टीवी का अविष्कार किसने किया

टीवी का अविष्कार किसने किया TV ka avishkar kisne kiya tha in hindi टेलीविजन को सबसे पहले काब  बनाया गया टेलीविजन को बनाने वाले अविष्कारक कहां के रहने वाले थे और टेलीविजन कब-कब किस रूप में बनाया गया यह सारी जानकारी हम लोग इस लेख में जानेंगे

टेलीविजन आजकल हमारे जिंदगी का एक अहम हिस्सा हो गया हैं कभी भी हम खाली समय में रहते हैं कोई मनोरंजन का साधन ढूंढते हैं तो हम लोग घर में बैठे आराम से TV देख लेते हैं

TV में हम लोग न्यूज़ देख सकते हैं जो कि घर बैठे ही पूरे दुनिया के बारे में कहां क्या हो रहा हैं सारी जानकारी हम लोग घर बैठे आराम से जान सकते हैं कोई भी गाना देख सकते हैं फिल्म देख सकते हैं बच्चे कार्टून देख सकते हैं यह सारी चीजें हमें टीवी में घर बैठे पता चल जाता हैं तो आइए नीचे जानते हैं टीवी को कब और किसने बनाया.

TV ka avishkar kisne kiya tha 

1925 में जॉन लॉगी बेयर्ड ने सबसे पहले टेलीविजन का अविष्कार किया था इस टेलीविजन पर सबसे पहले कठपुतली के छवि को प्रसारित करके दिखाया गया था

इस कठपुतली के छवि का नाम स्टिकी बिल रखा गया था सबसे पहले जब टेलीविजन का अविष्कार किया गया तो उसका स्क्रीन बहुत ही छोटा था लेकिन बाद में उसका स्क्रीन बड़ा करके उसको बनाया गया

TV ka avishkar kisne kiya tha in hindi

जॉन लॉगी बेयर्ड के टेलीविजन का अविष्‍कार करने के बाद फिलो फंर्सवर्थ 7 सितंबर 1927 को इलेक्ट्रॉनिक टीवी का अविष्कार किया.1927 में सबसे पहला इलेक्ट्रॉनिक TV फिलो फंर्सवर्थ ने बनाया.मोबाइल का आविष्कार किसने किया

इन्होंने टीवी तो बना दिया लेकिन इसका सार्वजनिक प्रदर्शन नहीं हुआ था 3 दिसंबर 1928 को इन्होंने इलेक्ट्रॉनिक टीवी जो बना था

उसका सार्वजनिक प्रदर्शन करके लोगों के सामने रखा फिलो फंर्सवर्थ ने जब इलेक्ट्रॉनिक टीवी बनाया उस समय उनका उम्र सिर्फ 21 साल था.

टीवी का अविष्कार कब हुआ

TV का आविष्कार सबसे पहले 1925 में हुआ था सबसे पहला टीवी  जॉन लॅागी बेयर्ड ने बनाया था जॉन लॉगी बेयर्ड स्कॉटलैंड के रहने वाले थे सबसे पहले जो TV बनाया उसका नाम उन्होंने द टेलीविजर रखा

जब इन्होंने टीवी बनाया तब उस पर सबसे पहले कठपुतली का नाच इन्होंने दिखाया था जिसको स्टिकी बिल कहा गया जब इन्होंने टीवी बनाया उसके बाद डेली एक्सप्रेस अखबार के ऑफिस में जाकर इन्होंने इसका प्रचार करने को कहा. यह टीवी जो बना था वह मैकेनिकल टीवी था.

कलर टीवी का अविष्कार

TV का अविष्कार तो हुआ था लेकिन यह TV ब्लैक एंड वाइट था इसमें जो भी देखा जाता था वह सिर्फ ब्लैक एंड वाइट ही दिखाई देता था इसलिए 1838 में जर्मनी के एक इंजीनियर Werner Flechsig ने कलर टीवी का आविष्कार किया.

इसके बाद टीवी तो कई तरह के बने लेकिन उसको लोगों के बीच में बेचा नहीं जा रहा था इसलिए सबसे पहले 1939 में  Dumont company कंपनी बनाया गया ताकि उसके द्वारा टेलीविजन बेचा जाए.

पेंटर गोल्ड स्मार्क ने 1946 में रंगीन TV बनाकर लोगों को दिखाया . यही टीवी 1948 में अमेरिका में बेचा गया पहली बार 1 मिलियन के लगभग टेलीविजन बेचा गया इसके बाद टीवी का डिमांड दिनों पर दिन बढ़ता ही गया

और इस डिमांड को देखते हुए कई तरह के TV बनाया जाने लगा कई गुणों वाला टीवी बनने लगा जोकि बाजार में भी आसानी से मिल जाया करता था और आज भी मिल जाता है. टेलीफोन का आविष्कार किसने किया

टेलीविजन क्या है

टेलीविजन इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस है इसमें कई तरह के चैनल होते हैं जिसके माध्यम से हम लोग न्यूज़ देख सकते हैं किसी भी तरह का फिल्म गाना देश विदेश का म्यूजिक धारावाहिक रियलिटी शो आदि देख सकते हैं

अपने अनुसार जो भी भाषा का ज्ञान है उस भाषा में टेलीविजन पर किसी भी तरह का प्रोग्राम देखा जा सकता है वैसे तो आजकल टीवी पर कितने सारे चैनल आ रहे हैं

लेकिन पहले सिर्फ नेशनल और dd 2 नाम का दो ही चैनल आता था आजकल कई डिजिटल स्मार्ट टीवी आ गए हैं जिसमें कई चैनलों पर अपनी इच्छा के अनुसार किसी भी तरह का प्रोग्राम देखा जा सकता है

