ऑनलाइन एग्जाम कैसे होता हैं फायदे एवं नुकसान

Online exam kaise hota hai. how to do online exam ऑनलाइन एग्जाम में किन-किन बातों का ध्यान देना पड़ता है ऑनलाइन एग्जाम क्या है ऑनलाइन एग्जाम में और ऑफलाइन एग्जाम में क्या अंतर होता है ऑनलाइन एग्जाम के क्या फायदे हैं क्या नुकसान है के बारे में इस लेख में पूरी जानकारी मिलेगी.

पहले किसी में एग्जाम को देने के लिए पेन और पेपर की जरूरत होती थी लेकिन आज के समय में लगभग हर तरह के कंपटीशन के एग्जाम ऑनलाइन ही हो रहे हैं.

ऑनलाइन एग्जाम में किसी भी तरह के पेन और पेपर की जरूरत नहीं होती है उसमें इंटरनेट कंप्यूटर कीबोर्ड और माउस के माध्यम से परीक्षा दी जाती है. पहले की तुलना में आज के समय में हर परीक्षा में बदलाव कर दिए गए हैं. 

इसलिए अगर किसी को ऑनलाइन परीक्षा देना है किसी कंपटीशन की तैयारी कर रहे हैं तो ऑनलाइन एग्जाम के बारे में पूरी जानकारी रखना आवश्यक है नहीं तो कभी-कभी ऐसा होता है कि छात्र जब एग्जाम देने जाते हैं उन्हें अच्छे से जानकारी नहीं रहती है तो घबरा जाते हैं

परीक्षा देने में उन्हें मुश्किलों का सामना करना पड़ जाता है तो आइए इस लेख में ऑनलाइन एग्जाम कैसे होता है ऑनलाइन एग्जाम कैसे दिया जाता है के बारे में नीचे विस्तार से जानते हैं. जॉब कैसे ढूंढे 

Online exam kaise hota hai

आज के समय में लगभग हर परीक्षा हर कंपटीशन का एग्जाम का पेपर ऑनलाइन तरीके से ही हो रहा है तो हर स्टूडेंट को ऑनलाइन परीक्षा देने से पहले ऑनलाइन पेपर के बारे में जानकारी रखना जरूरी है पेपर देते समय किसी भी तरह के डाउट्स नहीं रहने चाहिए.

ऑनलाइन परीक्षा इंटरनेट के माध्यम से कंप्यूटर पर दिया जाता है इसमें किसी भी तरह के पेन पेपर इरेजर की जरूरत नहीं होती है सबसे पहले इसमें लॉगइन आईडी और पासवर्ड डाला जाता है और हर स्टूडेंट का लॉगिन और पासवर्ड उनके एडमिट कार्ड पर लिखा रहता है.

Online exam kaise hota hai

Online exam kya hai

ऑनलाइन एग्जाम कैसे होता हैं जानने से पहले ऑनलाइन एग्जाम क्‍या हैं के  बारे में जानना आवश्‍यक हैं ऑनलाइन एग्जाम कंप्यूटर पर इंटरनेट के माध्यम से दिया जाता है पहले किसी भी कंप्यूटर कंपटीशन का एग्जाम देने के लिए पेन पेपर पेंसिल इरेज़र स्‍वप्‍नर आदि लेकर जाने का जरूरत होता है

था लेकिन आज के समय में पेन पेपर पेंसिल इरेज़र स्वप्नर आदि का कोई जरूरत नहीं है सिर्फ कंप्यूटर के बारे में कुछ नॉलेज होना जरूरी है ऑनलाइन एग्जाम कंप्यूटर पर कीबोर्ड माउस और इंटरनेट के माध्यम से दिया जाता है

अगर किसी को पेपर का जरूरत है किसी मैथ का आंसर हल करने के लिए पेंसिल का जरूरत है तो वही सेंटर पर ही मिलता है और परीक्षा देने के बाद फिर से वह पेपर और पेंसिल जमा हो जाता है.

ऑनलाइन परीक्षा कैसे होता है के बारे में आइए नीचे स्टेप बाय स्टेप विस्तार से जानते हैं.बीपीएससी का फुल फॉर्म क्या होता है जानने के लिए इसे पढ़ें.

1. लॉगिन आईडी और पासवर्ड डालें

ऑनलाइन एग्जाम का शुरुआत कंप्यूटर पर सबसे पहले Login id और पासवर्ड डाल कर किया जाता है Login id और पासवर्ड स्टूडेंट के एडमिट कार्ड पर लिखा होता है

जब आईडी नंबर और पासवर्ड डालकर कंप्यूटर पर लॉगिन करेंगे उसके बाद कंप्यूटर की स्क्रीन पर जितने भी प्रश्न है वह पेपर सेट होकर आ जाता है. हर एक क्वेश्चन को चुनने के लिए माउस से क्लिक करना पड़ता है.

