यूपीएससी का फुल फॉर्म क्या होता है | UPSC Ka Full Form in Hindi

UPSC Full Form In Hindi यूपीएससी भारत के ग्रुप ए ग्रुप बी की सर्विसेज कराने वाले एक स्वतंत्र संस्था है. जिसके द्वारा भारत में अगर कोई भी सिविल सर्विस करना होता है, तो यूपीएससी का ही एग्जाम पास करके किया जा सकता है. यूपीएससी के द्वारा चयनित होकर भारत में कहीं भी गवर्नमेंट जॉब करते हैं, उसमें प्रतिष्ठा, मान सम्मान, अच्‍छा वेतन के साथ-साथ एक एक बेहतर भविष्य भी प्राप्त हो जाता है.

लेकिन UPSC का फुल फॉर्म क्या होता है, UPSC का स्थापना कब और किसने किया, यूपीएससी के द्वारा कौन-कौन से सिविल सर्विसेज का एग्जाम दिया जाता है यह जानना भी आवश्यक है, तो इस लेख में यूपीएससी के बारे में पूरी जानकारी दी गई है.

गांव हो या शहर हो हर जगह के युवा ट्वेल्थ पास करने के बाद अपना करियर प्रशासनिक सेवाओं में बनाना चाहते हैं तो उन्हें यूपीएससी का एग्जाम ही पहला ऑप्शन मिलता है. यूपीएससी का एग्जाम पास करके ग्रुप ए और ग्रुप बी में बेहतरीन पद प्राप्त करके अपने फ्यूचर को सेटल करना चाहते हैं, तो इस लेख नीचे यूपीएससी के बारे में विस्तृत जानकारी प्राप्त करते हैं. आईएएस का फुल फॉर्म क्या होता हैं

UPSC Ka Full Form

भारत देश के सबसे बड़े कठिन परीक्षा में से एक UPSC सिविल सेवा परीक्षा में हर साल लाखों अभ्यर्थी आवेदन करते हैं. जिनमें कुछ सफल होते हैं कुछ असफल होते हैं. इस एग्जाम को पास करने के बाद देश में कोने कोने में बड़े-बड़े अफसरों के पद पर नियुक्ति की जाती है.UPSC भारत में सिविल सर्विसेज कराने के लिए स्वतंत्र रूप से कार्य करती है. यूपीएससी का फुल फॉर्म Union Public Service Commission होता है. 

UUnionसंघ 
PPublicलोक
SServiceसेवा
CCommissionआयोग

 

UPSC Full Form In Hindi
UPSC Full Form In Hindi

यूपीएससी के द्वारा होने वाले सिविल सेवा परीक्षा जिसको सिविल सर्विसेज एग्जामिनेशन के नाम से जाना जाता है, हर साल आयोजित होता है. भारत में जितने भी गवर्नमेंट जॉब के लिए एग्जाम होते हैं उनमें सबसे कठिन और सबसे बेस्ट एग्जाम UPSC है. हर साल पूरे देश से लगभग 1000000 तक अभ्यर्थी यूपीएससी के लिए आवेदन करते हैं. देश के हर युवक का सपना होता है कि वह आईएएस आईपीएस जैसे अफसर बने!

उसके लिए वह दिन रात मन लगाकर पढ़ाई करते हैं! अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए यूपीएससी के द्वारा आयोजित होने वाला सिविल सर्विसेज एग्जाम पास करते हैं. देश का सबसे बड़ा सम्मानीय एग्जाम यूपीएससी है. यह प्रशासनिक सेवाओं में ग्रुप ए और ग्रुप बी के लेवल के कर्मचारियों की भर्ती के लिए एक स्वतंत्र प्रतिष्ठित और लोकप्रिय संस्था है .

UPSC Full Form In Hindi

यूपीएससी के अध्यक्ष डॉ मनोज सोनी है. और सचिव नरेश कुमार है. UPSC का मुख्‍यालय दई दिल्‍ली में स्थित हैं. UPSC का एग्जाम भारत में 2 चरणों में कराया जाता है. पहला प्रारंभिक एग्जाम और दूसरा मुख्य एग्जाम. इन दोनों चरणों में पास करने के बाद अभ्यार्थी का इंटरव्यू एग्जाम कराया जाता है. जिसमें उनके पर्सनालिटी उनके दिमाग बुद्धि आदि का आकलन किया जाता है. यूपीएससी का फुल फॉर्म इंग्लिश में यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन होता है जिसे हिंदी में संघ लोक सेवा आयोग के नाम से जाना जाता है.

