सफल जीवन का 16 सूत्र, जीवन जीने के 16 सूत्र

सफल जीवन का सूत्र Saphal jivan ka sutra जीवन तो हर कोई जीता है लेकिन जीवन जीने का एक सूत्र होना चाहिए एक तरीका होना चाहिए तो जीवन जीने का सही सूत्र क्या होता है अगर जानना चाहते हैं तो इस लेख को पूरा जरूर पढ़ें. 

कहा जाता है कि जीवन सुखमय बनाने के लिए सुखी Jivan जीने के लिए हर व्यक्ति के लिए भावना उपयोगिता और कर्तव्य महत्वपूर्ण होता है क्योंकि किसी भी संबंध को बनाए रखने के लिए उपयोगिता जरूरी हैं.

अपने परिवार को मजबूत बनाने के लिए सही भावना होना चाहिए और अपने परिवार में घर में समाज में सगे संबंधियों में सच्चाई के साथ समन्वय बनाने के लिए सही कर्तव्य करना चाहिए तो Jivan जीने के लिए 16 तरीकों के बारे में इस लेख में आइए नीचे विस्तार से जानते हैं. जीवन क्या हैं

सफल जीवन का 16 सूत्र 

कई लोग ऐसे होते हैं कि अपने Jivan को सुखमय बनाने के लिए पुण्य कमाने के लिए भगवान का पूजा पाठ करते हैं प्रवचन आदि सुनते हैं लेकिन अगर कोई प्रवचन भी सुनता है भगवान का पूजा करता है और अपने मन में लालच बनाए रखता है दूसरों में गलतियां निकालता है.

किसी भी समस्या का समाधान करने में सक्षम नहीं होता है. अपनी इच्छाओं पर नियंत्रण नहीं रख सकता है. उस व्यक्ति के अंदर अहंकार भरा रहता है. तो ऐसे व्यक्ति का जीवन कभी भी सुखमय नहीं हो सकता है. 

Saphal jivan ka sutra

किसी भी कार्य को बिना सोचे समझे करने लगते हैं. अपनी भावना को सही नहीं बनाते सही कर्तव्य नहीं करते हैं तो ऐसे व्यक्ति का Jivan नर्क हो जाता है. Jivan को सुखमय बनाने के लिए सुखी जीवन जीने के लिए 16 सूत्र नीचे विस्तार से एक-एक करके जानते हैं.सकारात्मक सोच जीवन को बनाए अनमोल

तन मन को स्वस्थ रखें

कहा जाता है कि सबसे सुख निरोगी काया तो जीवन को सुखमय बनाने के लिए सुख से जीने के लिए सबसे जरूरी है कि अपने तन और मन को हमेशा स्वस्थ रखें स्वक्ष रखें जब शरीर स्वस्थ रहेगा तभी जीवन भी खुशी से व्यतीत होगा.

इसलिए अपने शरीर को स्वस्थ बनाए रखने के लिए सही आहार लेना चाहिए मन में किसी भी व्यक्ति के प्रति द्वेश नहीं रखना चाहिए मन को स्वस्थ रखना चाहिए तभी जीवन स्वस्थ रहेगा. 

किसी भी समस्याओं को समझाने के लिए चुनौतियों का सामना करने के लिए शरीर में शक्ति की आवश्यकता होती है बुद्धि की आवश्यकता होती है इसलिए नियमित रूप से पौष्टिक आहार के साथ-साथ अपने शरीर को निर्मल और स्वच्छ बनाने के लिए व्यायाम साधना करना जरूरी है.

समस्याओं का सामना करें

हर व्यक्ति के जीवन में कभी न कभी कोई न कोई समस्या जरूर होती है क्योंकि जब Jivan है तो समस्या उसमें जरूर आएगी क्योंकि समस्याओं से ही जीवन में आगे बढ़ने के लिए कुछ न कुछ सिखा जाता है तो समस्याओं का सामना डट कर करना चाहिए. अपने जीवन में एक उद्देश्य बनाना चाहिए संघर्ष करना चाहिए और किसी भी समस्या का सामना आत्मविश्वास के साथ हंसकर मुस्कुरा कर करने से जीवन हमेशा सुखी रहता है.

हमेशा आने वाली चुनौतियों का सामना करने के लिए तैयार रहना चाहिए कई लोग ऐसे होते हैं कि छोटी-छोटी समस्याओं से अपने जीवन से दुखी हो जाते हैं, निराश हो जाते हैं. 

