टेलीफोन का अविष्कार किसने कैसे और कब किया

टेलीफोन का अविष्कार किसने किया था Telephone ka Avishkar kisne kiya tha in hindi  इसका अविष्कार कब हुआ टेलीफोन क्या हैं इसके अविष्कारक के बारे में सारी जानकारी हम लोग इस लेख में जानेंगे.

पहले के जमाने में किसी का खबर लेना होता था. किसी को संदेश भेजना होता था तो कबूतर से संदेश भेजते थे. उसके कुछ दिनों बाद डाक का अविष्कार हुआ. चिट्ठी भेजा जाने लगा. डाक से भी जब चिट्ठी भेजा जाता था तो बहुत दिन लगता था. लेकिन जब से Telephone ka Avishkar हुआ. तब से किसी से भी संपर्क करना हो किसी का संदेश लेना हो या संदेश भेजना  आसान हो गया हैं.

Telephone से कितनी भी दूरी पर कोई हो कहीं भी हो तो हम लोग बात कर सकते हैं वहां का खबर ले सकते हैं तो हम लोग इस लेख में Telephone ka Avishkar किसने किया इसके बारे में पूरी जानकारी पाने वाले हैं आप लोग इस लेख को पूरा जरूर पढ़ें आइए नीचे जानते हैं Telephone ka Avishkar किसने किया.

Telephone ka Avishkar kisne kiya tha 

टेलीफोन के अविष्कार से पहले हम लोग को किसी के बारे में खबर लेना होता था तो बहुत परेशानी होता था हम लोग किसी भी पोस्ट कार्ड पर या किसी भी कागज पर चिट्ठी लिखकर उसको डाक में डालते थे

डाक से पहुंचने में 10 15 दिन या कभी-कभी महीना दिन भी लग जाता था लेकिन टेलीफोन का अविष्कार होने से किसी के बारे में पता करना या किसी से बात करने में ज्यादा समय नहीं लगता हैं.

Telephone ka Avishkar kisne kiya tha in hindi

Telephone ka Avishkar एक स्कॉटिश वैज्ञानिक ने किया था जिनका नाम एलेग्जेंडर ग्राहम बेल था.Telephone का अविष्कार करने में टॅामस वाटसन ने अलेक्जेंडर ग्राहम बेल का साथ दिया था.दोनों ने मिलकर टेलीफोन का अविष्कार किया था. रेडियो का अविष्कार किसने किया

जब ग्राहम बेल और उनके सहायक वाटसन ने मिलकर टेलीफोन का अविष्कार किया तो सबसे पहले ग्राहम बेल ने वाटसन को टेलीफोन करके पहला शब्द बोला था कि यहां आओ मैं तुम्हें देखना चाहता हूं

अविष्कार करने के बाद टेलीफोन का मांग बढ़ने लगा धीरे-धीरे अमेरिका में हर कोई टेलीफोन का इस्तेमाल करने लगा हर कोई इस दूरसंचार का ज्यादा उपयोग करने लगा

1875 में टेलीफोन का अविष्कार हुआ लेकिन 1880 तक 49000 से भी ज्यादा घरों में अमेरिका में टेलीफोन लोग लगवा चुके थे फोन का अविष्कार करके ग्राहम बेल एक बहुत ही बड़ी काबिलियत प्रूफ किया

साथ ही उन्होंने बहुत बड़ी उपलब्धि प्राप्त की टेलीफोन के साथ-साथ एलेग्जेंडर ग्राहम बेल ने और भी कई टेक्नोलॉजी का अविष्कार किया जैसे कि फोटो फोन, ऑप्टिकल फाइबर सिस्टम, बैल, डेसीमल यूनिट आदि

लेकिन एलेग्जेंडर ग्राहम बेल का प्रसिद्धि और मुख्य पहचान टेलीफोन के अविष्कारक के रूप में ही किया जाता है उन्होंने यह अविष्कार इसलिए ज्यादा किया क्योंकि उनकी मां और पत्नी दोनों ही बहरी थी

इसी एक परेशानी की वजह से एलेग्जेंडर ग्राहम बेल को ध्वनि विज्ञान में ज्यादा दिलचस्पी था और उन्होंने टेलीफोन का अविष्कार करने का प्रयास किया और वह इसमें सफल भी हुए.

टेलीफोन का अविष्कार कब हुआ था 

Telephone का अविष्कार अलेक्जेंडर ग्राहम बेल ने किया था उन्होंने 2 जून 1875 में Telephone ka Avishkar किया था उन्होंने Telephone ka Avishkar किया था लेकिन अभी तक उनको आधिकारिक रूप से अविष्कारक नहीं माना गया था

लेकिन 7 मार्च 1875 को उन्होंने इसका पेटेंट अपने नाम करवाया इसके बाद एलेग्जेंडर ग्राहम बेल टेलीफोन के आधिकारिक रूप से अविष्कारक माने जाने लगे.