फिल्म देखा जा सकता है TV पर गेम भी खेला जा सकता है कई टीवी तो ऐसे आ रहे हैं जिस को इंटरनेट के माध्यम से कनेक्ट करके वीडियो कॉलिंग भी कर सकते हैं. टीवी आजकल एक एडवर्टाइजिंग का भी प्रमुख माध्यम बन गया है

TV के विकास के वजह से ही इंटरटेनमेंट इंडस्ट्री का भी विस्तार होने लगा क्योंकि जब फिल्म बनने लगा तो लोग TV आ जाने से देखने लगे वैसी टीवी जैसे-जैसे जमाना डिजिटल हो रहा है लोग आधुनिक हो रहा है उस तरह से आधुनिक रूप में भी लॉन्च किया जाने लगा है.

भारत में टेलीविजन का शुरुआत कब हुआ

सबसे पहले भारत में टेलीविजन का शुरुआत 15 सितंबर 1959 में हुआ था जब टीवी का शुरुआत किया गया तो उस समय कुछ ही समय तक टीवी पर किसी भी कार्यक्रम का प्रसारण होता था

लेकिन 1965 के बाद हमेशा दैनिक प्रसारण होने लगा और सबसे पहले दिल्ली में टीवी देखा गया था भारत में टेलीविजन का सबसे पहला चैनल दूरदर्शन था उस समय टीवी ब्लैक एंड वाइट ही आता था

लेकिन 1982 में भारत में सबसे पहला कलर टीवी का शुरुआत किया गया टेलीविजन को हिंदी में दूरदर्शन कहते हैं दूरदर्शन इसलिए कहा जाता है क्योंकि टेलीविजन पर दूर के किसी भी व्यक्ति या वस्तु के बारे में जानकारी या गति को तस्वीर के द्वारा प्रस्तुत किया जाता है.रेडियो का आविष्कार किसने किया

टीवी कितने प्रकार का आता हैं 

पहले के जो लोग थे वह मनोरंजन के लिए रेडियो में गाना सुनते थे न्यूज सुनते थे और कुछ देखना होता था तो किसी नुक्कड़ नाटक को देख कर के रंगमंच पर नृत्य देख कर के अपना मनोरंजन करते थे

लेकिन जब टेलीविजन का अविष्कार हुआ तो या लोगों के लिए एक बहुत ही अच्छा मनोरंजन का केंद्र बन गया और टीवी का अविष्कार होने से सबसे खास बात यह है कि कहीं बाहर जाना भी नहीं पड़ता था

बस अपने घर में ही हर तरह के मनोरंजन टीवी पर देख सकते थे किसी भी तरह का नृत्य नाटक गाना फिल्म या देश विदेश की खबरें जानना हो तो घर बैठे देखा जा सकता है इसलिए उस समय के लोगों के लिए टेलीविजन एक बहुत उपयोगी चीज बन गया.

शुरू में जब TV बना था उसके बाद से अब तक कई तरह के टीवी बना और बाजार में भी हम लोग आसानी से ले सकते हैं तो आइए जानते हैं की TV कितने प्रकार के आते थे और अब आते हैं.

सीआरटी टीवी

सबसे पहला जो TV बना था उसको सीआरटी कहा जाता था जिस का फुल फॉर्म कैथोड रे ट्यूब होता हैं .गूगल का अविष्कार किसने किया

प्लाजमा टीवी  

सीआरटी TV बनने के बाद प्लाजमा टीवी का अविष्कार हुआ 1990 में प्लाजमा टीवी बनाया गया यह टीवी जब बना तब इसका डिमांड बहुत ज्यादा बढ़ गया था और इसके बाद लोग टीवी देखना ज्यादा पसंद करने लगे इसलिए बाजार में भी इसकी मांग बढ़ने लगी.

प्लाजमा TV का अविष्कार होने के बाद लोगों के बीच टीवी एक बहुत ही मनोरंजन का साधन बन गया इसलिए दिनोंदिन टीवी का डिमांड बढ़ने लगा लोग इसका मांग करने लगे इसलिए कई तरह के टीवी बनाए जाने लगे जैसे की एलसीडी एलईडी ओएलईडी.

टीवी का अविष्कार किसने किया

TV के अविष्कारक जॅान लॅागी बेयर्ड स्कॉटलैंड के हेलेंसबर्ग के रहने वाले थे इनके पिता का नाम रेवरेंड जॉन  बेयर्ड था जो द सर्च ऑफ स्कॉटलैंड के मिनिस्टर थे जॅान लॅागी ने टेक्निकल इंजीनियर का कोर्स किया था

र अपने पढ़ाई के साथ ही उन्होंने इंजीनियरिंग अपरेंटिस की नौकरी भी किया था. जब प्रथम विश्व युद्ध हुआ तब जान ने आर्मी की तरफ से लड़ाई भी किया था लड़ाई करते समय उन्हें कोई परेशानी हो गया

इस वजह से वह वापस चले आए और TV के अविष्कार करने में लग गए और 1925 में उन्होंने यह आश्चर्यजनक अविष्कार करके लोगों को आश्चर्यचकित कर दिया.

सारांश 

इस लेख में हमने टीवी जो कि हमारे जिंदगी जीने का एक जरिया हो गया हैं के बारे में पूरी जानकारी देने की कोशिश की हैं

आप लोगों को यह जानकारी कैसी लगी हमें कमेंट करके जरूर बताएं और शेयर भी जरूर करें.

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

Leave a Comment