2. रोल नंबर

लॉगिन आईडी और पासवर्ड डालने के बाद पेपर शुरू होने से पहले सबसे पहले स्टूडेंट को अपना रोल नंबर इंटर करना होता है रोल नंबर डालने के बाद उस स्टूडेंट के फोटो के साथ उसके बारे में सारी डिटेल स्क्रीन पर दिखाई देने लगती है.

रोल नंबर डालने के बाद नेक्स्ट पर क्लिक करने से पहले रोल नंबर अच्छे से जांच लें उसके बाद ही नेक्स्ट ऑप्शन पर क्लिक करें. आईएएस का फुल फॉर्म क्या होता हैं जानने के लिए इसे पढ़ें.

3. एग्जाम इंस्ट्रक्शन

कंप्यूटर पर रोल नंबर इंटर कर देते हैं उसके बाद उस एग्जाम पेपर के दिशा निर्देश यानी कि एग्जाम इंस्ट्रक्शन के बारे में पूरी जानकारी दिया रहता है उसको अपने सुविधा के अनुसार हिंदी इंग्लिश में आसानी से सभी दिशा निर्देश को पढ़ ले उसके बाद ही नेक्स्ट पर क्लिक करके अगला ऑप्शन देखें. 

4. लैंग्वेज सेलेक्ट करें

Online exam आपको किस लैंग्वेज में देना है किस भाषा में देने में आसानी होगा इसके बारे में पहले चुनाव करना होता है तो ऊपर कंप्यूटर पर लैंग्वेज सेलेक्ट करने का जो ऑप्शन मिलेगा जिसमें हिंदी और इंग्लिश दो लैंग्वेज का चुनाव करने के लिए ऑप्शन रहेगा.

अगर हिंदी ऑप्शन पर क्लिक करते हैं तो सारा पेपर हिंदी लैंग्वेज में ही मिलेगा और अगर इंग्लिश भाषा को क्लिक करते हैं तो सभी पेपर इंग्लिश भाषा में ही कंप्यूटर पर दिखाई देगा.आईटीआई का फूल फॉर्म क्‍या होता हैं

5. एग्जाम पैटर्न

रोल नंबर एक्जाम इंस्ट्रक्शंस लैंग्वेज सेलेक्ट करने के बाद कंप्यूटर स्क्रीन पर एक एग्जाम पैटर्न का पेज खुल जाएगा और उस एग्जाम पैटर्न को पूरी तरह से देख कर समझ कर ही आगे का प्रोसेस करना चाहिए .

सभी ऑप्शन का चुनाव करने के बाद आपके कंप्यूटर स्क्रीन पर एक प्रश्न पत्र दिखाई देगा उस पर जितने भी प्रश्न रहेंगे उन सारे प्रश्नों को एक-एक करके आपके स्क्रीन पर दिखाई देगा

हर प्रश्न के चार ऑप्शन एबीसीडी दिया रहता है उनमें से जो भी उत्तर होगा उस पर माउस से क्लिक करके save and next क्लिक करना होता है सेव एंड नेक्स्ट पर क्लिक करने के बाद ही दूसरा क्वेश्चन स्क्रीन पर दिखाई देगा इसी तरह से जितने भी क्वेश्चन होंगे वह एक-एक करके स्क्रीन पर दिखाई देने लगेंगे.

Online exam kaise de

ऑनलाइन परीक्षा तो आजकल लगभग सभी दे रहे हैं लेकिन ऑनलाइन का परीक्षा कैसे दिया जाता है Online exam में किन किन महत्वपूर्ण बातों की जानकारी होनी चाहिए जानने के बाद परीक्षा आसानी से दिया जा सकता है.

परीक्षा जब शुरू होता है उसके 15 मिनट पहले स्टार्ट ट्यूटोरियल से एग्जाम के बारे में सभी नियम बताए जाते हैं ताकि किसी भी विद्यार्थी को परीक्षा देने में परेशानी न हो आईये नीचे जानते हैं कि Online exam देने के लिए किस तरह से सावधानी बरतना चाहिए किस तरह की जानकारी रखना चाहिए.एमबीए का फुल फॉर्म क्या होता हैं

1. कंप्यूटर की जानकारी

किसी भी ऑनलाइन एग्जाम को देने के लिए सबसे जरूरी है कि कंप्यूटर का नॉलेज होना चाहिए कंप्यूटर की जानकारी होनी चाहिए कि किस तरह से माउस पकड़ते हैं किस तरह से कीबोर्ड पर कौन सा बटन क्लिक करने से कौन सा कार्य होगा तभी Online exam आसानी से दे सकते हैं.

