माउस का अविष्कार किसने किया था

माउस कंप्यूटर का एक प्रमुख पार्ट होता है। जिसके अविष्कार के बारे में भी जानना जरूरी है। इस लेख में हम लोग माउस का अविष्कार किसने किया था Mouse Ka Avishkar Kisne Kiya कि बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करेंगे।

माउस एक ऑप्टिकल डिवाइस है जिससे आसानी से कंप्यूटर को ऑपरेट किया जाता है। चाहे डेक्‍सटॉ कंप्‍यूटर हो या लैपटॉप हो दोनों जगह पर माउस का उपयोग करके आसानी से सिस्टम को ऑपरेट किया जाता है।

माउस एक कंप्यूटर का महत्वपूर्ण पार्ट्स होता है। जिसके द्वारा कंप्यूटर में किसी भी तरह के कार्य को करने के लिए माउस के द्वारा ऑपरेट किया जाता है। कंप्यूटर के स्क्रीन पर किसी भी तरह के इंफॉर्मेशन को इनपुट करने के लिए कंट्रोल करने के लिए माउस का इस्तेमाल किया जाता है।

इसलिए Mouse कंप्यूटर का इनपुट डिवाइस होता है। उसमें एक बॉल और दो बटन होता है। जिसके माध्यम से कंप्यूटर के मॉनिटर के स्क्रीन पर कर्सर को एक जगह से दूसरी जगह ले जाकर हाईलाइट, क्लिक या किसी भी शब्द को चयन करने के लिए प्रयोग किया जाता है।

माउस का अविष्कार किसने किया था

माउस का अविष्कार डगलस कार्ल एंजेलबर्ट ने किया था। इनके द्वारा वर्ष 1960 में कंप्यूटर Mouse का अविष्कार किया गया था। उसके बाद से टेक्नोलॉजी के नए उपकरण के रूप में माउस में कई प्रकार के और भी बेहतर तकनीक का उपयोग हुआ।

जिसमे कई तरह के उपकरणों का प्रयोग करते हुए उसके आकार एवं प्रकार के रूप परिवर्तित करके कई तरह के बनाए गए। जिस तरह हर रोज नए नए टेक्‍नोलॉजी का अविष्‍कार हो रहा हैं वेसे ही माउस का भी कई स्‍मार्ट और लेटेस्‍ट डिजाइन का अविष्‍कार हुुुआ हैं। डग्लस एंगेलबर्ट के द्वारा जो पहला Mouse का अविष्कार किया गया था, वह एक लकड़ी का बना हुआ था। जिसमें धातु के दो पहिए लगाए गए थे।

Mouse Ka Avishkar Kisne Kiya

उस माउस में पीछे की तरह एक वायर लगा हुआ था जिससे कंप्यूटर में कनेक्ट किया जाता था। माउस के द्वारा कंप्यूटर में किसी भी तरह के कार्य को किया जाता हैं। इसका कंप्‍यूटर में ऑपरेट या कंट्रोल करने के लिए इस्तेमाल किया जाता हैं।

वैसे जब डग्लस एंगेलबर्ट ने Mouse का अविष्कार किया, उस समय कंप्यूटर का आकार बहुत ही बड़ा होता था। वह कंप्यूटर लगभग 1 कमरों के बराबर का होता था। माउस का अविष्कार लगभग 1960 के दशक में ही किया था।

लेकिन उसका पेटेंट 20 सालों के बाद उन्‍होंने अपने नाम करवाया था। इसलिए डग्लस एंगेलबर्ट को माउस का जनक कहा जाता हैं। 1970 में Mouse में सबसे पहली बार 1 बॉल का इस्तेमाल बिल इंग्लिश नाम के इंजिनियर ने किया था।

उन्होंने डग्लस एंगेलबर्ट के द्वारा बनाया गया माउस से लकड़ी के पहिए को हटाकर एक बॉल लगा दिया। बिल इंग्लिश के द्वारा माउस प्रोटोटाइप का अविष्‍कार किया गया।

माउस का अविष्कार कब हुआ

वैसे तो अमेरिका के एक इंजीनियर और अविष्कारक डग्लस एंगेलबर्ट के द्वारा 1960 के दशक में माउस का अविष्कार किया गया था। लेकिन माउस का बाजार में बिक्री सबसे सबसे पहली बार 1981 में शुरू हुआ है।

