अकाउंटेंट कैसे बनें? 12+तरीके 2024

अकाउंटेंट कैसे बने? अकाउंटेंट बनने के लिए उस व्यक्ति में जरूरी स्किल होना चाहिए. उसमें टैली का ज्ञान होना चाहिए. गणित का नॉलेज होना चाहिए तभी वह व्यक्ति एक सफल लेखा अधिकारी बन कर ज्यादा से ज्यादा पैसा कमा सकते है

किसी भी कंपनी में या किसी बड़े व्यवसाय का हर एक लाभ हानि को मैनेज करने के लिए एक अकाउंटेंट की जरूरत होती है. एक अनुभवी अकाउंटेंट द्वारा किसी भी कंपनी का लेखा-जोखा को सही तरीके से लिखा जा सकता है.

एक अकाउंटेंट के रूप में कैरियर बनाने के लिए बहुत ही ज्यादा मेहनत करना पड़ता है अपने कार्य के प्रति जिम्मेदार होना जरूरी है. नीचे कई टिप्‍स एंड ट्रिक्‍स दिये गए हैं जिसको सिखकर अकाउंटेंट बने. मोबाइल से पैसे कैसे कमाए 

अकाउंटेंट कैसे बने

आज हर कोई अपना व्यवसाय करके ज्यादा से ज्यादा फायदा कमाना चाहता है. हर कंपनी कुछ बेहतर करके दूसरी कंपनियों से आगे बढ़ना चाहती है. जिसके लिए एक अकाउंटेंट की जरूरत होती है.

हर क्षेत्र में अकाउंटेंट की मांग बढ़ने लगी है. इसमें ज्यादातर लोग कार्य करके ज्यादा से ज्यादा पैसा कमाना चाहते हैं और हर कोई अपने व्यवसाय अपने संगठन को टॉप लेवल पर लेकर जाना चाहते हैं.

Accountant kaise bane- अकाउंटेंट कैसे बने

एक अकाउंटेंट द्वारा कंपनी का सभी लेखा-जोखा विधि संबंधी काम को व्यवस्थित तरीके से एक जगह रखना होता है. उस संगठन में कितना लाभ और कितना हानि हो रहा है व्यवसाय का हर लेखा-जोखा एक डाटा के रूप में मेंटेन करना एक लेखा अधिकारी का ही कार्य होता है.

जिस व्यवसाय में वह काम करेगा उसका भी ज्यादा से ज्यादा मुनाफा करा सकता है. अकाउंटेंट बनने के लिए जरूरी गुण या ज्ञान क्या होना चाहिए जानने से पहले आइए जानते हैं कि एकाउंटिंग मतलब क्या होता है टीचर कैसे बने.

एकाउंटिंग क्या होता है

किसी भी कंपनी या बड़े-बड़े व्यवसाय में हर रोज होने वाले लाभ हानि आयात निर्यात से होने वाले लेखा-जोखा को सही तरीके से व्यवस्थित ढंग से मेंटेन करना ही एकाउंटिंग होता है. एकाउंटिंग को हिंदी में लेखांकन कहा जाता है. 

किसी भी कंपनी में कितना प्रॉफिट हो रहा है उसका कैश फ्लो स्टेटमेंट क्या है वह संस्थान या व्यवसाय का अन्य कंपनी या व्यवसाय के मुकाबले फिनेंशियल पोजीशन क्या है आदि को एक व्यवस्थित तरीके से तैयार करके डाटा के रूप में जो व्यक्ति रखते हैं. यह रोजगार करने वाले व्‍यक्ति को एकाउंटेंट कहा जाता हैं.अकाउंटेंट को हिंदी में मुनिम या लेखपाल कहते हैं.

1. ट्वेल्थ पास करें

अगर किसी छात्र को अकाउंटेंट बनने में रुचि है किसी भी व्यवसाय में एकाउंटिंग की नौकरी करके बहुत ज्यादा पैसा कमाना चाहते हैं तो उन्हें सबसे पहले ट्वेल्थ पास करना जरूरी है उसके बाद ही आगे कोई भी कोर्स कर सकते हैं.