यूपीएससी का स्थापना

भारत में यूपीएससी का स्थापना ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी के द्वारा किया गया था! पहले सिविल सेवा की परीक्षा सिर्फ लंदन में आयोजित किया जाता था. श्री रविंद्र नाथ टैगोर कि भाई श्री सत्येंद्र नाथ टैगोर ने 1964 में यूपीएससी की परीक्षा पास किए थे. UPSC का एग्जाम सबसे पास करने वाले पहले भारतीय श्री सत्येंद्र नाथ टैगोर थे.

लेकिन जब प्रथम विश्व युद्ध हुआ उस समय भारत में भी सिविल सेवा परीक्षा की जरूरत पड़ी. 1923 में ब्रिटिश शासक फरेहम के लॉर्ड ली के द्वारा रॉयल सिविल सेवा रॉयल कमीशन का शुरुआत किया गया. 1924 में इस आयोग के द्वारा एक नियम बनाया गया कि 40% भारतीय 40% ब्रिटिश और 20% भारत के आसपास प्रांतीय सेवाओं में जो कार्यरत हैं उनके लिए सिविल सेवा में भर्ती होने का मौका मिलेगा.

जिसके बाद ब्रिटिश सरकार के द्वारा 1 अक्टूबर 1926 में भारत में लोक सेवा आयोग का पूर्ण रूप से स्थापना किया गया. यूपीएससी का हेड क्वार्टर नई दिल्ली में स्थित है. जब भारत आजाद हुआ 26 जनवरी 1950 में भारत का संविधान तैयार किया गया, उस समय ब्रिटिश द्वारा स्थापित संघीय लोक सेवा आयोग का नाम बदलकर संघ लोक सेवा आयोग रख दिया गया.

तब से लेकर आज तक संघ लोक सेवा आयोग के द्वारा भारत में सिविल सर्विसेज एग्जाम का आयोजन हा साल किया जाता है. केंद्र सरकार के कार्मिक लोक शिकायत और पेंशन मंत्रालय के अधीन UPSC अपना कार्य करती है.

UPSC के लिए योग्यता

भारत के सबसे बड़े और महत्वपूर्ण सिविल सर्विसेज एग्जाम आयोजित करने वाली यूपीएससी एक स्वतंत्र संस्था है. UPSC के द्वारा जो भी सिविल सर्विसेज का आयोजन किया जाता है उसमें कोई भी बाहरी संस्था या बाहरी व्यक्ति दखलंदाजी नहीं करता है. यह संस्था मुख्य रूप से स्वतंत्र होकर अपना कार्य करती है. इसमें आयोजित होने वाले एग्जाम में किसी भी तरह का धोखाधड़ी या बेईमानी नहीं होता है. यूपीएससी का आवेदन करने के लिए हर कैंडिडेट में कुछ आवश्यक योग्यता होना आवश्यक है.

  • अगर UPSC का एग्जाम देना चाहते हैं तो उसके लिए सबसे पहले किसी भी मान्यता प्राप्त कॉलेज या यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन पास होना जरूरी है.
  • अगर किसी कैंडिडेट के पास एमबीबीएस, आईसीएआई, आईसीएसआई और आईसीडब्ल्यूएआई का कोर्स किये है वह भी इस एग्‍जाम को दे सकते हैं.
  • उम्मीदवार भारत का नागरिक होना चाहिए.
  • जनरल कैटेगरी के कैंडिडेट का उम्र सीमा 21 वर्ष से 32 वर्ष होना चाहिए.
  • ओबीसी कैटेगरी के कैंडिडेट का आयु सीमा 35 वर्ष तक होना चाहिए.
  • जो कैंडिडेट एससी और एसटी कैटेगरी से आते हैं उनके लिए उम्र सीमा 37 निर्धारित किया गया है.
  • अगर कोई दिव्यांग उम्मीदवार है, तो उनके लिए भी उम्र सीमा 37 वर्ष निर्धारित है.
  • यूपीएससी एग्जाम सामान्य वर्ग के कैंडिडेट 6 बार दे सकते हैं.
  • ओबीसी कैटेगरी के कैंडिडेट एग्जाम को 9 बार दे सकते हैं.
  • एससी एसटी कैटेगरी के कैंडिडेट के लिए इस एग्जाम को देने के लिए किसी भी तरह का लिमिटेशंस नहीं है. बल्कि 37 वर्ष के उम्र तक जितनी बार चाहे उतनी बार दे सकते हैं.