माउस के बारे में जानकारी रखना चाहिए कि राइट में क्लिक करेंगे तो क्या होगा लेफ्ट में क्लिक करेंगे तो क्या होगा कंप्यूटर स्क्रीन पर जो पेपर दिखाई दे रहा है उसको ऊपर नीचे करने के लिए माउस से कैसे करेंगे यह सारी जानकारी जब रहेगी तभी आसानी से Online exam दे सकते हैं. नीट का फुल फॉर्म क्या होता हैं जानने के लिए इसे पढ़ें.

2. परीक्षा पैटर्न को समझें

जब भी Online exam देने जा रहे हैं तो अपना आईडी पासवर्ड डालने के बाद परीक्षा पैटर्न को पूरी तरह से पढ़ें ऊपर से नीचे तक उसको धीरे-धीरे देख कर के उसके सभी दिशा निर्देश को समझें कि किस तरह से एग्जाम देना है.

3. उत्तर में सुधार

कई स्टूडेंट को ऐसा लगता है कि एक प्रश्न का उत्तर देने के देकर सेव एंड नेक्स्ट पर क्लिक करने के बाद उस क्वेश्चन के आंसर में किसी भी तरह का सुधार नहीं कर सकते हैं लेकिन ऐसी कोई बात नहीं है अगर आप चाहें तो उस क्वेश्चन को फिर से देख कर उसमें आसानी से सुधार कर सकते हैं.

अगर चाहे तो अपने सभी प्रश्न के आंसर फिर से पढ़ कर उसको मिला सकते हैं या यह जान सकते हैं कि कुल कितने प्रश्नों का हल अपने किया है और अगर कोई छूट गया है तो उसका आंसर दे सकते हैं.एलएलबी का फुल फॉर्म क्या होता हैं

4. उत्तर में सावधानी

जब भी किसी क्वेश्चन का आंसर दे तो उसे बहुत ही सावधानी से आंसर दे पहले उस आंसर  को अच्छे से पढ़ें अच्छे से उसका आंसर याद करें उसके बाद ही सेव एंड नेक्स्ट पर क्लिक करें नहीं तो कभी-कभी ऐसा होता है कि किसी स्टूडेंट से जल्दबाजी में किसी गलत आंसर पर क्लिक हो जाता है.

5. समय से पहले प्रश्न हल करें

जब Online exam दे रहे होते हैं तो टाइम पर भी ध्यान देना आवश्यक है क्योंकि जब समय खत्म होगा तो अपने आप ही कंप्यूटर का विंडो बंद हो जाता है और जो भी क्वेश्चन का आंसर दिए रहते हैं वह ऑटोमेटिक उसमें सेव हो जाता है

अगर समय रहते सभी क्वेश्चन का आंसर दे देते हैं तो एक बार सभी क्वेश्चन के आंसर पर नजर डाल सकते हैं उसमें अगर कोई सुधार करना है तो सुधार कर सकते हैं और उसके बाद सबमिट के ऑप्शन पर क्लिक करें.पीएचडी का फुल फॉर्म क्या होता हैं

6. प्रश्न का उत्तर सेव करें

ऑनलाइन परीक्षा देते समय जो भी प्रश्न का उत्तर देते हैं तो उत्तर देने के बाद सेव एंड नेक्स्ट पर क्लिक करके ही दूसरे प्रश्न पर जाएं कई स्टूडेंट हड़बड़ी में जल्दबाजी करने में क्वेश्चन का आंसर दे देते हैं लेकिन सेव पर क्लिक नहीं करके दूसरे क्वेश्चन पर चले जाते हैं जिससे कि वह आंसर सेव नहीं हो पाता है.

