शनिवार के दिन करें ये 14 उपाय

Shaniwar Ke Din Ka Upay शनिवार के उपाय. भगवान शनि को न्याय का देवता माना जाता है. इन्हें कलयुग का न्याय अधिकारी भी मानते हैं. भगवान शनि अगर किसी पर प्रसन्न होते हैं तो उन्हें रंक से राजा बना देते हैं और अगर किसी पर क्रोधित होते हैं, तो उस व्यक्ति को राजा से रंक भी बना देते हैं.

शनि भगवान हर व्यक्ति के कर्मों के अनुसार फल देते हैं. अगर कोई अच्छे कर्म करता है, तो उसके अच्छे कर्मों के अनुसार ही अच्छे फल प्रदान करते हैं. वहीं अगर कोई व्यक्ति बुरे कर्म करता है, तो उसे बुरे कर्मों के अनुसार ही बुरे फल भुगतना पड़ता है.

इसलिए भगवान शनि को प्रसन्न करना बहुत ही जरूरी है. जिस व्यक्ति पर शनि का दोष हो जाता है उसे कई तरह के परेशानियों का सामना करना पड़ जाता है. अगर कोई व्यक्ति सच्ची श्रद्धा, भक्ति, सच्चे ह्रदय और पवित्र निष्ठा के साथ शनि भगवान का पूजा करते हैं, तो शनि देव उन पर प्रसन्न होकर धन-धान्य से भर देते हैं.

मनुष्‍य पर आए हुए हर तरह के संकट को हर तरह के दुख को शनि देव समाप्त कर देते हैं. भगवान शनि देव को शनिवार का दिन सबसे प्रिय है. इस दिन किए जाने वाले हर तरह के उपाय से भगवान शनि प्रसन्न हो जाते हैं.

शनिवार के दिन करें यह उपाय

शनि देव भगवान सूर्य और छाया के पुत्र हैं. शनि देव का सवारी गिद्ध है. किसी भी व्यक्ति के जीवन में शनि की दशा अगर रुष्ट हो जाती है, तो उसे कई सारे कष्टों को भोगना पड़ता है. इसलिए शनि भगवान को प्रसन्न करने के लिए कुछ जरूरी उपाय करना चाहिए.

Shaniwar Ke Din Ka Upay

इससे शनि भगवान प्रसन्न होकर आपके जीवन में जो भी दुख, कष्ट और परेशानी है उसको हर लेते हैं. क्योंकि जब भगवान शनि किसी से नाराज होते हैं तो उस व्यक्ति पर कई तरह के दुख, संकट और परेशानी होने लगती है. इसलिए हर शनिवार को नियमानुसार भगवान शनि का पूजन और उपाय करने से जीवन के हर तरह के परेशानी का अंत हो सकता है.

  • शनिवार के दिन सुबह ब्रह्म मुहूर्त में पीपल के पेड़ में जल चढ़ाएं.
  • पीपल के पेड़ को छूकर 7 बार परिक्रमा करना चाहिए.
  • परिक्रमा करने के साथ-साथ पीपल के पेड़ में कच्चा सूता का धागा भगवान शनि का ध्यान लगाते हुए लपेटने से भी शनि भगवान प्रसन्न होते हैं.
  • पीपल के पेड़ में जल चढ़ाते समय भगवान शनि का मंत्र का जाप करना भी जरूरी है.
  • ऊं शं शनैश्चराय नम:’ शनिदेव का मंत्र हैं.जिसका जाप किया जाता हैं.
  • सरसों तेल से बने समान या उड़द का दान करने से शनिदेव को प्रसन्‍न कर सकते हैं.
  • पीपल के पेड़ में गुड तिल और सरसों का तेल चढ़ाने से शनि भगवान प्रसन्न होते हैं.
  • शनिवार के दिन रामचरितमानस का सुंदरकांड का भी पाठ करने से शनि भगवान अच्छे फल देते हैं.
  • भगवान शनि को शमी पेड़ का पौधा भी बहुत ही ज्यादा प्रिय है. इसलिए शनि की कृपा प्राप्त करने के लिए शनिवार के दिन शमी पौधे में जल चढ़ाने से शनिदेव प्रसन्न होते हैं.
  • घर में धन-संपत्ति बढ़ाने के लिए शनिवार के दिन शाम में समी पौधा के पास सरसों तेल का दीपक जलाने से भी इनका कृपा प्राप्त होता है.
  • भगवान शनि को कर्म फल दाता भी माना जाता है. इसलिए हर शनिवार को उन्हें प्रसन्न करने के लिए उनका आशीर्वाद प्राप्त करने के लिए पूरे नियम के साथ और उनके मंत्र का जाप करते हुए पीपल के पेड़ में अगर पूजा करते हैं तो शनि भगवान जरूर प्रसन्न होंगे.
  • अगर किसी व्यक्ति पर साढ़ेसाती या शनि का दोष है तो उसे शनि भगवान का मंत्र का जाप 108 बार शनि मंदिर में जाकर करने से छुटकारा मिल सकता है.
  • अगर अपने दांपत्य जीवन में सुख प्राप्त करना चाहते हैं तो उसके लिए शनिवार के दिन पीपल के पेड़ के पास काला तिल और जल जरूर अर्पित करें.
  • भगवान शनि को सरसों का तेल बहुत ही प्रिय है इसलिए अगर इन्हें प्रसन्न करना चाहते हैं तो सरसों का तेल उन पर चढ़ाएं या उसे दान करें.

शनिवार को यह काम कभी न करें

शनिवार के दिन भगवान शनि को प्रसन्न करने के लिए कई उपाय किए जाते हैं, जिसके बारे में ऊपर बताया गया है. लेकिन कुछ ऐसी भी बातें हैं जो कि शनिवार के दिन नहीं करनी चाहिए. क्योंकि इससे भगवान शनि नाराज हो जाते हैं और उनकी कृपा दृष्टि हट जाती है. जिससे मनुष्य के जीवन में संकट और दुख का सामना करना पड़ सकता है.

  • सरसों का तेल शनिदेव को अति प्रिय है. लेकिन शनिवार के दिन अगर कोई सरसों का तेल खरीदता है तो यह लाभदायक नहीं होता है.
  • इस दिन लोहा का सामान भी नहीं खरीदना चाहिए.
  • भगवान शनि को प्रसन्न करने के लिए काला तिल भी चढ़ाया जाता है. इसलिए इस दिन काला तिल नहीं खरीदना चाहिए.

ऊपर बताए गए जो भी शनिदेव के लिए उपाय हैं उसको शनिवार के दिन करने से मनुष्य के जीवन में सकारात्मक बदलाव जरूर आते हैं. जीवन में शनि भगवान को प्रसन्न करना बहुत जरूरी है.

क्योंकि इनकी दशा गलत होने से धन-संपत्ति में कमी शरीर में कई तरह के रोग आदि परेशानियों से सामना करना पड़ सकता है. गरीब, भिखारी वृद्ध व्‍यक्ति, जानवरों आदि को कभी भी कष्ट न दें. उनका अनादर नहीं करें नहीं तो शनि भगवान नाराज हो जाते हैं.

Leave a Comment