यूपीएससी के अंतर्गत प्राप्त होने वाली प्रशासनिक सेवाएं

भारत देश के लाखों और करोड़ों कैंडिडेट हर साल यूपीएससी एग्जाम पास करने के लिए तन मन से पूरी तरह समर्पित होकर तैयारी करते हैं. ताकि उन्हें भारत में नंबर वन गवर्नमेंट जॉब प्राप्त हो सके. यूपीएससी के द्वारा भारत के ग्रुप ए और ग्रुप बी में सिविल सर्विस प्राप्त करके देश की सेवा करने का गौरव प्राप्त होता हैं.

साथ ही जो व्यक्ति इस एग्जाम को पास करते हैं उन्हें समाज में भी सम्मान के दृष्टि से देखा जाता है. इस एग्जाम को पास करके अपना, अपने माता-पिता का, अपने गांव का यहां तक कि राज्य का भी नाम रोशन हो जाता है. भारत में केंद्र सरकार और राज्य सरकार के अंतर्गत लगभग 24 प्रशासनिक सेवाओं का एग्जाम और भर्ती UPSC के द्वारा हर साल होता है.

  1. आईएएस 
  2. आईपीएस 
  3. आई एफ एस 
  4. भारतीय डाक सेवा 
  5. भारतीय राजस्व सेवा आईटी ग्रुप 
  6. भारतीय सूचना सेवा 
  7. भारतीय राजस्व सेवा कस्टम्स एंड सेंट्रल एक्साइज 
  8. इंडियन p&t अकाउंट्स एंड फाइनेंस सर्विस 
  9. इंडियन ट्रेड सर्विस 
  10. इंडियन डिफेंस अकाउंट्स 
  11. इंडियन ऑडिट एंड अकाउंट्स 
  12. इंडियन कॉरपोरेट लॉ सर्विस 
  13. पुडुचेरी पुलिस सेवा 
  14. पुडुचेरी प्रशासनिक सेवा 
  15. दिल्ली अंडमान निकोबार द्वीप समूह दमन दीव और दादर नागर हवेली सिविल सेवा 
  16. इंडियन रेलवे पर्सनल सर्विस 
  17. रेलवे प्रोटेक्शन फोर्स में असिस्टेंट सिक्योरिटी कमिश्नर का पद 
  18. इंडियन रेलवे अकाउंट्स सर्विस 
  19. इंडियन डिफेंस एस्टेट सर्विस 
  20. इंडियन ऑर्डिनेंस फैक्ट्री सर्विस 
  21. इंडियन रेलवे ट्रेफिक सर्विस 
  22. आर्म्ड फोर्सज हेड क्वार्टर सिविल सर्विस 
  23. इंडियन सिविल अकाउंट्स सर्विस 
  24. इंडियन रेवेन्‍यू सर्विस

यूपीएससी के द्वारा आयोजित होने वाली एग्जाम

केंद्र सरकार और राज्य सरकार के कई सिविल सर्विस के लिए यूपीएससी के द्वारा एग्जाम आयोजित किया जाता है. जिसके तहत हर राज्य में सड़क, रेलवे, बिजली, आईएएस, आईपीएस, आईएफएस डिपार्टमेंट में अधिकारियों और इंजीनियरों का नियुक्ति होता है.UPSC के द्वारा आयोजित होने वाली कई प्रमुख परीक्षाएं हैं.

  • इंडियन फॉरेस्ट सर्विस एग्जामिनेशन
  • सिविल सर्विस एग्जामिनेशन
  • इंजीनियरिंग सर्विसेज एग्जामिनेशन
  • कंबाइंड डिफेंस सर्विसेज एग्जामिनेशन
  • नवल अकैडमी एग्जामिनेशन
  • नेशनल डिफेंस एकेडमी एग्जामिनेशन
  • विशेष कक्षा प्रशिक्षण शिक्षु
  • नौसेना अकादमी परीक्षा
  • संयुक्त चिकित्सा सेवा परीक्षा
  • संयुक्त भू विज्ञान और भू विज्ञान परीक्षा
  • भारतीय आर्थिक सेवा भारतीय संख्यिकी सेवा परीक्षा
  • केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल सहायक कमांडेंट

UPSC एग्जाम का तैयारी कैसे करें

भारत के सबसे कठिन और श्रेष्ठ एग्जाम UPSC एग्जाम होता है. इसको पास करने के लिए उम्मीदवार पूरी तरह से मंग्‍न होकर और तन मन से समर्पित होकर तैयारी करते हैं. इस एग्जाम को अगर बेहतर तरीके से तैयारी नहीं करते हैं, तो सफलता प्राप्त करना मुश्किल हो जाता है. क्योंकि ये बहुत ही हार्ड लेवल का एग्जाम होता है.

