नीट का फुल फॉर्म क्या होता हैं

नीट क्या होता हैं NEET ka Full Form नीट क्या हैं ऐसा सवाल जिस स्टूडेंट को मेडिकल लाइन में अपना कैरियर बनाना हैं वह जरूर इसके बारे में इंटरनेट सर्च करते होंगे तो उनको इस लेख में नीट के बारे में नीट की परीक्षा देने के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए.Neet full form in hindi के बारे में पूरी जानकारी जरूर मिलेगी.

आज के समय में मेडिकल के क्षेत्र में बहुत से छात्रों को रूचि है या यह कई छात्रों के लिए प्रोफेशनल कोर्स हो गया है मेडिकल क्षेत्र में बहुत ही ज्यादा मांग भी है क्योंकि कहा जाता है की धरती पर दूसरा भगवान डॉक्टर होते हैं डॉक्टर अपने हर एक पेशेंट के लिए बहुत ही जिम्मेदारी से कार्य करते हैं तो मेडिकल क्षेत्र में जाने के लिए पहला एमबीबीएस का कोर्स करना पड़ता है लेकिन एमबीबीएस का कोर्स करने से पहले एंट्रेंस एग्जाम हर स्टूडेंट को देना पड़ता है जिसे नीट के नाम से जाना जाता है.

भारत में एक बेहतर चिकित्सा एवं डेंटिस्ट के क्षेत्र में पढ़ाई करने के लिए मेडिकल प्रवेश परीक्षा पहले देना पड़ता है। आइए इस लेख में इसके लिए क्या योग्यता होनी चाहिए क्या उम्र होनी चाहिए यह कोर्स कितने साल का होता हैं नीट का एग्जाम कितने प्रकार का होता हैं के बारे में जानते हैं. एमए का फुल फॉर्म क्या होता हैं

Neet full form in hindi 

कई ऐसे छात्र होते हैं जिनका डॉक्टर बनना एक सपना होता हैं तो अपने सपने को अगर साकार करना हैं तो उसके लिए बहुत ही ज्यादा मेहनत और परिश्रम करना पड़ता हैं. इस परीक्षा में किस छात्र को किस तरह का नंबर आया हैं उसी के आधार पर उसे किसी भी सरकारी या प्राइवेट मेडिकल कॉलेज में मेडिकल कोर्सेज के लिए एडमिशन मिल सकता हैं.

आजकल कई ऐसे छात्र हैं जो कि मेडिकल लाइन में अपना कैरियर बनाना चाहते हैं क्योंकि वर्तमान समय में मेडिकल फील्ड में छात्रों का कैरियर बनाने के लिए बहुत ही ज्यादा बढ़ोतरी हो गया हैं. बीए का फुल फॉर्म क्या होता हैं

Neet full form in hindiलेकिन उन्हें यह पता नहीं होता हैं कि मेडिकल की पढ़ाई करने के लिए पहले कौन सा एंट्रेंस एग्जाम देना पड़ता हैं उसकी तैयारी कैसे की जा सकती हैं यह मेडिकल की पढ़ाई करने के लिए एक तरह का एंट्रेंस एग्जाम होता हैं

नीट का फुल फॉर्म

  • N:-National
  • E:-Eligibility cum
  • E:-Entrance
  • T:-Test

नीट का फुल फॉर्म नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट होता हैं हिंदी में राष्ट्रीय पात्रता प्रवेश परीक्षा कहा जाता हैं तो इसके नाम से ही पता चलता हैं कि प्रवेश परीक्षा यानी कि यह किसी कोर्स को करने के लिए उस में प्रवेश लेने के लिए परीक्षा दिया जाता हैं.

Neet kya hai

नीट एक तरह का एंट्रेंस एग्जाम हैं जो कि सरकारी या प्राइवेट मेडिकल कॉलेज में एडमिशन लेने के लिए राष्ट्रीय लेवल का प्रवेश परीक्षा होता हैं. अगर किसी छात्र को मेडिकल लाइन में जाने के लिए मेडिकल के किसी भी कोर्स जैसे एमबीबीएस बीडीएस आयुष आदि का कोर्स करना हैं तो उसके लिए उस में एडमिशन लेने के लिए पहले इसका एग्जाम पास करना पड़ता हैं.