2. ग्रेजुएशन कंप्लीट करें

अकाउंटेंट कैसे बने ट्वेल्थ पास बाद ग्रेजुएशन पास करना जरूरी है. ग्रेजुएशन अगर कॉमर्स सब्जेक्ट से बीकॉम करते हैं तो एक सफल लेखपाल बनने के लिए यह पहला सीढ़ी होता है. बीकॉम में कई ऐसे कोर्स होते हैं जिनमें एकाउंटिंग के गुण सिखाए जाते हैं. इसके हर एक तौर तरीके हर एक नॉलेज को बताया जाता हैं.

3. टैली की जानकारी

किसी भी संस्थान, बड़े-बड़े व्यवसाय या बड़े-बड़े दुकान हो कोई भी बड़े मेडिकल स्टोर हो हर जगह पर टैली के द्वारा ही उस व्यवसाय का लेखा-जोखा तैयार किया जाता हैं. एक सफल अकाउंटेंट बनने के लिए टैली की नॉलेज सबसे जरूरी है. टैली के कई कोर्स आते हैं जिसका शिक्षा प्राप्त करके एकाउंटिंग के तौर तरीके सीख पाएंगे.

4. कंप्यूटर की जानकारी

किसी भी रोजगार को करने के लिए सबसे जरूरी हैंं कि कंप्यूटर का जानकारी होना आवश्यक हैं. कंप्यूटर में एमएस एक्सेल, एमएस वर्ड, इंटरनेट, पावरप्वाइंट, आउटलुक आदि सॉफ्टवेयर का अगर नॉलेज रखेंगे तो किसी भी संस्थान या बड़े-बड़े व्यवसाय दुकान कहीं भी एक अकाउंटेंट की नौकरी कर सकते हैं.

5. अकाउंटिंग सॉफ्टवेयर की जानकारी

टैली के साथ-साथ किसी अकाउंटिंग सॉफ्टवेयर का बेसिक नॉलेज रखना भी आवश्यक हैं.

6. इंस्टिट्यूट्स ज्वाइन करें

हर क्षेत्र में एक प्रोफेशनल अकाउंटेंट का मांग बढ़ गया हैं तो व्यवसाय को मैनेज करने, लेखा जोखा का ज्ञान रखने के लिए किसी भी इंस्टीट्यूट कोचिंग आदि ज्वाइन करके एकाउंटिंग का हर एक गुण और हर एक कौशल को आसानी से सीख पाएंगे.

7. प्रैक्टिकल ज्ञान

किसी भी क्षेत्र का बेसिक नॉलेज के साथ-साथ प्रैक्टिकल नॉलेज भी होना जरूरी हैं. जब तक प्रैक्टिकली कोई कार्य नहीं करेंगे. तबतक उसकी विस्तृत रूप से जानकारी प्राप्त नहीं हो सकती हैं.

इसीलिए अकाउंट से संबंधित हर एक नॉलेज को जानने के लिए किसी अनुभवी गणना अधिकारी के साथ रहकर प्रैक्टिकल ज्ञान प्राप्त कर सकते हैं.

8. गणित की जानकारी

किसी भी बिजनेस का लेखा-जोखा टीडीएस, टैक्स रिटर्न फाइल या उस उद्योग के वित्तीय संबंधित कार्यों को करने के लिए मैथ सब्जेक्ट की ज्ञान होना आवश्यक हैं. अगर गणित की जानकारी नहीं रहेगी तो किसी भी बिजनेस का लाभ हानि, हर रोज का होने वाले कार्यों का लेखा-जोखा को सही तरीके से हिसाब किताब नहीं कर सकते हैं.

9. सीनियर अकाउंटेंट से ट्रेनिंग

अगर किसी इंस्टीट्यूट, कोचिंग में एडमिशन लेकर ज्ञान हासिल करने का स्थिति या बजट नहीं हैं या किसी एकाउंटिंग से संबंधित कोर्स नहीं कर सकते हैं तो एक सीनियर गणना अधिकारी के साथ रहकर हर नई-नई जानकारी को हासिल कर सकते हैं. कई बार किसी काम को अनुभव द्वारा भी सीखा जा सकता है.