UPSC Full Form In Hindi 2

1. एनसीईआरटी बुक पढ़ें

UPSC एग्जाम में जो भी क्वेश्चन आते है उसको समझने के लिए उस सिलेबस को समझने के लिए एनसीईआरटी का बुक बेहतर होता है. अगर बेहतर तैयारी करना चाहते हैं तो एनसीईआरटी के क्लास 6 से लेकर 12वीं तक के सभी आर्ट्स के सब्जेक्ट का तैयारी करें. एनसीईआरटी का बुक पढ़ने से यूपीएससी का एग्जाम में सफलता प्राप्त करने में संभावना ज्यादा हो सकती है.

2. कोचिंग ज्वाइन करें

UPSC का एग्जाम पास करने के लिए बहुत ही ज्यादा मेहनत का जरूरत है. हर रोज नए एक्टिविटीज के साथ नए प्रतिस्पर्धा के साथ पढ़ाई करना होता है. इसके लिए बेहतर कोचिंग संस्थान का चयन जरूर करें. हर शहर में UPSC का एग्जाम क्रैक करने के लिए कई कोचिंग संस्थान है. जिसमें कई बड़े-बड़े अनुभवी टीचर के द्वारा इस एग्जाम में सफलता प्राप्त करने के लिए बेहतर पढ़ाई कराया जाता है.

3. न्यूज़पेपर पढ़ें

करंट अफेयर्स अंग्रेजी हिंदी और देश-विदेश में होने वाले हर तरह के घटनाओं का पता करने के लिए न्यूज़पेपर पढ़ें और टीवी पर न्यूज़ हर रोज देखें. न्यूज़ पेपर पढ़ने से टीवी पर न्यूज़ देखने से हर तरह के ज्ञान के साथ-साथ अंग्रेजी बोलने और समझने में भी मदद मिलता है. अपने सामान्य ज्ञान को मजबूत करने के लिए न्यूज़पेपर हर रोज पढ़ना जरूरी है.

4. ऑनलाइन तैयारी करें

आज के समय में नेटवर्क इतना आगे बढ़ गया है कि किसी भी तरह के जानकारी को प्राप्त करने के लिए इंटरनेट का उपयोग कर सकते हैं. इंटरनेट के द्वारा मोबाइल में लैपटॉप कंप्यूटर में किसी भी तरह की जानकारी को कुछ ही समय में प्राप्त कर सकते हैं. यूपीएससी एग्जाम का तैयारी करने के लिए मोबाइल से या कंप्यूटर से ऑनलाइन प्रश्नपत्र सामान्य ज्ञान से संबंधित पढ़ाई कर सकते हैं. इसके लिए यूट्यूब एक बेहतर प्लेटफार्म है जिस पर वीडियो के माध्यम से तैयारी करने में मदद मिलती है.

5. पिछले साल का प्रश्न पत्र हल करें

जिस साल एग्जाम देते हैं उससे पहले का प्रश्न पत्र देखकर हर एक क्वेश्चन के बारे में अनुमान लगा सकते हैं. उससे अनुमान लगाकर अच्छे से अभ्यास करके उसका आंसर प्राप्त कर सकते हैं. जिससे कि आपका तैयारी भी अच्छे तरीके से हो पाएगा.

यूपीएससी एग्जाम का चयन प्रक्रिया

संघ लोक सेवा आयोग के द्वारा एग्जाम का चयन प्रक्रिया तीन चरणों में किया जाता है. पहले चरण में प्रारंभिक एग्जाम दूसरे चरण में मेंस एग्जाम और तीसरे चरण में इंटरव्यू एग्जाम लिया जाता है. अगर यह तीनों एग्जाम अभ्यार्थी पास कर जाते हैं, तो उन्हें उनके द्वारा पास किए हुए पद के लिए चयनित किया जाता है.

1. प्रारंभिक एग्जाम

प्रारंभिक एग्जाम में 2 पेपर होते हैं. जिनमें भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन का इतिहास, भारत में वर्तमान में हो रहे घटनाओं के बारे में, भारत और विश्व का भूगोल, राज व्यवस्था और शासन पर्यावरण से संबंधित, आर्थिक और सामाजिक व्यवस्था से संबंधित क्वेश्चन आते हैं.