टेलीफोन का अविष्कार करने के पीछे अलेक्जेंडर ग्राहम बेल का मेन उद्देश्य यह था कि उनके मां और पत्नी दोनों बहरी थी इसलिए वह कोशिश करने लगे की टेलीग्राफ के तार के द्वारा कैसे ध्वनि के सिग्नल को भेजा जाए

ऐसे ही कोशिश करते करते हैं एक दिन ग्राहम बेल को सफलता मिल गई और टेलीफोन का उन्होंने अविष्कार किया. मोबाइल का अविष्कार किसने किया

Telephone क्या हैं 

टेलीफोन से हम लोग कहीं भी कितनी भी दूर कोई बैठा हैं उससे बात कर सकते हैं टेलीफोन को हम लोग एक ऐसा यंत्र कह सकते हैं जिसके सहायता से एक आदमी कहीं दूर दूसरे आदमी से आसानी से टेलीफोन की वजह से बात कर सकता हैं टेलीफोन को हिंदी में दूरभाष कहा जाता हैं.

Telephone एक ऐसा उपकरण भी कहा जा सकता हैं जिससे कि एक आदमी का ध्‍वनी इलेक्ट्रॉनिक्स सिग्नल की वजह से दूसरे आदमी तक पहुंच जाता हैं और हम लोग आसानी से किसी से बात कर सकते हैं.

आजकल तो कई तरह के मोबाइल भी हम लोगों के बीच उपलब्ध हैं जिससे कि हम कहीं जाने आने में लेकर जा सकते हैं और किसी से भी बात कर सकते हैं.

टेलीफोन विश्व में विज्ञान का एक ऐसा प्रसिद्ध और महत्वपूर्ण खोज था जिससे दूरसंचार के सभी परेशानियों से छुटकारा मिल गया वर्तमान समय में भले ही मोबाइल हर किसी के पास हो गया है

हर कोई अपने मोबाइल से कहीं से भी किसी भी जगह से कॉल करके बात कर सकता है लेकिन पहले टेलीफोन का अविष्कार हुआ था जो कि किसी भी एक जगह पर रखकर उससे बात किया जाता था

मोबाइल टेलीफोन का एक एडवांस रूप है वैसे तो वर्तमान समय में कई स्मार्टफोन आ गए हैं जिससे कि वीडियो कॉलिंग भी करके बात किया जा सकता है जब टेलीफोन का अविष्कार नहीं हुआ था

उस समय कोई भी व्यक्ति अगर दूर रहता था तो उससे बात नहीं किया जा सकता था सिर्फ चिट्ठी या संदेश के द्वारा उस व्यक्ति का हालचाल लिया जा सकता था.

आजकल हर कोई स्मार्टफोन का इस्तेमाल कर रहा है तो मान लीजिए कि अगर टेलीफोन का अविष्कार नहीं हुआ होता तो आज मोबाइल का भी अविष्कार नहीं होता इसलिए टेलीफोन दुनिया में एक आधुनिक अविष्कार था.

टेलीफोन के अविष्कारक  

अलेक्जेंडर ग्राहम बेल एस्कॉटिश वैज्ञानिक थे. एलेग्जेंडर ग्राहम बेल तो Telephone ka Avishkar किया हैं उनका साथ टॉमस वाटसन ने भी दीया था. ग्राहम बेल ने टेलीफोन के अविष्कार के साथ साथ ही उन्होंने कई तरह के अविष्कार किया.

जैसे कि फाइबर सिस्टम फोटो फोन बेल और डेसीबल यूनिट और मेटल डिटेक्टर . लेकिन अलेक्जेंडर ग्राहम बेल को टेलीफोन का अविष्कार करने के लिए ज्यादा जाना जाता हैं.

अलेक्जेंडर ग्राहम बेल के साथ और कई लोगों ने टेलीफोन का अविष्कार करने के लिए प्रयोग किया था. जैसे कि Antonio Meucci और Amos Dolbear इन दोनों वैज्ञानिकों का भी टेलीफोन का अविष्कार करने में नाम आता हैं. टेलीविजन का अविष्कार किसने किया

सारांश 

हम लोग इस लेख में टेलीफोन का अविष्कार किसने किया टेलीफोन का अविष्कार इसका अविष्कार कब हुआ टेलीफोन क्या हैं इसके अविष्कारक के बारे में जाने हैं आप लोगों इस लेख को पूरा जरूर पढ़ें

इस लेख से जुड़े कोई भी सवाल हो तो  कमेंट करके जरूर पूछें. इस लेख में हमने टेलीफोन का अविष्कार किसने किया के बारे में पूरी जानकारी दी हैं. आप लोगों को यह जानकारी कैसा लगाा हमें कमेंट करके जरूर बताएं और शेयर भी जरूर करें.

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

Leave a Comment