उसके बाद ही मेडिकल के कोर्स करने के लिए एडमिशन लिया जा सकता हैं.नीट का एग्जाम बहुत ही हाई लेवल का परीक्षा होता हैं इसको पास करने के लिए बहुत ही ज्यादा परिश्रम और मेहनत के साथ पढ़ाई करना पड़ता हैं तभी जाकर के कोई भी स्टूडेंट नीट की परीक्षा क्वालीफाई कर सकता हैं.

नीट एग्जाम कितने प्रकार का होता हैं

किसी भी छात्र को मेडिकल लाइन में अगर अपना कैरियर बनाना हैं और उन्हें परीक्षा पास करना हैं तो उसमें दो तरह से परीक्षा होता हैं.

NEET UG:- यूजी एंट्रेंस एग्जाम का फुल फॉर्म नेशनल एलिजिबिलिटी एंट्रेंस टेस्ट अंडर ग्रेजुएट होता हैं इसमें 12वीं के बाद की यह स्नातक डिग्री होता हैं जिस छात्र को एमबीबीएस और बीडीएस का कोर्स करना होता हैं वह नीट यूजी का ही entrance एग्जाम देते हैं.

Neet PG :- एग्जाम पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स हैं NEET पीजी का फुल फॉर्म नेशनल एलिजिबिलिटी कॉम एंट्रेंस टेस्ट पोस्ट ग्रेजुएट होता हैं यह परीक्षा जिस छात्र को एमएस और एमडी करना होता हैं वो देते हैं.

Eligibility For Neet

Neet का एग्जाम किसी भी मेडिकल लाइन में जाने के लिए मेडिकल कोर्स को करने के लिए दिया जाता हैं इसके लिए स्‍टूडेंट में योग्‍यता होनी चाहिए.

  • यह एग्जाम देने के लिए किसी भी Student को ट्वेल्थ का परीक्षा पास होना चाहिए
  • ट्वेल्‍थ में बायोलॉजी, कमेस्‍ट्री,फिजीक्‍स,अंग्रेजी और जैव प्रौद्योगिकी इन सारे सब्‍जेक्‍ट में 50 परसेंट नंबर होने चाहिए.
  • ट्वेल्थ में कम से कम 50 परसेंट मार्क्स होना बहुत ही जरूरी हैं उसके बाद ही इस का परीक्षा छात्र दे सकता हैं
  • जो आरक्षण कोटे से हैं उन्‍हें कुछ छुट मिलता हैं उनका मार्क्‍स कम से कम 40 परसेंट होना चाहिए
  • जिस छात्र को इसका परीक्षा देना हैं ट्वेल्थ में फिजिक्स केमिस्ट्री बायोलॉजी का सब्जेक्ट रहना बहुत ही जरूरी हैं.
  • अगर किसी छात्र को इस एग्जाम का फॉर्म भरना हैं तो उनका आधार कार्ड होना जरूरी हैं
  • इस परीक्षा का फॉर्म ऑनलाइन भरा जाता हैं.
  • स्‍टूडेंट को भारत का नागरिक होना चाहिए.

नीट का एग्जाम में क्या उम्र होनी चाहिए

यह परीक्षा देने के लिए किसी भी छात्र या छात्रा के लिए कुछ उम्र सिमा तय किया गया हैं जैसे कि

  • Student का उम्र सीमा कम से कम 17 वर्ष और ज्यादा से ज्यादा 25 वर्ष होना चाहिए
  • इसमें भी जो आरक्षण कोटि में आते हैं उनके लिए कुछ छूट जरूर होता हैं.
  • जो स्टूडेंट ओबीसी एससी एसटी कोटे से आते हैं उनके उम्र में 5 वर्ष की छूट मिलता हैं.
  • नीट का कोर्स 1 साल का होता हैं.

