4 बेस्‍ट तरीके रेलवे में टीटी कैसे बने योग्‍यता व कार्य

TT Kaise Bane टीटी कैसे बनें। भारतीय रेलवे डिपार्टमेंट में हर साल कई रिक्वायरमेंट निकालते हैं। जिसमें टीटी के पद के लिए भी भर्ती निकालता है। आज के समय में कई युवा वर्ग है, जोकि रेलवे में टीटीई बनना चाहते हैं। क्योंकि यह पद रेलवे में एक बेहतर होता है इजिसमें रुतबा के साथ-साथ अच्छी सैलरी भी प्राप्त होती हैं। साथ ही एक टीटी को कई तरह के सुविधाएं भी रेलवे के तरफ से प्राप्त होती है।

भारत में रेल से जब यात्री सफर करते हैं, तो उनकी हर तरह की सुख सुविधाओं की जिम्मेदारी टीटीई पर रहती है। कौन यात्री टिकट के साथ ट्रेन में चढ़ा है उसका जांच करना टीटी का काम होता है। रेलवे के द्वारा टीटीई का तैनाती रेल में सफर करने वाले हर एक यात्री के सुविधा को देखने और उन्हें किसी भी तरह के नुकसान से बचाने के लिए किया जाता है।

इस लेख में टीटी बनने के लिए कौन सा प्रोसेस है। इसका एग्जाम कैसे दिया जाता है। टीटी का क्या कार्य होता है, क्या सैलरी होता है, टीटीई बनने के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए आदि के बारे में बेहतर जानकारी नीचे प्राप्त करेंगे।

टीटीई कैसे बने TT Kaise Bane

रेलवे डिपार्टमेंट में अगर टीटी का नौकरी करना चाहते हैं, तो सबसे पहले उम्मीदवार को रेलवे के द्वारा जो भी नोटिफिकेशन निकलता है, उसकी जानकारी प्राप्त करना चाहिए। रेलवे के द्वारा जो भी भर्ती निकलता है उसका नोटिफिकेशन हमेशा मुहैया कराया जाता है।

इसलिए जिस उम्‍मीदवार को इस नौकरी के प्रति आकर्षण है उन्हें समय-समय से जानकारी भी रखना जरूरी है। इसके साथ ही इसमें कितनी पढ़ाई करनी आवश्यक है, इसकी भी जानकारी रखना जरूरी है।

TT Kaise Bane

1. ट्वेल्थ पास करें

टीटीई के नौकरी के लिए सबसे पहले 10th के बाद किसी भी मान्यता प्राप्त कॉलेज से 12वीं पास करना जरूरी है। 12वीं में कम से कम 50% मार्क्स के साथ उत्तीर्ण होना चाहिए। इसके बाद रेलवे डिपार्टमेंट के द्वारा जारी किए गए नोटिफिकेशन के माध्यम से टीटीई के लिए आवेदन कर सकते हैं।

2. टीटीई पद के लिए नोटिफिकेशन की जानकारी

समय समय से भारतीय रेलवे के जो 17 जोन आरआरबी है उसके द्वारा रेलवे में जिस पदों के लिए भर्ती वह होता है, उसका नोटिफिकेशन जारी किया जाता है। यह नोटिफिकेशन रेलवे के ऑफिशियल वेबसाइट पर या रोजगार समाचार पत्र में निकाला जाता है।

अगर किसी उम्मीदवार को इस नौकरी के बारे में जानकारी प्राप्त करना है, तो उन्हें समय-समय से रेलवे की ऑफिशियल वेबसाइट या रोजगार समाचार पत्र से जानकारी प्राप्त करते रहना चाहिए। जब भी नोटिफिकेशन निकले उसमें योग्यता के अनुसार अप्लाई कर सकते हैं।

3. टीटी के लिए अप्लाई करें

टीटी पद के लिए जब नोटिफिकेशन जारी किया जाता है, उसके बाद आवेदन कर सकते हैं। आरआरबी के द्वारा ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के माध्यम से इस पद के लिए आवेदन कर सकते हैं। आवेदन करने के बाद निर्धारित समय के अंतर्गत एग्जाम का डेट निकल जाता है।

4. टीटी पद के लिए एग्जाम क्लियर करें

उम्मीदवारों के द्वारा ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के माध्यम से आवेदन करने के बाद रेलवे के द्वारा एग्जाम लिया जाता है। एग्जाम में सबसे पहले लिखित परीक्षा होता है। इस परीक्षा में अगर पास कर जाते हैं, तो इंटरव्यू, मेडिकल टेस्ट आदि एग्जाम होता है।

इस एग्जाम के लिए कड़ी मेहनत करनी पड़ती है। क्योंकि इसमें गणित, जनरल नॉलेज, रिजनिंग, करंट अफेयर्स आदि विषयों से ही क्वेश्चन पूछे जाते हैं। अगर इन सभी सब्जेक्ट का अच्छे से तैयारी कर लेते हैं, हर तरह की जानकारी प्राप्त होती है,