10. ऑनलाइन जानकारी

कोई भी कार्य जानने के लिए ऑनलाइन कई ऐसी सुविधाएं हैं जिसको घर बैठे फ्री में सीखें. मोबाइल लैपटॉप पर इंटरनेट द्वारा ज्ञान हासिल कर पाएंगे इसके कई तरीके हैं गूगल यूट्यूब ब्लॉग वेबसाइट आदि

गूगल

अकाउंटेंट किसी भी क्षेत्र में कैसे बने की जानकारी रखना चाहते हैं तो गूगल एक ऐसा प्लेटफार्म है जिस पर दुनिया के किसी भी नॉलेज को हासिल करने के लिए बेहतरीन माना जाता है. दुनिया का नंबर वन सर्च इंजन वेबसाइट गूगल है.

यूट्यूब

गूगल के बाद सबसे ज्यादा सर्च किया जाने वाला सर्च इंजन वेबसाइट यूट्यूब है. यूट्यूब पर वीडियो द्वारा किसी भी तरह का नॉलेज को हासिल किया जा सकता है. कई लोग अकाउंटेंट से संबंधित जानकारी को यूट्यूब पर वीडियो के माध्यम से देते हैं.

सबसे फायदा यह है कि यूट्यूब पर किसी भी शिक्षा को हासिल करने के लिए एक पैसा भी खर्च नहीं करना पड़ता है. बस आपके मोबाइल या लैपटॉप में इंटरनेट की सुविधा होनी चाहिए.

11. जीएसटी रिटर्न फाइल की जानकारी

एक प्रोफेशनल अकाउंटेंट बनने के लिए जीएसटी रिटर्न की जानकारी रखना जरूरी होता है. जीएसटी, टीडीएस, टीसीएस और इनकम टैक्स रिटर्न जैसे कार्य ज्यादातर लोग एक गणना अधिकारी अकाउंटेंट से ही करवाते हैं. अगर इसकी नॉलेज होगी तो किसी उद्योग के साथ-साथ अन्य लोगों का जीएसटी रिटर्न फाइल करके भी पैसे कमा सकते हैं.

12. फिनेंशियल स्टेटमेंट रिपोर्ट तैयार करना

अकाउंटेंट कैसे बने एक अकाउंटेंट का सबसे जरूरी वर्क किसी भी कंपनी व्यवसाय का फिनेंशियल स्टेटमेंट रिपोर्ट तैयार करना होता है. ताकि उसमें लाभ हानि जान सके उसमें रोज कितना प्रॉफिट होता है कितना हानि होता है उसका फिनेंशियल स्टेटमेंट क्या है.

अन्य कंपनी की तुलना में उस उद्योग को कैसे आगे बढ़ाया जा सकता है. इसकी अगर जानकारी रखेंगे तभी एक प्रोफेशनल गणना अधिकारी के तौर पर कहीं किसी भी क्षेत्र में कार्य कर पाएंगे.

अकाउंटेंट के लिए योग्यता

किसी भी क्षेत्र में रोजगार करने के लिए सबसे जरूरी है कि उस व्यक्ति का एलिजिबिलिटी क्या है. बिना योग्यता के वह उस क्षेत्र में कार्य नहीं कर सकते है. कुछ जरूरी योग्यता पूरा करके सफल अकाउंटेंट बने इंटरनेट से पैसे कैसे कमाए 

  • ट्वेल्थ पास होना जरूरी है
  • ट्वेल्थ के बाद ग्रेजुएशन कंप्लीट करें ग्रेजुएशन में कॉमर्स सब्जेक्ट से अगर पास करते हैं तो एक सफल गणना अधिकारीजरूर बनेंगे.
  • टैली सॉफ्टवेयर, कंप्यूटर, मैथ आदि की शिक्षा के साथ-साथ कोई अन्‍य अकाउंट सॉफ्टवेयर का नॉलेज होना जरूरी है.
  • किसी भी सीनियर अकाउंटेंट के साथ नौकरी करके अनुभव प्राप्त कर सकते हैं.
  • जीएसटी रिटर्न, टैक्स रिटर्न फाइल, टीडीएस फाइलिंग, बैलेंस शीट को मैनेज करने की जानकारी होनी चाहिए.
Accountant kaise bane अकाउंटेंट

अकाउंटिंग कोर्स

अकाउंटिंग का ज्ञान रखने के लिए ऊपर कई तरीके बताए गए हैं लेकिन उसके साथ ही कई ऐसे कोर्स हैं जिसको करके जानकारी प्राप्त कर सकते हैं.