सिलेबस

किसी भी कोर्स को करने के लिए पहले उसके सिलेबस के बारे में जानना जरूरी होता है कि उस कोर्स में या किसी एंट्रेंस एग्जाम को देने के लिए उस एंट्रेंस एग्जाम में किस किस सब्जेक्ट का तैयारी करना पड़ता है किस सब्जेक्ट में कितना अंक आना चाहिए कौन सा सब्जेक्ट सबसे जरूरी है तो नीट का एग्जाम देने के लिए कुछ सब्जेक्ट जरूरी है जैसे कि

  • 12वीं में बायोलॉजी या बायो टेक्नोलॉजी फिजिक्स केमिस्ट्री जैव प्रौद्योगिकी सब्जेक्ट होना जरूरी है। इन सारे विषयों में कम से कम 50 परसेंट मार्स भी होना जरूरी है।
  • नीट करने के लिए ट्वेल्थ में मैथ सब्जेक्ट का होना कोई जरूरी नहीं होता है।
  • इसमें सबसे जरूरी केमिस्ट्री बायोलॉजी या वनस्‍पति विज्ञान फिजिक्स और जैव प्रौद्योगिकी होता है
  • इन्हीं विषयों पर नीट का एंट्रेंस एग्जाम निर्भर करता है इन्हीं सब्जेक्ट से उनमें जो भी क्वेश्चन होता है वह आता है।

NEET Syllabus

Biology ( or Zoology)

Chemistry

Physics

Biotechnology

नीट कैसे करें

  • नीट का परीक्षा देने के लिए किसी भी छात्र को फिजिक्स केमेस्ट्री बायोलॉजी के साथ-साथ इंग्लिश का भी तैयारी बहुत ही अच्छे से करना पड़ता हैं.
  • इस परीक्षा को अगर पास करना हैं तो student  को किसी भी कोचिंग सेंटर से पढ़ाई करना चाहिए.
  • नीट में क्या क्या क्वेश्चन आता हैं.इसमें किस चीज का पढ़ाई होता हैं इसके बारे में पूरी जानकारी रखना आवश्‍यक हैं.
  • यह परीक्षा हर साल एक बार जरूर होता हैं
  • इस परीक्षा में हिंदी और इंग्लिश दोनों भाषा का ऑप्शन रहता हैं
  • जिस छात्र को जिस भाषा में परीक्षा देना हैं अपना ऑप्शन चुन सकता हैं.

एग्जाम का पैटर्न

जो स्टूडेंट इसका तैयारी कर रहे हैं उन्हें यह भी जानना जरूरी है कि उस एग्जाम में कितना समय होता है उस एग्जाम का पैटर्न कैसा होता है तब ही उन्हें इस एग्जाम को देने में ज्यादा मदद मिल सकता है उसका बेहतर तैयारी कर सकते हैं

  • यह परीक्षा ऑफलाइन परीक्षा होता है
  • इस परीक्षा में 3 घंटे का समय मिलता है।
  • इसका एग्जाम देने के लिए बायोलॉजी फिजिक्स केमिस्ट्री या इसके अलावा जो भी जो भी सब्जेक्ट होते हैं यानी कि नीट में सबसे महत्वपूर्ण चार सब्जेक्ट होते हैं और उन सभी सब्जेक्ट से 180 प्रश्न पूछे जाते हैं।
  • हर सब्जेक्ट में 45 क्वेश्चन होते हैं और हर एक क्वेश्चन के चार ऑप्शन होते हैं
  • उनमें सही ऑप्शन का चुनाव करने पर 4 अंक प्राप्त होता है
  • इस परीक्षा में नेगेटिव मार्किंग भी होता है अगर कोई भी एक क्वेश्चन का आंसर गलत हो गया तो उसमें एक नंबर कट जाता है।
  • इसका प्रश्न पत्र लगभग 13 भाषाओं में होता है जिस स्टूडेंट को जिस भाषा में देना है अपनी मातृभाषा में इस परीक्षा को दे सकता है जैसे कि हिंदी अंग्रेजी मराठी गुजराती असमिया उड़िया बंगाली तेलुगू पंजाबी उर्दू तमिल कन्नड़ मलयालम आदि।
  • इसमें सभी क्वेश्चन MCQ ही होता है।
  • नीट का जो प्रश्नपत्र होता है उस पर नीला बलपॉइंट पेन से हर क्वेश्चन का आंसर पर टिक लगाना होता है।
  • सभी सब्जेक्ट का अंक मिलाकर 720 अंकों का नीट का परीक्षा प्रश्न पत्र होता है।