उनका Jivan दुखमय हो जाता है और जो व्यक्ति हौसला के साथ आत्मविश्वास के साथ चुनौतियों का सामना करने के लिए हमेशा तैयार रहते हैं वह हमेशा सुखी रहते हैं.हिंदी भाषा की लिपि क्या हैं

आत्मविश्वास बनाए रखें

जब भी किसी कार्य को करने जाते हैं तो ऐसा  सोचते हैं कि यह कार्य कर रहे हैं तो सफल होगा या नहीं होगा और दुखी हो जाते हैं लेकिन अपने आप में दृढ़ संकल्प आत्मविश्वास बना कर के अगर कोई कार्य किया जाए.

तो वह कार्य कभी भी असफल नहीं हो सकता है अपने जीवन को खूबसूरत बनाने के लिए शांति चिंता निराशा तनाव और दुखों से बचाने के लिए Jivan में हमेशा आत्मविश्वास से आगे बढ़ते रहना ही सुखमय Jivan बेहतरीन सूत्र है.

इसीलिए कहा गया है कि अगर किसी चीज को दिल से पाना चाहते हैं तो उसे पूरी कायनात मिलाने में लग जाती है.

अपनी गलतियों को स्वीकार करें

हर व्यक्ति के जीवन में कोई ना कोई गलती जरूर होता है लेकिन अपनी गलतियों को स्वीकारने के बजाय कई बार अपनी गलतियों पर पर्दा डालने से कई तरह की समस्याएं उत्पन्न हो जाती है.

इसलिए हर व्यक्ति को जीवन में यह एक जरूरी सूत्र हमेशा याद रखना चाहिए कि अगर कभी गलती हो जाती है. तो अपनी गलतियों को स्वीकारने का हिम्मत होना चाहिए. जब अपनी गलती स्वीकारते हैं तभी कुछ सीख मिलता है और आगे दोबारा वह गलती करने से पहले 100 बार सोचते हैं.स्वस्थ जीवन शैली का राज क्या हैं

तनाव से दूर रहें

कई बार देखा गया है कि अगर किसी कार्य में असफलता मिल जाती है तो व्यक्ति तनाव में रहने लगता है चिंतित रहने लगता है जिससे उनका जीवन कष्ट भरा होने लगता है. 

अपने जीवन को सही बनाने के लिए सुखमय बनाने के लिए हमेशा तनाव से दूर रहना चाहिए दुनिया की बेकार बातें की ओर ध्यान नहीं देना चाहिए.

जीवन में कुछ अच्छी बातें सीखने के लिए गीता रामायण भागवत आदि किताबों को पढ़कर  उनका अनुसरण करना चाहिए जिससे शरीर में शक्ति मिलती है आत्मविश्वास बढ़ता है और सफलता अपने आप मिलने लगती है.

अपने आप में विश्वास रखें

Jivan में कभी कभी ऐसा होता है कि किसी कार्य को करने जाते हैं. लेकिन अपने आप पर विश्वास नहीं रहता है कि वह कार्य सही होगा या नहीं. तो किसी भी कार्य को करने के लिए अपने आप पर विश्वास रखना चाहिए. अपने आपको दूसरों से कभी भी कम नहीं समझना चाहिए.

किसी भी कार्य को करने के लिए जीवन में धैर्य समझदारी के साथ आगे बढ़ते रहने से Jivan सुखी हो जाता है. कहा जाता है कि अपने आप पर विश्वास करके अगर भगवान को भी याद किया जाए तो भगवान अपने आप चले आते हैं. कामयाबी इंसान के पास दौड़ी चली आती है. प्यार क्‍या हैं प्यार का परिभाषा क्या हैं

पॉजिटिव सोच

जीवन में किसी भी कार्य को करने के लिए किसी भी लक्ष्य को हासिल करने के लिए अपनी सोच को हमेशा पॉजिटिव रखना चाहिए.

सकारात्मक सोच के साथ अगर किसी भी कार्य को किया जाए तो कार्य सफल होता है जीवन में हमेशा प्रसन्नता बनी रहती है.

नेगेटिव सोच रखने वाला व्यक्ति कभी भी जीवन में सफल नहीं होते है या दूसरों के कार्य में हमेशा नुक्स निकालने से कभी भी सफलता नहीं मिलती है.