इस एग्जाम में नेगेटिव मार्किंग भी क्वेश्चन होता है. प्रारंभिक एग्जाम के दूसरे पेपर में तार्किक विश्लेषण, पारंपरिक और संचार कौशल निर्णय लेने की शक्ति तथा समस्या का समाधान, सामान्य ज्ञान और मानसिक क्षमता, गणित आदि विषय से संबंधित संबंधित क्वेश्चन आते हैं.

2. मुख्य परीक्षा

मेंस एग्जाम में 9 पेपर होते हैं जो उम्मीदवार प्रारंभिक एग्जाम क्वालीफाई कर लेते हैं, उन्हें ही यूपीएससी के दूसरे चरण मुख्य परीक्षा में बैठने की अनुमति होते हैं. मुख्य परीक्षा में विश्व और सामाजिक इतिहास तथा भूगोल, भारत के प्राचीन विरासत और संस्कृति, संविधान, टेक्नोलॉजी, विभिनता एवं आपदा प्रबंधन, आर्थिक विकास, अखंडता एवं जैव विविधता, आचार नीति आदि सब्जेक्ट से संबंधित क्वेश्चन आते हैं.

3. इंटरव्यू

UPSC के दो चरण प्रारंभिक एग्जाम और मेंस एग्जाम को अगर कैंडिडेट पास कर जाते हैं, तो उन्हें इंटरव्यू एग्जाम देना होता है. इंटरव्यू में हर एक कैंडिडेट का भाषा, शैली, व्यक्तित्व, गुण, लक्षण और पर्सनालिटी आदि का आकलन किया जाता है. सामान्य ज्ञान और वर्तमान घटनाओं से संबंधित क्वेश्चन पूछे जाते हैं. अगर इंटरव्यू में कैंडिडेट पास कर जाते हैं, तो जिस पोस्ट के लिए वह एग्जाम दिये हैं उससे संबंधित पोस्ट पर चयनित किया जाता है.कुछ दिन तक ट्रेनिंग होता हैं उसके बाद उनके पद पर ज्‍वाइन कराया जाता हैं.

FAQ

यूपीएससी क्‍या हैं

भारत में प्रशासनिक संवाओं के लिए स्‍वतंत्र रूप से एग्‍जाम आयोजित कराने वाली यूपीएससी एक संस्‍था हैं.

यूपीएससी का फुल फॉर्म क्या होता है

यूनियन पब्लिक सर्विस कमिशन यूपीएससी का फुल फॉर्म होता है.

यूपीएससी को हिंदी में क्या कहते हैं

संघ लोक सेवा आयोग.

यूपीएससी का स्थापना कब हुआ

1 अक्टूबर 1926 में ब्रिटिश सरकार के द्वारा UPSC का स्थापना किया गया.

यूपीएससी के सचिव कौन है

यूपीएससी के सचिव नरेश कुमार है.

संघ लोक सेवा आयोग के अध्यक्ष कौन है.

डॉ मनोज सोनी वर्तमान में संघ लोक सेवा आयोग के अध्यक्ष हैं.

यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन का हेड क्वार्टर कहां है.

नई दिल्ली धौलपुर हाउस शाहजहां रोड में यूपीएससी का हेड क्वार्टर स्थित है.

सारांश

UPSC Full Form In Hindi भारत  में एक स्वतंत्र संगठन यूपीएससी है. जिसके द्वारा भारत में हर साल सिविल सेवा परीक्षा आयोजित करके सिविल सर्विस प्राप्त किया जाता है. इस एग्जाम को पास करने के लिए किस तरह से तैयारी करना चाहिए, कितने चरण में इस एग्जाम को कंप्लीट किया जाता है, UPSC एक्जाम कितनी बार कौन से कैटेगरी के कैंडिडेट दे सकते हैं,

इसमें कौन-कौन से सिविल सर्विस आते हैं, यह सभी जानकारी इस पोस्ट में ऊपर दी गई है. हम आशा करते हैं कि यह आर्टिकल आपको जरूर पसंद आया होगा. फिर भी अगर इससे संबंधित किसी भी तरह का सुझाव या सवाल आपके मन में है, तो कमेंट बॉक्स में टाइप जरूर करें उसका जवाब जरूर दिया जाएगा.

Leave a Comment