NEET Exam Pattern

परीक्षा का प्रकार 

ऑफलाइन

एक्‍जाम का समय या अवधि

3 घंटे

सब्‍जेक्‍ट

बायोलॉजी या वनस्‍पति विज्ञान,केमिस्‍ट्री,फिजिक्‍स,जैव प्रौद्योगिकी

भाषा

हिन्‍दी,अंग्रेजी,गुजराती,कन्‍नड़,बंगाली,तमिल,तेलगू,उर्दू,

मलयालमी,पंजाबी आदि।

सभी प्रश्‍न

180

सभी प्रश्‍नों के प्रकार

MCQ

एक सब्‍जेक्‍ट में प्रश्‍न

45 प्रश्‍न

हर प्रश्‍नों के अंक

4 अंक

प्रश्‍न का गलत उत्‍तर

1 नेगेटिव मार्किंग

नीट का शुरुआत कब हुआ

पहले किसी भी छात्र को अगर मेडिकल लाइन में जाने के लिए एमबीबीएस एमडी आदि मेडिकल कोर्सेस करना होता था तो उसके लिए उन्हें बहुत ही परेशानी होती थी क्योंकि मेडिकल की पढ़ाई के लिए जो एंट्रेंस एग्जाम होते थे हर कॉलेज अपना अलग एग्‍जाम होता था इसमें कई बार छात्रों के साथ धोखाधड़ी भी होता था.

कई छात्र पैसे देकर एग्जाम पास कर लेते थे तो इस तरह के करप्शन से बचने के लिए 2013 में NEET यानी कि नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट शुरू किया गया यह परीक्षा पूरे भारत में किसी भी कॉलेज में एडमिशन लेने के लिए दिया जाता हैं.

इस वजह से अब छात्रों के साथ कोई भी करेक्शन नहीं होता हैं जो स्टूडेंट जितना मन लगाकर पढ़ाई करके यह एग्जाम देता हैं उसी के अनुसार उनका यह परीक्षा सफल होता हैं.

FAQ 

नीट क्या है

यह एक प्राइवेट या सरकारी मेडिकल कॉलेज में एडमिशन लेने से पहले एक राष्ट्रीय लेवल का एंट्रेंस एग्जाम होता है।

नीट में प्रमुख सब्जेक्ट कौन कौन होते हैं

यह एक मेडिकल पढ़ाई करने से पहले एंट्रेंस एग्जाम है तो इसमें सबसे जरूरी प्रमुख सब्जेक्ट चार होते हैं।

  • बायोलॉजी या वनस्पति विज्ञान
  • फिजिक्स
  • केमिस्ट्री
  • जैव प्रौद्योगिकी।

नीट के एग्जाम के लिए कितना पर्सेंट मार्क्स होना चाहिए

यह एग्जाम देने के लिए ट्वेल्थ में कम से कम 50% मार्क्स होना जरूरी है इसमें भी जो आरक्षण कोटे के हैं उन्हें कम से कम 40 परसेंट मार्क्स होना जरूरी है।

नीट के एग्जाम के लिए उम्र कितना होना चाहिए

इस एग्जाम के लिए कम से कम 17 वर्ष और ज्यादा से ज्यादा 25 वर्ष उम्र सीमा होना चाहिए और जो ओबीसी एससी एसटी होते हैं उन्हें 5 वर्ष का छूट मिलता है।

नीट कितने साल का कोर्स होता है।

1 साल का कोर्स होता है।

नीट एग्जाम का शुरुआत कब हुआ

2013 में नेशनल एलिजिबिलिटी टेस्ट शुरू किया गया।

सारांश

नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट कोर्स बीडीएस एमबीबीएस बीएचएमएस में एडमिशन लेने के लिए पहले पास करना पड़ता हैं उसके बाद ही कोई भी छात्र मेडिकल लाइन में अपना कैरियर बना सकता हैं.

नीट क्या हैं नीट का एग्जाम देने के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए क्या उम्र होनी चाहिए. NEET का कोर्स कितने साल का होता हैं  यह सारी जानकारी इस लेख में दी गई हैं आप लोगों को यह जानकारी कैसा लगा कृपया हमें कमेंट करके जरूर बताएं और शेयर जरूर करें.पैसा कैसे कमाए

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

Leave a Comment