Online exam में महत्वपूर्ण बातें

  • Online exam देने के लिए सेंटर पर किसी भी तरह के समस्या को दूर करने के लिए परीक्षा के समय किसी भी तरह के जानकारी को प्राप्त करने के लिए छात्रों की मदद करने के लिए इंस्ट्रक्टर वहां पर रहते हैं अगर किसी तरह की समस्या है तो उनसे सलाह ले सकते हैं उनसे बता कर समस्या का हल कर सकते हैं.
  • परीक्षा देने के दौरान समय सीमा पर भी ध्यान रखना जरूरी होता है समय रहते ही अपने सभी क्वेश्चन का आंसर देकर एक बार सभी क्वेश्चन पर नजर डाल सकते हैं उसको देखकर जो गलत है उसको सही कर सकते हैं.
  • अगर परीक्षा देते समय कंप्यूटर अचानक बंद हो जाता है कीबोर्ड अच्छे से काम नहीं करता है माउस में किसी भी तरह की गड़बड़ी होती है या इंटरनेट की गति धीमी हो जाती है इंटरनेट अच्छे से नहीं चलती है तो किसी भी स्टूडेंट को घबराने की या परेशान होने की जरूरत नहीं है बल्कि तुरंत इंस्ट्रक्टर को सूचना देकर जो भी परेशानी है जो भी कंप्यूटर में समस्या है उसको ठीक करवा सकते हैं.
  • परीक्षा देते समय सभी क्वेश्चन को हल करने से पहले समय को भी देखना जरूरी है क्योंकि समय पूरा होते ही कंप्यूटर का विंडो अपने आप बंद हो जाएगा और जो भी प्रश्न पत्र है वह ऑटोमेटिक सभी उत्तर सेव हो जाते हैं तो कभी-कभी ऐसा होता है कि इस समय सीमा खत्म हो जाता है और स्टूडेंट समय पर ध्यान नहीं देते हैं जिसकी वजह से सभी प्रश्न हल नहीं हो पाते हैं और प्रश्न पत्र सेट का विंडो बंद हो जाता है.
  • परीक्षा देने से पहले कंप्यूटर की बेसिक नॉलेज होनी जरूरी है अगर कंप्यूटर का पूरी तरह से नॉलेज नहीं है तो परीक्षा देने में परेशानी हो सकती है.
  • जब भी किसी प्रश्न का उत्तर देंगे तो सेव और नेक्स्ट पर क्लिक करना नहीं भूले वैसे Online exam में किसी भी प्रश्न का उत्तर ऑटोमेटिक सेव हो जाता है लेकिन अपने आप से सेव कर देने से वह उत्तर सुरक्षित हो जाएगा.

ऑनलाइन एग्जाम और ऑफलाइन एग्जाम में अंतर

Online exam और ऑफलाइन एग्जाम में बहुत अंतर है पहले किसी भी तरह के अगर एग्जाम होता था किसी कंपटीशन एग्जाम होता था तो ऑफलाइन ही होता था.

लेकिन आज के समय में लगभग सभी कंपटीशन के एग्जाम ऑनलाइन हीं हो रहे हैं इसलिए Online exam और ऑफलाइन एग्जाम में क्या अंतर है इसके बारे में जानकारी रखना सभी के लिए आवश्यक है तभी एग्जाम देने जाएंगे तो उसमें किसी भी तरफ के समस्या नहीं हो सकते हैं आसानी से ऑनलाइन एग्जाम दे सकते हैं.

ऑनलाइन एग्जाम और ऑफलाइन एग्जाम में अंतर

ऑनलाइन एग्जाम

ऑफलाइन एग्जाम

ऑनलाइन एग्जाम में किसी भी तरह के पेन पेपर पेंसिल इरेज़र स्वप्नर आदि की जरूरत नहीं होती है और अगर किसी को जरूरत पड़ती भी है तो वही एग्जाम सेंटर पर ही मिलता है और परीक्षा खत्म होने के बाद वापस ले लिया जाता है.

ऑफलाइन एग्जाम में अपने घर से पेन पेपर पेंसिल रबर कटर आदि लेकर जाना पड़ता है.

ऑनलाइन एग्जाम कंप्यूटर कीबोर्ड माउस और इंटरनेट के माध्यम से दिया जाता है.

ऑफलाइन एग्जाम पेपर और पेंसिल के माध्यम से हो होता है पेपर पर सभी प्रश्न रहते हैं 

ऑफलाइन एग्जाम एक-एक करके अपने पेंसिल से टिक करके हर प्रश्न का उत्तर दिया जाता है.

Online exam में जो भी प्रश्न होते हैं कंप्यूटर के स्क्रीन पर दिखाई देता है और माउस के माध्यम से उसके आंसर पर क्लिक करके उत्तर दिया जाता है.

ऑफलाइन एग्जाम जब दिया जाता है तो सभी स्टूडेंट एक साथ बैठते हैं परीक्षा नियंत्रक उसी जगह पर उपस्थित रहते हैं ताकि हर एक छात्र को देख सके कि कोई उसमें चीटिंग तो नहीं कर रहा है कोई देख कर तो नहीं लिख रहा है.