तो इस एग्जाम को आसानी से क्लियर भी कर पाएंगे। जब सभी चरण पास कर जाते हैं, तो टीटीई पद के लिए नियुक्ति मिल जाता है। पहले कुछ दिनों के लिए किसी रेलवे स्टेशन या किसी ट्रेन में ट्रेनिंग दिया जाता है।

टीटीई का फुल फॉर्म क्या होता है

इंडियन रेलवे ट्रेफिक सर्विस के अंडर में टीटीई का पद होता है। इसीलिए इंडियन रेलवे ट्रेफिक सर्विस के अंतर्गत ही टीटीई कार्य करते हैं। टीटीई का फुल फॉर्म Travelling Ticket Examiner होता है। इसे हिंदी में यात्रा टिकट परीक्षक कहा जाता है। यह ट्रेन के टिकट कंडक्टर के रूप में होते हैं, जो कि रेल में यात्रा करने वाले यात्री की टिकट का जांच करते हैं। इसीलिए इन्हें यात्रा टिकट परीक्षक के रूप में जानते हैं।

टीटीई के लिए योग्यता

  • किसी भी मान्यता प्राप्त कॉलेज से 12वीं किसी भी विषय से पास करना अनिवार्य हैं।
  • 12वीं में कम से कम 50% मार्क्स होना चाहिए।
  • उम्मीदवार भारत के नागरिक होने चाहिए।
  • उम्मीदवार का उम्र 18 साल से 30 साल तक होना अनिवार्य है।
  • एससी एसटी और ओबीसी कैटेगरी के जो भी उम्मीदवार हैं, उनके लिए उम्र सीमा में कुछ छूट मिलता है।
  • टीटीई के लिए आवेदन करने वाले उम्मीदवार के आंखों की दृष्टि सही होनी चाहिए।
  • आंखों की दूर दृष्टि और नजदीक दृष्टि दोनों में थोड़ा भी कोई परेशानी अगर होता है, तो इस नौकरी के लिए उम्मीदवार को योग्‍य नहीं माना जाता है।
  • अगर कोई उम्मीदवार डिप्लोमा या अन्य कोई डिग्री प्राप्त किये है, तो भी इस पद के लिए आवेदन कर सकते हैं।

टीटीई पद के लिए चयन प्रक्रिया

रेलवे भर्ती बोर्ड के द्वारा रेलवे में टीटी के लिए या किसी भी पद के लिए खाली पड़े स्थानों को भरने के लिए एग्जाम आयोजित किया जाता है। यह पद रेलवे के ग्रुप सी के अंतर्गत आता है। रेलवे भर्ती बोर्ड के द्वारा एग्जाम कई चरणों में आयोजित किया जाता है। जिसके बाद उत्‍तीर्ण हुए उम्मीदवार को उनके संबंधित पद के लिए नियुक्ति दी जाती है।

1. लिखित परीक्षा

सबसे पहले इसमें लिखित परीक्षा का आयोजन किया जाता है। जिसमें 150 प्रश्न होते हैं। इन प्रश्नों का अंक भी 150 ही होता है। इस एग्जाम में सामान्य ज्ञान, मैथ, इंग्लिश, करंट अफेयर्स, रेलवे, रिजनिंग आदि सब्जेक्ट से संबंधित क्वेश्चन पूछे जाते हैं। इसमें खासकर टेंथ के मैथ से संबंधित क्वेश्चन आते हैं। इसलिए इस एग्जाम को क्लियर करने के लिए उम्मीदवार को टेंथ और 12वीं के सभी मैथ का रिवाइज कर लेना चाहिए।

2. इंटरव्यू एग्जाम

इंटरव्यू को हिंदी में साक्षात्कार कहा जाता है। जो कैंडिडेट लिखित परीक्षा में उत्तीर्ण होते हैं, उन्हें ही इंटरव्यू एग्जाम के लिए आमंत्रित किया जाता है। इंटरव्यू में हर एक कैंडिडेट के मानसिक क्षमता का आकलन किया जाता है।

3. मेडिकल टेस्ट

लिखित परीक्षा और इंटरव्यू एग्जाम में पास होने के बाद ही कैंडिडेट का मेडिकल टेस्ट होता है। मेडिकल टेस्ट में हर एक उम्मीदवार के आंखों के और उनके शरीर के हर एक अंग का जांच किया जाता है। फिजिकल टेस्ट में आंखों की दृष्टि का क्षमता दूर दृष्टि या नजदीक दृष्टि बिना ग्‍लासेज के सही होना चाहिए।

इस एग्जाम में पास होने के बाद संबंधित पद के लिए कैंडिडेट को नियुक्ति मिल जाती है।  पहले उन्हें कुछ दिनों के लिए ट्रेनिंग दी जाती है। ट्रेनिंग के लिए किसी भी स्टेशन पर या किसी खास ट्रेन में ही ट्रेनिंग दिया जाता है। ट्रेनिंग पूरा होने के बाद टीटीई का जो भी कार्य होता हैं उसका शुरुआत हो जाता है।