अहंकार का त्याग करें

किसी भी इंसान के जीवन में सबसे ज्यादा दुख उसके व्यवहार बुद्धि से होता है उस इंसान के अंदर अहंकार के वजह से कभी सफलता नहीं मिल पाता है.

क्योंकि कभी-कभी ऐसा होता है कि अपने अहंकार के वजह से दूसरों को नीचा दिखाना चाहते हैं. अपने आप को श्रेष्ठ बनाना चाहते हैं. इस वजह से जीवन में कष्ट होने लगता है.

जीवन में कई तरह की गलतियां करने लगते हैं. अहंकार की वजह से उन गलतियों को देख नहीं पाते हैं. समाज से परिवार से मनमुटाव हो जाता है. कलह पैदा हो जाता है. 

इसलिए जब इंसान अपना अहंकार त्याग देगा अपनी गलतियों की माफी दूसरे से मांग कर के अपनी गलतियों को सुधारने की कोशिश करता है तो जीवन बहुत ही आनंदमय सरल और सुखमय हो जाता है.

संतोषी जीवन जीना

इंसान के जीवन को सुखी बनाने के लिए कहा जाता है कि अपना पैर उतना ही फैलाना चाहिए. जितना की चादर हो इसका अर्थ यही होता है. कि अपने जीवन में हमेशा संतोषी संतुष्ट रहना चाहिए. जितना हमारे पास है उसी में अपना कार्य करना चाहिए. तभी जीवन सफलता की और अग्रसर होगा.

किसी भी व्यक्ति की सभी इच्छाएं हमेशा पूरी नहीं होती है. इसलिए उन इच्छाओं को पूरा नहीं होने पर असंतुष्ट नहीं होना चाहिए. जो व्यक्ति अपने जीवन में संतोष के साथ नहीं रहता है. उसका जीवन आगे चलकर नर्क के समान बन जाता है. इसलिए जितना है उसी में संतुष्ट रहें और खुश रहें.

दूसरों से तुलना न करें

पृथ्वी पर कई तरह के प्राणी रहते हैं इंसान में भी कई तरह के इंसान होते हैं कोई सुंदर होता है. कोई कुरूप होता है. कोई व्यक्ति बड़ा होता है. छोटा होता है. कोई गरीब होता है. कोई अमीर होता है. 

तो दूसरों को देख कर के कभी भी अपनी तुलना नहीं करनी चाहिए. कई व्यक्ति ऐसे होते हैं कि किसी धनी व्यक्ति को देखकर के खूबसूरत व्यक्ति को देखकर के निराश हो जाते हैं.

दूसरों से तुलना करने के बजाए अपने आप में ही अपनी सुंदरता और अपनी अच्छाइयों को देखना चाहिए. अपने अंदरूनी गुण को बाहर लाना चाहिए. क्योंकि भगवान हर व्यक्ति को एक खास उद्देश्य खास मकसद के साथ बनाते हैं. 

इसलिए हमेशा अपने अंदर की खुशी को तलाशना चाहिए. अपना जीवन सुखमय बनाने का कोशिश हमेशा करते रहना चाहिए.भूगोल क्‍या हैं

सोच समझ कर कार्य करें

जब किसी कार्य को करने जाते हैं तो उसको बिना सोचे समझे करने से वह कार्य हमेशा खराब हो जाता है. जीवन को सही बनाने के लिए एक बहुत ही महत्वपूर्ण और बहुत ही लाभकारी सूत्र यह है कि किसी भी कार्य को सोच समझकर करना चाहिए है.

कई बार ऐसा होता है कि जल्दबाजी में किसी कार्य को करने से वह कार्य खराब हो जाता है. 

एक उदाहरण से समझते हैं कि जब बारिश का मौसम आने वाला रहता है तो और पक्षी अपने आप को शेफ रखने के लिए, सुरक्षित रखने के लिए, अपने बच्चों को सही जगह पर रखने के लिए, बारिश से बचने के लिए, तिनका तिनका इकट्ठा करके अपना आश्रय बनाते हैं.

घोंसला बनाते हैं ताकि जब बारिश आए उनका परिवार सुरक्षित रहे वैसे ही सोच समझकर किया गया कार्य जीवन में हमेशा सुख लेकर ही आता है.

इच्छा पर नियंत्रण

वर्तमान समय में एक दूसरे से बड़ा दिखाने का हर इंसान में एक होड़ सा हो गया है. हर कोई अपने जीवन में दुनिया का हर सुख प्राप्त करना चाहता है. 