Online exam में सभी स्टूडेंट अलग-अलग स्थान पर बैठकर परीक्षा देते हैं और परीक्षा हॉल में सीसीटीवी कैमरा लगा रहता है जिससे कि परीक्षा सेंटर की निगरानी आसानी से रखा जा सकता है.

ऑफलाइन परीक्षा में कई तरह के परीक्षा होते हैं जैसे कि लघु उत्तरीय प्रश्न निबंधात्मक प्रश्न आदि.

ऑनलाइन परीक्षा में सभी प्रश्न वस्तुनिष्ठ यानी कि एम सी क्यू होता है.

ऑनलाइन एग्जाम के फायदे

  • Online exam में यह फायदा होता है कि घर से पेन पेपर रब्बर यह सब लेकर नहीं जाना पड़ता है 
  • परीक्षा सेंटर की निगरानी शिक्षक अपने ऑफिस में बैठकर भी सीसीटीवी कैमरा के माध्यम से आसानी से रख सकते हैं 
  • सब से यह फायदा है कि कागज बनाने के लिए पेड़ों को काटना पड़ता है तो प्रकृति का संरक्षण नहीं हो पाता है ऑनलाइन परीक्षा के माध्यम से प्रकृति का भी संरक्षण हो जाता है किसी भी तरह कागज की जरूरत नही है 
  • कंप्यूटर की स्क्रीन पर देख कर इंटरनेट के माध्यम से कीबोर्ड और माउस से हर प्रश्न का उत्तर दे सकते हैं.
  • ऑनलाइन परीक्षा में किसी भी तरह के चीटिंग होने की संभावना नहीं रहती है बहुत ही सुरक्षित होता है Online exam जो भी होते हैं उसका रिजल्ट भी जल्दी घोषित किया जाता है. 

Online exam के नुकसान

  • ऑनलाइन एग्जाम के फायदे के साथ-साथ कुछ नुकसान भी है ऑफलाइन परीक्षा में सभी परीक्षार्थी को पता रहता है कि कागज पेन और पेंसिल से हर एक प्रश्न का उत्तर दे सकते हैं लेकिन ऑनलाइन परीक्षा में कंप्यूटर की जानकारी होना जरूरी है 
  • टेक्नोलॉजी से जुड़े रहना जरूरी है तो कई बार ऐसे परीक्षार्थी होते हैं जिन्हें कंप्यूटर की जानकारी नहीं रहती हैं टेक्नोलॉजी के हर एक उपकरण के बारे में जानकारी नहीं रहती है जिससे Online exam देने में उन्हें परेशानी हो जाती है.
  • Online exam में कई बार ऐसा होता है कि इंटरनेट अच्छा से नहीं चल पाता है सर्वर स्लो होता है जिससे कि परीक्षा देने में कुछ देर तक परेशानी होती है समय बर्बाद हो जाता है.
  • कंपटीशन की तैयारी कई ऐसे भी छात्र करते हैं जो की बहुत ही गरीब परिवार से होते हैं उन्हें किसी भी तरह के कंप्यूटर के कोर्स करने की क्षमता नहीं रहती है तकनीकी रूप से नहीं जुड़े रहने से उन्हें कंप्यूटर के बारे में पूरी जानकारी नहीं रहती है जिससे परीक्षा देने में परेशानी होती है कई बार पूरी जानकारी नहीं रहने की वजह से परीक्षा में असफल भी हो जाते हैं.

इसे भी पढ़ें

सारांश

Online exam kaise hota hai वर्तमान समय में हर काम डिजिटल होने लगा है समाज में परिवर्तन होने लगा है समय समय से कई तरह के टेक्निक का विकास हो रहा है हर कोई तकनीकी शिक्षा प्राप्त कर रहा है तो ऐसे में परीक्षा को भी डिजिटल बना दिया गया है Online exam कंप्यूटर पर मोबाइल पर दिया जा रहा है.

इस लेख में Online exam कैसे होता है ऑनलाइन एग्जाम में कौन-कौन सी जानकारी रखना जरूरी है ऑनलाइन एग्जाम क्या होता है Online exam और ऑफलाइन एग्जाम में क्या अंतर होता है

Online exam से क्या फायदा है क्या नुकसान है के बारे में पूरी जानकारी दी गई है अगर इस लेख से संबंधित कुछ सवाल या सुझाव है तो कृपया कमेंट करके जरूर पूछें और अपने दोस्त मित्रों को इस जानकारी को शेयर जरूर करें.

Leave a Comment