उस समय जो माउस बाजार में बिक्री होने लगा उसमें एक बॉल के साथ साथ दो बटन का भी अविष्कार हो गया था। इसे सबसे पहली बार जेरॉक्स स्टार 8010 नाम के पर्सनल कंप्यूटर के साथ मार्केट में बिक्री शुरू हुआ। माइक्रोसॉफ्ट कंपनी के द्वारा सबसे पहली बार Mouse का बिक्री 1983 में शुरू किया गया।

डग्लस एंगेलबर्ट माउस के अविष्कारक के साथ-साथ और भी कई महत्वपूर्ण चीजों के अविष्कारक थे। उन्होंने सॉफ्टवेयर हाइपरटेक्स्ट, इंटरएक्टिव, कंप्यूटिंग आदि के साथ-साथ लगभग 45 अविष्कारक के रूप में जाने जाते हैं और उन्होंने उन सभी अविष्कार का पेटेंट अपने नाम भी करवाया था।

माउस नाम कैसे पड़ा

माउस कंप्यूटर का एक मेन पार्ट्स होता है। जोकि कंप्यूटर के स्क्रीन पर कर्सर को संकेत देता है। किसी भी तरह के इनपुट करने के लिए माउस के बटन का इस्तेमाल किया जाता है। इसमें जो बिच में बॉल होता हैं उसके द्वारा कंप्‍यूटर पर फाइल फोल्‍डर या स्‍क्रीन को उपर नीचे या दांए बाएं किया जाता हैं।

लेकिन इस डिवाइस का नाम Mouse कैसे पड़ा यह भी एक बहुत ही रोचक बात है। वैसे तो माउस को पॉइंटर, संगणक माउस आदि नामों से भी जाना जाता है। लेकिन इंग्लिश भाषा के साथ-साथ अन्य कई भाषाओं में भी इसे माउस के नाम से ही जानते हैं।

जब इस माउस को बनाया गया तो इसका आकार एक चूहे के जैसा था। ऐसा लगता था जैसे कोई चूहा दुबक कर बैठा हो और उसके पीछे जो वायर लगा था वह चूहे के पूंछ जैसा लगता था। इसलिए इस पर गहन रिसर्च के बाद इस डिवाइस का नाम Mouse रखा गया। वैसे जब शुरू शुरू में माउस का अविष्कार हुआ उस समय इसका नाम बग रखा गया था।

लेकिन बाद में कई रिसर्च के बाद इसका नाम माउस रखा गया। जो कि इसी नाम से पूरे विश्व में प्रचलित हो गया। वैसे तो आज के समय में कई वायरलेस माउस का भी अविष्कार हो गया है। जोकि ब्लूटूथ के द्वारा कंप्यूटर से कनेक्ट होकर ऑपरेट करता है।

माउस का फुल फॉर्म

अमेरिका के इंजीनियर और कई चीजों के अविष्कारक डग्लस एंगेलबर्ट के द्वारा माउस का अविष्कार किया गया था। माउस का फुल फॉर्म Manually Operated Utility For Selecting Equipment होता है।

MManually
OOperated
UUtility For
SSelecting
EEquipment

इसका हिन्‍दी मैनुअल रूप से उपयोग करने वाला चयन करने वाला उपकरण होता हैं। Mouse को हथेली से पकड़कर कंप्‍यूटर को संचालित किया जाता हैं। माउस को पॉइंटर,पॉइंटिग डिवाइस या माइस के नाम से भी जाना जाता हैं।

माउस के अविष्कारक

माउस के अविष्कारक का नाम डग्लस कार्ल एंगेलबर्ट या डग्लस कार्ल एंजेलबर्ट था। उनका जन्म 30 जनवरी 1925 में अमेरिका के पोलैंड में हुआ था। जिनका मृत्यु 2 जुलाई 2013 में हुआ। डग्लस कार्ल एंगेलबर्ट के पिता का नाम लुईस एंगेल्बर्ट और मां का नाम ग्लेडिस शेर्लोट  अमेलिया मुनसन एंगेल्बर्ट था।