चाहे उसके पास ज्यादा पैसा हो या कम पैसा हो तो ऐसे समय में Jivan दुखों से भरा हो जाता है. इसलिए अपनी इच्छाओं पर हमेशा नियंत्रण रखना हर किसी के लिए आवश्यक है. क्योंकि असीमित इच्छाओं का परिणाम हमेशा बुरा ही होता है.

अच्छे लोगों से दोस्ती

कभी-कभी ऐसा होता है कि अपने जीवन में बिना सोचे समझे किसी भी व्यक्ति से दोस्ती कर लेते हैं, मित्रता कर लेते हैं. जिससे कि आगे चलकर वह व्यक्ति कई तरह के विश्वासघात कर देता है.

अपने Jivan को सुखी बनाने के लिए झूठे व्यक्तियों से दूर रहना चाहिए. सही व्यक्ति से मित्रता करना चाहिए. जिससे जीवन की रक्षा होती है.

कई व्यक्ति ऐसे होते हैं कि सामने बहुत ही मीठा बोलेंगे लेकिन पीठ पीछे बुराइयां करते हैं. वह व्यक्ति कभी भी दोस्ती के लायक नहीं होते हैं.

लेकिन जो व्यक्ति सही सलाह दें और आपके सामने ही कड़वा बोले वह प्रिय और हितकारी व्यक्ति होता है. उसका सलाह हमेशा मानना चाहिए.

सच्चाई का साथ दें

Jivan में हर व्यक्ति को एक अपना उद्देश्य एक लक्ष्य बनाना चाहिए. वह हमेशा सच्चाई का साथ दें. कभी भी झूठे लोगों से न ही मित्रता करें. और ना ही झूठे लोगों का कभी साथ दें.

सच्चाई की राह पर चलने से सच्चाई का साथ देने से Jivan हमेशा सुखी रहता है. अगर कोई झूठ बोलता हो किसी भी व्यक्ति के झूठी बातों का साथ देता हैं, उस पर पर्दा डालता है. तो एक न एक दिन उसे दुखी होना ही पड़ता है, और उसका जीवन कष्टकारी हो जाता है.

दूसरों पर भरोसा न करें

कभी भी दूसरे व्यक्तियों पर आंख बंद करके भरोसा नहीं करना चाहिए. कई व्यक्ति ऐसे होते हैं कि राह चलते भी दूसरे व्यक्ति के बातों में आ जाते हैं.

भरोसा कर लेते हैं जिससे कि उन्हें बहुत ही ज्यादा नुकसान उठाना पड़ जाता है. उनके जीवन में कई तरह की समस्याएं और परेशानी आने लगती है. इसलिए किसी पर भी जल्दी विश्वास नहीं करना चाहिए. दूसरे व्यक्तियों पर ज्यादा भरोसा नहीं करना चाहिए. अपना कार्य स्वयं से करना.

भगवान पर भरोसा रखें

अपने जीवन को सुखी बनाने के लिए स्वस्थ बनाने के लिए सुखमय बनाने के लिए सबसे अच्छा Jivan का सूत्र यही है कि भगवान पर हमेशा भरोसा रखें.

हमेशा भगवान पर विश्वास रखें, क्योंकि जो व्यक्ति सच्चे मन से सच्चे हृदय से भगवान की साधना करते हैं, भगवान पर भरोसा रखते हैं. उनका कार्य कभी भी असफल नहीं होता है.

वह हमेशा सफलता की ऊंचाइयों पर चढ़ते ही जाते हैं. जो व्यक्ति सच्चाई के साथ अपना कार्य करता है. भगवान पर भरोसा रख कर कार्य करता है. तो भगवान कभी भी उसे निराश नहीं करते हैं.

ये भी पढ़े

सारांश

सफल जीवन का सूत्र अपने जीवन को सुखी बनाने के लिए Jivan में उद्देश्य रखना जरूरी होता है. जीवन का सूत्र हमेशा फॉलो करना होता है. सफल जीवन का सूत्र

जीवन जीने के 16 सूत्र के बारे में विस्तार से जानकारी दिया गया है. अगर इस लेख से संबंधित किसी भी तरह का सवाल या सुझाव मन में है. तो कृपया कमेंट करके जरूर बताएं. और अपने दोस्त मित्रों रिश्तेदारों को जीवन जीने का यह 16 सूत्र शेयर जरूर करें.

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

Leave a Comment