तो MMS से ज्यादातर लाभ ही हैं हानि बहुत कम ही हैं. लेकिन जो भी चीज हम लोग इस्तेमाल करते हैं उसमें कुछ ना कुछ हानि जरूर होता ही हैं तो इसमें अगर हम लोग किसी बड़ी फाइल को अटैच करके भेजते हैं तो उसको सेंड होने में ज्यादा समय लगता हैं.पहले जब S.M.S. भेजना होता था तो उसके लिए कोई भी एक्स्ट्रा इंटरनेट पैक नहीं भरवाना पड़ता था.

लेकिन MMS भेजने के लिए किसी भी मोबाइल स्मार्टफोन में इंटरनेट पैक होना जरूरी हैं. तभी किसी भी तरह का डाटा या फोटो वीडियो जो भी मैसेज भेजना हैं वह जा सकता हैं. MMS भेजने से हमारे डाटा चोरी होने का बहुत ही ज्यादा संभावना होता हैं. क्योंकि इसका सिक्योरिटी सुविधा बहुत ही कम होती हैं.

 

सारांश 

 MMS के माध्यम से हम लोग कुछ ही मिनटों में कितना भी दूर कोई बैठा हो उसके पास कोई जरूरी अगर फाइल हैं या फोटो वीडियो भेजना हो बहुत ही आसानी से भेज सकते हैं. किसी भी तरह के टेक्स्ट मैसेज भेजने के लिए इसमें कोई लिमिटेशंस नहीं रहता हैं.

आप लोगों को MMS का फुल फॉम से जुड़े कोई सवाल मन में हैं तो हमें कमेंट करके जरूर पूछें और अपनी दोस्त मित्रों को शेयर जरूर करें. ताकि यह जानकारी और भी लोगों के पास पहुंच सके.सोशल मीडिया मार्केटिंग क्‍या हैं

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

Leave a Comment