टीटी के लिए तैयारी कैसे करें

  • सबसे पहले एग्जाम के लिए जो भी पैटर्न है सिलेबस है उसकी बेहतर जानकारी रखें।
  • टेंथ और ट्वेल्थ के मैथ का अच्छे तरीके से रिवाइज करें।
  • रेलवे के द्वारा जारी किए गए एग्जाम से संबंधित बुक खरीदें।
  • रेलवे के एग्जाम के लिए हर एक पद के लिए अलग-अलग बुक निकलता है। उस बुक में हर एक क्वेश्चन के बारे में बेहतर जानकारी दिया जाता है।
  • पिछले साल का जो भी क्वेश्चन पेपर है उसको देखकर हल करें। ताकि उस क्वेश्चन पेपर को देख कर आने वाले एग्जाम में क्वेश्चन के बारे में अनुमान लग सके।
  • अगर जरूरत पड़े तो किसी कोचिंग या इंस्टिट्यूट में एडमिशन लेकर अच्छे तरीके से एग्जाम की तैयारी कर सकते हैं।
  • रीजनिंग, मैथ, सामान्य ज्ञान, इंग्लिश और रेलवे से संबंधित सब्जेक्ट का बहुत ही विशेष तरीके से तैयारी करना चाहिए। क्योंकि अधिकतर क्वेश्चन इसी सब्जेक्ट से आते हैं।
  • हर दिन अपने आप से एक रूटीन बनाकर अगर पढ़ाई करें, तो एग्जाम की तैयारी बहुत ही अच्छे से हो जाएगी।
  • सामान्य ज्ञान, करंट न्यूज़ की जानकारी रखने के लिए प्रतिदिन न्यूजपेपर पढ़ें या टीवी पर न्यूज़ देखें। जिससे हर रोज होने वाले करंट न्यूज़ की जानकारी मिल सकती है।
  • टीटी एग्जाम के लिए तैयारी ऑफलाइन और ऑनलाइन दोनों तरीके से अगर करेंगे तो अच्छे से तैयारी हो सकता है।

टीटी का कार्य

ट्रेन में जो भी यात्री सफर करते हैं उन्‍हें हर तरह की सुविधा मुहैया कराने की जिम्मेदारी टीटी पर ही रहती है। टीटी का कार्य ट्रेन में सफर करने वाली यात्री का टिकट चेक करना होता है। कई बार ऐसे भी यात्री ट्रेन में सफर करते हैं, जो कि टिकट नहीं लिए रहते हैं, तो उन्हें टीटी को जुर्माना भी देना पड़ता है।

अगर ट्रेन में किसी तरह का परेशानी है शिकायत है, तो शिकायत दर्ज करने की जिम्मेदारी भी टीटी की ही होती है। अगर किसी यात्री को ट्रेन में खाने पीने का सामान आदि का जरूरत है, तो उसके लिए टीटी भी मदद कर सकते हैं।

किसी यात्री का अगर कोई सामान गुम हो जाता है या चोरी हो जाता है तो उसका शिकायत दर्ज करने की जिम्मेदारी या उसके लिए कोई खास कदम उठाने की जिम्मेदारी भी टीटीई की होती है।

हर एक ट्रेन में सफर करने वाले यात्री का किसी तरह के नुकसान न हो या उन्हें उनके रिजर्वेशन के अनुसार उनके सिट तक पहुंचाना इनका कार्य होता है। यात्रियों का सामान चेक करना। अगर किसी यात्री पास टिकट नही हैं तो उनसे कुछ पैसे लेकर टीटीई टिकट भी बना देते हैं।

टीटीई का सैलरी

भारतीय रेलवे के द्वारा टीटीई को सातवें पे कमीशन के अनुसार सैलरी दिया जाता है। इन्हें सैलरी के साथ-साथ और भी कई तरह की सुविधाएं प्राप्त होती है। जिसमें डीए एचआरए और अन्य कई तरह के एलायंस प्राप्त होते हैं।

अगर कहीं इन्हें ट्रेन में सफर करना है या अपने परिवार के साथ जाना है, तो सभी के लिए मुफ्त में ट्रेन का टिकट उपलब्ध होता है। साथ ही अगर टीटीके पद से प्रमोशन होता है तो उनके सैलरी में और सुविधाओं में भी वृद्धि होता है। प्रमोशन के बाद कई पद प्राप्त हो सकते हैं जैसे कि वरिष्ठ टिकट कलेक्टर, हेड टिकट कलेक्टर, टिकट निरीक्षक, मुख्य टिकट निरीक्षक आदि।

इसे भी पढें

सारांश

अक्सर हम जब ट्रेन में सफर करते हैं उस समय टीटीई के द्वारा टिकट चेक किया जाता है। कई बार किसी यात्री का अगर टिकट नहीं रहता है तो उन्हें कुछ जुर्माना भी भरना पड़ता है। किसी तरह की जानकारी प्राप्त करने के लिए या रेलवे में असुविधा होने पर टीटीई से शिकायत भी दर्ज करते हैं।

Leave a Comment