उनके पिता एक रेडियो मैकेनिक और उनकी मां एक ग्रहण थी। डग्लस एंगेलबर्ट का विवाह बेलार्ड से हुआ था। लेकिन उनका 1997 में मृत्यु हो गया। जिसके बाद डग्लस एंगेलबर्ट ने 2008 में दूसरा विवाह किया। डग्लस एंगेलबर्ट ओरेगॉन स्टेट यूनिवर्सिटी से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई की थी।

अपने पढ़ाई के बाद उन्होंने दूसरे विश्वयुद्ध में भी रडार टेक्निशियन का काम किया था। इसके बाद उन्होंने कई जगहों पर कार्य किया। इसी तरह कई तरह के प्रयोग करते हुए उन्हेंने 1960 के दशक में उन्होंने सबसे पहला Mouse का अविष्कार किया।

इसके साथ-साथ उन्होंने लगभग 40 से 45 अविष्कार किए। जिसका पेटेंट उन्‍होंने अपने नाम करवाया था। 1968 में उन्होंने माउस के प्रदर्शन के लिए सैन्‍य फ्रांसिस्को में पहला सार्वजनिक प्रदर्शन किया।

डग्लस एंगेलबर्ट को मिले पुरस्कार

इन्होंने कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय बर्कले से डॉक्टरेट की उपाधि प्राप्त की थी। डग्लस के द्वारा कई महान अविष्कार किए गए हैं। लेकिन सबसे ज्यादा उन्हें माउस के अविष्कारक के रूप में जाना जाता है।

उनकी इन्हीं महान अविष्कारकों के लिए कई पुरस्कार और मेडल से नवाजा गया है। 1997 में लेमेल्सन एमआईटी पुरस्कार दिया गया। 2000 में उन्‍हें नेशनल मेडल फॉर टेक्नोलॉजी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

FAQ

माउस का अविष्कार किसने किया?

वैसे तो माउस आज के समय में वायरलेस, लेजर आदि कई तरह के आ गए हैं। लेकिन सबसे पहला Mouse डग्लस कार्ल एंगेलबर्ट के द्वारा 1960 किया गया था। जो कि एक लकड़ी का बना हुआ था और उसमें दो पहीए लगे थे जो एक धातु के बने हुए थे। 

वायरलेस माउस का अविष्कार किसने किया?

वायरलेस माउस का अविष्कार 1991 में लांजीटेक के द्वारा किया गया।

पहला लेजर माउस बाजार में कब आया।?

2004 में सबसे पहली बार बाजार में लेजर माउस का बिक्री शुरू हुआ। इसका बिक्री लंगीटेक कंपनी के द्वारा सबसे पहली बार किया गया।

माउस बॉल का अविष्कार किसने किया?

एंगेलबर्ट के द्वारा बनाए गए Mouse में सिर्फ धातु के बने दो पहिए थे। लेकिन 1970 में बिल इंग्लिश के द्वारा माउस में बॉल का अविष्कार किया गया। 1981 में सबसे पहली बार बाजार में माउस का बिक्री होने लगा। जिसमें बॉल और दो बटन का इस्तेमाल किया गया था।

सारांश

आज के समय में कंप्यूटर का इस्तेमाल हर क्षेत्र में जरूरी हो गया है। हर कोई अपने कार्यों को आसानी से करने के लिए और जल्दी करने के लिए कंप्यूटर लैपटॉप का इस्तेमाल करने लगे है। लेकिन कंप्यूटर पर किसी भी तरह के कार्य करने के लिए कंप्यूटर को ऑपरेट करने के लिए माउस सबसे महत्वपूर्ण डिवाइस है।

बिना Mouse के कंप्यूटर लैपटॉप पर काम करना मुश्किल हो जाता है। इस Mouse का अविष्कार 1960 के दशक में किया गया। तब से लेकर अब तक कई तरह के अलग-अलग प्रयोग करके नए-नए टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करके कई तरह के माउस का अविष्कार हो गया है।

वैसे आज के समय में बिना वायर का वायरलेस Mouse का इस्तेमाल सबसे ज्यादा हो रहा है। जो कि कहीं रखकर ब्लूटूथ के द्वारा कनेक्ट करके कंप्यूटर या लैपटॉप को ऑपरेट कर सकते हैं।

इस लेख में माउस का अविष्कार किसने किया था और कब किया था के बारे में पूरी जानकारी दी गई है। फिर भी अगर इस जानकारी से किसी भी तरह का सवाल है तो कमेंट करके जरूर पूछें।

Leave a Comment