NEET ka full form – नीट का फुल फॉर्म क्या होता हैं

क्या होता हैं नीट क्या हैं ऐसा सवाल जिस स्टूडेंट को मेडिकल लाइन में अपने कैरियर चुनना हैं वह जरूर नीट पर सर्च करते होंगे तो उनको इस लेख में नीट के बारे में नीट की परीक्षा देने के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए.

नीट की परीक्षा किस पढ़ाई के लिए दिया जाता हैं Neet full form in hindi के बारे में पूरी जानकारी जरूर मिलेगी.

आइए हम लोग इस लेख में नीट क्या हैं नीट का फॉर्म भरने के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए क्या उम्र होनी चाहिए नीट का कोर्स कितने साल का होता हैं नीट का एग्जाम कितने प्रकार का होता हैं के बारे में जानते हैं.

Neet ka full form

कई ऐसे छात्र होते हैं जिनका डॉक्टर बनना एक सपना होता हैं तो अपने सपने को अगर साकार करना हैं तो उसके लिए बहुत ही ज्यादा मेहनत और परिश्रम करना पड़ता हैं. नीट के परीक्षा में किस छात्र को किस तरह का नंबर आया हैं उसी के आधार पर उसे किसी भी सरकारी या प्राइवेट मेडिकल कॉलेज में मेडिकल कोर्सेज के लिए एडमिशन मिल सकता हैं.

आजकल कई ऐसे छात्र हैं जो कि मेडिकल लाइन में अपना करियर बनाना चाहते हैं क्योंकि वर्तमान समय में मेडिकल फील्ड में छात्रों का कैरियर बनाने के लिए बहुत ही ज्यादा बढ़ोतरी हो गया हैं.

Neet full form in hindi

लेकिन उन्हें यह पता नहीं होता हैं कि मेडिकल की पढ़ाई करने के लिए पहले कौन सा एंट्रेंस एग्जाम देना पड़ता हैं उसकी तैयारी कैसे की जा सकती हैंनीट मेडिकल की पढ़ाई करने के लिए एक तरह का इंट्रेंस एग्जाम होता हैं नीट का फुल फॉर्म National Eligibility Cum Entrance test होता हैं.

  • N:-National
  • E:-Eligibility cum
  • E:-Entrance
  • T:-Test

 

Neet full form in hindi

इंग्लिश में नीट का फुल फॉर्म नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट होता हैं हिंदी में राष्ट्रीय पात्रता प्रवेश परीक्षा कहा जाता हैं तो इसके नाम से ही पता चलता हैं कि प्रवेश परीक्षा यानी कि यह किसी कोर्स को करने के लिए उस में प्रवेश लेने के लिए परीक्षा दिया जाता हैं.

Neet kya hai

नीट एक तरह का एंट्रेंस एग्जाम हैं जो कि सरकारी या प्राइवेट मेडिकल कॉलेज में एडमिशन लेने के लिए राष्ट्रीय लेवल का प्रवेश परीक्षा होता हैं. अगर किसी छात्र को मेडिकल लाइन में जाने के लिए मेडिकल के किसी भी कोर्स जैसे एमबीबीएस बीडीएस आयुष आदि का कोर्स करना हैं तो उसके लिए उस में एडमिशन लेने के लिए पहले NEET का एग्जाम पास करना पड़ता हैं.

उसके बाद ही मेडिकल के कोर्स करने के लिए एडमिशन लिया जा सकता हैं.नीट का एग्जाम बहुत ही हाई लेवल का परीक्षा होता हैं इसको पास करने के लिए बहुत ही ज्यादा परिश्रम और मेहनत के साथ पढ़ाई करना पड़ता हैं तभी जाकर के कोई भी स्टूडेंट नीट की परीक्षा क्वालीफाई कर सकता हैं.

नीट का शुरुआत कब हुआ

पहले किसी भी छात्र को अगर मेडिकल लाइन में जाने के लिए एमबीबीएस एमडी आदि मेडिकल कोर्सेस करना होता था तो उसके लिए उन्हें बहुत ही परेशानी होती थी क्योंकि मेडिकल की पढ़ाई के लिए जो एंट्रेंस एग्जाम होते थे हर कॉलेज अपना अलग एग्‍जाम करवाता था इसमें कई बार छात्रों के साथ धोखाधड़ी भी होता था.

कई छात्र पैसे देकर एग्जाम पास कर लेते थे तो इस तरह के करप्शन से बचने के लिए 2013 में NEET यानी कि नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट शुरू किया गया यह परीक्षा पूरे भारत में किसी भी कॉलेज में एडमिशन लेने के लिए दिया जाता हैं.