किसी भी व्यवसाय में ग्रॉस प्रॉफिट, नेट प्रॉफिट उसका फिनेंशियल पोजीशन का बेहतर तरीके से ज्ञान प्राप्त कर सकते हैं. अगर चाहते हैं कि ट्वेल्थ पास करने के बाद ही एक प्रोफेशनल अकाउंटेंट बनकर किसी भी कंपनी में नौकरी करके अच्छी कमाई किया जा सके तो उसके लिए कई कोर्स है. जिसको करके अकाउंटेंट बने बिना पैसे का बिजनेस कैसे करें.

  • बीबीए अकाउंटिंग एंड फाइनेंशियल
  • बीकॉम एडवांस अकाउंटेंसी
  • बीकॉम कारपोरेट अकाउंटेंसी
  • बीकॉम अकाउंटिंग एंड फाइनेंस 
  • बीकॉम अकाउंटिंग एंड टैक्सेशन
  • B com Tax procedure and practice

मास्टर कोर्स

  • एमकॉम कारपोरेट अकाउंटेंसी
  • एमकॉम अकाउंटिंग एंड ऑडिटिंग
  • एमकॉम अकाउंटिंग एंड फाइनेंस
  • एमकॉम अकाउंटिंग एंड टैक्सेशन 
  • एमकॉम अकाउंटेंसी
  • एमकॉम अकाउंटेंसी एंड बिजनेस स्टैटिक्स

डिप्लोमा कोर्स

  • डिप्लोमा इन टैली सॉफ्टवेयर एडवांस 
  • डिप्लोमा इन टैक्सेशन एडवांस 
  • डिप्लोमा इन फाइनेंशियल अकाउंटिंग एंड टैक्सेशन 
  • डिप्लोमा इन एडवांस अकाउंटिंग 
  • डिप्लोमा इन फाइनेंशियल अकाउंटिंग एंड टैक्सेशन 
  • डिप्लोमा इन अकाउंटिंग एंड ऑडिटिंग 
  • पोस्ट ग्रेजुएशन डिप्लोमा इन टैक्सेशन 
  • पोस्ट ग्रेजुएशन डिप्लोमा इन अकाउंटिंग सॉफ्टवेयर 
  • डिप्लोमा इन कॉस्ट अकाउंटिंग प्रोफेशनल 
  • डिप्लोमा इन अकाउंटिंग

अकाउंटेंट का कार्य

कोई भी कंपनी हो या किसी का पर्सनल बिजनेस हो उसका लेखा-जोखा या वित्तीय संबंधी कार्यों को करने के लिए एक गणना अधिकारी की जरूरत होती है. इसके साथ ही और भी कई कार्य होते हैं

  • जीएसटी रिटर्न फाइल करना टैक्स रिटर्न फाइल करना टीडीएस फाइलिंग आदि.
  • किसी भी व्यवसाय जोखिमों का अच्छे से नॉलेज रखना.
  • वित्तीय संबंधित कार्यों को सही तरीके से डाटा के रूप में तैयार करके रखना.
  • फिनेंशियल स्टेटमेंट रिपोर्ट तैयार करना
  • जिस उद्योग में अकाउंटेंट की नौकरी कर रहे हैं वहां पर उस विभाग के बैलेंस शीट को सही तरीके से मैनेज करना.
  • अगर किसी बड़े बड़े दुकान पर मेडिकल स्टोर आदि जगहों पर अकाउंट जॉब कर रहे है या किसी कंपनी में नौकरी करते हैं तो वहां हर रोज कितना सेल हो रहा है कितना पर्चेज हो रहा है उसका रिकॉर्ड बना कर रखना.
  • संस्थान में कितने कर्मचारी है उन सभी का पैरोल पर सैलरी प्रोसेस करना.
  • हानि और लाभ का जानकारी रखना

अकाउंटेंट के लिए जॉब

अकाउंटेंट कैसे बने कई क्षेत्रों में अकाउंटेंट की नौकरी का अवसर मिल रहे हैं. एक सफल एक प्रोफेशनल अकाउंटेंट की मांग ज्यादा बढ़ रही है तो इस जॉब को करने के लिए जरूरी नहीं है कि किसी एक ही जगह पर कार्य करें. इसके लिए और भी कई क्षेत्र हैं जहां पर जॉब करके ज्यादा से ज्यादा पैसा कमाई होगा.

  • मैनेजमेंट लेखा
  • सर्टिफिकेट पब्लिक अकाउंटेंट 
  • जूनियर अकाउंटेंट 
  • फिनेंशियल डायरेक्टर 
  • सीनियर अकाउंटेंट एडवाइजर 
  • फाइनेंस मैनेजर 
  • रियल स्टेट फाइनेंस 
  • टैक्स बजट एनालिसिस 
  • पब्लिक अकाउंटेंट
  • कंपनी सेक्रेटरी
  • फाइनेंस कंट्रोलर
  • चार्टेड मैनेजमेंट अकांटेंट

एकाउंटिंग करने के फायदे

अकाउंटेंट कैसे बने अगर एकाउंटिंग का कोर्स किए हैं या किसी इंस्टीट्यूट कोचिंग में ज्वाइन करके वित्तीय प्रबंधन की पूरी नॉलेज प्राप्त किए हैं गणना अधिकारी के रूप में कहीं कार्य कर रहे हैं तो इससे बहुत ही ज्यादा पैसा कमाएंगे. साथ ही अकाउंटिंग का नॉलेज रखने के और भी कई फायदे हैं 

  • अगर अपना खुद का बिजनेस कर रहे हैं तो उस व्यवसाय में फाइनेंशियल पोजिशन की खुद ही विस्तार से जानकारी रख सकते हैं.
  • यह एक बहुत ही सम्‍मानित जॉब होता हैं.
  • किसी का जीएसटी रिटर्न फाइल करना है तो करके ज्यादा से ज्यादा पैसा कमा सकेंगे.
  • किसी बड़े-बड़े संस्थान में अकाउंटेंट का कार्य करके अपने भविष्य को सुनहरा बना सकते.
  • अगर किसी जगह पर कार्य कर रहे हैं और वहां पर व्यवसाय में कई तरह की गलतियां हो रही है. ज्यादा से ज्यादा हानि हो रही है तो लेखा कार्य की नॉलेज अगर रहेगी तो हर एक गलतियों को सुधार कर पाएंगे. प्रतिदिन डेट वाइज हो रहे हैं हर एक लाभ और हानि को लिखकर उस कंपनी का फिनेंशियल पोजीशन को सही बना सकते हैं.
  • अगर किसी बैंक से लोन लेना है तो किसी दूसरे व्यक्ति द्वारा लोन की जानकारी प्राप्त करना जरूरी नहीं है. अगर आप वित्तीय प्रबंधन जानते हैं तो खुद ही सभी कार्य सही तरीके से कर पाएंगे.
  • किसी व्यवसाय में आगे चलकर किसी तरह का प्रॉब्लम होता है कानूनी प्रक्रिया होता है तो एक अकाउंटेंट के द्वारा उस व्यवसाय के हर एक दस्तावेजों को दिखाकर संस्थान को विवादों से बचाया जा सकता है.
  • किसी इनकम टैक्स डिपार्टमेंट में बेहतर से बेहतर नौकरी प्राप्त करके अकाउंटेंट बने.

सारांश

ऊपर बताए गए एक सफल अकाउंटेंट कैसे बने के बारे में कई बेहतर तरीके हैं उसको सीख कर लेखा कार्य का कोर्स करके एक प्रोफेशनल अकाउंटेंट के रूप में किसी भी क्षेत्र में कार्य कर सकते हैं. इस लेख में दिए गए नॉलेज से अगर किसी तरह का सवाल है या सुझाव है तो कमेंट बॉक्स में कमेंट के द्वारा पूछ सकते हैं और अन्य लोगों को भी इस जानकारी को शेयर करें. 

सवाल जवाब

Q1. बैंक में अकाउंटेंट कैसे बने?

बैंकिंग एग्‍जाम आईबीपीएस का पास करके बैंकिंग पद प्राप्‍त कर पाएंगें।

Leave a Comment