इस वजह से अब छात्रों के साथ कोई भी करेक्शन नहीं होता हैं जो स्टूडेंट जितना मन लगाकर पढ़ाई करके यह एग्जाम देता हैं उसी के अनुसार उनका यह परीक्षा सफल होता हैं.

नीट एग्जाम कितने प्रकार का होता हैं

किसी भी छात्र को मेडिकल लाइन में अगर अपना कैरियर बनाना हैं और उन्हें परीक्षा पास करना हैं तो उसमें दो तरह से परीक्षा होता हैं.

NEET UG:- यूजी एंट्रेंस एग्जाम का फुल फॉर्म नेशनल एलिजिबिलिटी एंट्रेंस टेस्ट अंडर ग्रेजुएट होता हैं इसमें 12वीं के बाद की यह स्नातक डिग्री होता हैं जिस छात्र को एमबीबीएस और बीडीएस का कोर्स करना होता हैं वह नीट यूजी का ही entrance एग्जाम देते हैं.

Neet PG :- एग्जाम पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स हैं NEET पीजी का फुल फॉर्म नेशनल एलिजिबिलिटी कॉम एंट्रेंस टेस्ट पोस्ट ग्रेजुएट होता हैं यह परीक्षा जिस छात्र को एमएस और एमडी करना होता हैं वो देते हैं.

नीट का एग्जाम देने के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए

Neet का एग्जाम किसी भी मेडिकल लाइन में जाने के लिए मेडिकल कोर्स को करने के लिए दिया जाता हैं नीट का एग्जाम देने के लिए किसी भी Student को ट्वेल्थ का परीक्षा पास होना चाहिए और ट्वेल्थ में कम से कम 50 परसेंट मार्क्स होना बहुत ही जरूरी हैं.

उसके बाद ही NEET का परीक्षा छात्र दे सकता हैं जिस छात्र को NEET का परीक्षा देना हैं ट्वेल्थ में फिजिक्स केमिस्ट्री बायोलॉजी का सब्जेक्ट रहना बहुत ही जरूरी हैं. अगर किसी छात्र को नीट एग्जाम का फॉर्म भरना हैं तो उनका आधार कार्ड होना जरूरी हैं इस परीक्षा का फॉर्म ऑनलाइन भरा जाता हैं.

नीट का एग्जाम में क्या उम्र होनी चाहिए

NEET की परीक्षा देने के लिए किसी भी Student का उम्र सीमा 17 वर्ष कम से कम और ज्यादा से ज्यादा 25 वर्ष होना चाहिए और इसमें भी जो आरक्षण कोटि में आते हैं उनके लिए कुछ छूट जरूर होता हैं. जो स्टूडेंट ओबीसी एससी एसटी कोटे से आते हैं उनके उम्र में 5 वर्ष की छूट मिलता हैं.नीट का कोर्स 1 साल का होता हैं.

नीट कैसे करें

नीट का परीक्षा देने के लिए किसी भी छात्र को फिजिक्स केमेस्ट्री बायोलॉजी के साथ-साथ इंग्लिश का भी तैयारी बहुत ही अच्छे से करना पड़ता हैं. इस परीक्षा को अगर पास करना हैं तो student  को किसी भी कोचिंग सेंटर से पढ़ाई करना चाहिए. नीट में क्या क्या क्वेश्चन आता हैं.

नीट में किस चीज का पढ़ाई होता हैं इसके बारे में पूरी जानकारी रखना आवश्‍यक हैं. यह परीक्षा हर साल एक बार जरूर होता हैं इस परीक्षा में हिंदी और इंग्लिश दोनों भाषा का ऑप्शन रहता हैं जिस छात्र को जिस भाषा में परीक्षा देना हैं अपना ऑप्शन चुन सकता हैं.

ये भी पढ़े

सारांश

NEET यानी कि नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट कोर्स बीडीएस एमबीबीएस बीएचएमएस में एडमिशन लेने के लिए पहले पास करना पड़ता हैं उसके बाद ही कोई भी छात्र मेडिकल लाइन में अपना कैरियर बना सकता हैं.

इस लेख में नीट का फुल फॉर्म क्या होता हैं नीट क्या हैं नीट का एग्जाम देने के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए क्या उम्र होनी चाहिए. NEET का कोर्स कितने साल का होता हैं यह सारी जानकारी इस लेख में दी गई हैं आप लोगों को यह लेख कैसा लगा कृपया हमें कमेंट करके जरूर बताएं और शेयर जरूर करें.

Leave a Comment