कार चलाना कैसे सीखें? 9 बेस्ट तरीकें 2024

कार चलाना कैसे सीखें? कार चलाना सीखने के लिए सबसे पहले उसके बारे में बेहतर जानकारी रखना आवश्यक है। उसके बाद आप किसी भी ड्राइविंग स्कूल या रिस्‍तेदार से आसानी से सीख सकते हैं। वैसे तो कार चलाना सबका लगभग शौक होता है। क्योंकि यह एक बहुत बेहतर कौशल होता हैं।

किसी कार्य को करने के लिए मेहनत लगन और जुनून की आवश्यकता होती है। तभी उस कार्य में सफलता हासिल कर सकते हैं। आजकल कार चलाना लगभग सबके लिए आवश्यक भी हो गया है।

क्योंकि बढ़ते हुए रोजगार कारोबार या कहीं भी आने-जाने के लिए यातायात साधनों की जरूरत है। जैसे-जैसे लोगों की आय बढ़ती जा रही है सभी अपने लिए हर तरह के सुविधाओं का साधन रख रहे हैं।

कार चलाना कैसे सीखें

वर्तमान समय में महिला हो या पुरुष हो हर को किसी को कार ड्राइव करना आना चाहिए। क्येंकि यह एक खुद के लिए स्वतंत्रता हैं। कार चलाना सीखने के कई तरीके हैं। लेकिन फोर व्हीलर ड्राइव करने के लिए उम्र 18 साल से ऊपर होना चाहिए।

Car Chalana Kaise Sikhe - कार चलाना कैसे सीखें

कार चलाना सीखने के बाद रोड पर या कहीं भी गाड़ी चलाने के लिए ड्राइवरी लाइसेंस जरूरी हैं। 18 साल से ऊपर उम्र होने के बाद सबसे पहले ड्राइवरी लाइसेंस बनाना आवश्यक है। क्योंकि किसी भी व्यक्ति को फोर व्हीलर चलाने से पहले ट्रांसपोर्ट अथॉरिटी द्वारा लाइसेंस बनवाना पड़ता है।

जिसे ड्राइवरी लाइसेंस के नाम से जानते हैं। ड्राइवरी लाइसेंस बनवाने के बाद ही आपको यह अनुमति मिल जाती है कि आप किसी भी तरह का कार चला सकते हैं। जिसके के लिए इन तरीकों को अपना सकते हैं।

1. कार की बेसिक जानकारी रखें

कार चलाने से पहले उसका बेसिक जानकारी रखना आवश्यक है। उसमें हर एक फंक्शन का नाम जानें। साथ ही सभी फंक्शन का इस्तेमाल किस चीज के लिए किया जाता है इसका भी जानकारी रखना आवश्यक है। उसमे कौन सा क्लच है कौन सा गियर है।

गाड़ी का स्टेयरिंग कौन सा है। एक्सीलेटर कौन सा है। इस तरह की छोटी-छोटी जानकारी को पहले जानना जरूरी होता है। जब आप कार के हर एक फंक्शन को जान जाएंगे तो वाहन का स्टेयरिंग संभालते समय हर एक बातों का ध्यान रखकर चला सकते हैं।

2. कार के हर फंक्शन की जानकारी

जब आप फोर व्हीलर के सभी फंक्शन का नाम जान जाएंगे उसके बाद उसके हर एक फंक्शन का काम भी जानना आवश्यक है। जैसे कि वाहन कैसे स्टार्ट करते हैं, कैसे बंद करते हैं, कैसे स्टेरिंग को संभालते हैं, ब्रेक कैसे लेते हैं, कौन से गियर में गाड़ी को कब चलाना चाहिए इस तरह की बेसिक जानकारियों को जानना आवश्यक है।

कार के फंक्शन और उसके हर एक फंक्शन को किस समय जरूरत पड़ता है उसका किस तरह से इस्तेमाल किया जाता है। जब जान जाएंगे तो बहुत ही आसानी से और बहुत ही जल्द वाहन ड्राइव करना सीख जाएंगे।

3. ड्राइविंग स्कूल जॉइन करें

अगर एक बेहतर प्रोफेशनल व्यक्ति से कार चलाना सीखना चाहते हैं तो आपके लिए सबसे आवश्यक ड्राइविंग स्कूल ज्वाइन करना है। आजकल सभी छोटे या बड़े शहर में ड्राइविंग स्कूल चलाया जाता है। जिसमें लोगों को बेहतर वाहन ड्राइव करना सिखाया जाता है।

उसमें एक से बढ़कर एक प्रोफेशनल व्यक्ति रहते हैं। जो बहुत ही बेहतर तरीके से सिखाते हैं। कार के हर एक फंक्शन की जानकारी उसके सभी बेसिक जानकारी को बहुत ही बेहतर तरीके से सिखाते हैं।

सुरक्षा के नियमों और वाहन को नियंत्रण करने की जानकारी दी जाती हैं। ड्राइव सीखने के लिए ड्राइवरी स्कूल बहुत ही बेहतर माध्यम है। जहां पर निर्धारित फीस भरकर कुछ ही दिनों में एक बेहतर सीख पाएंगे।

Car Chalana Kaise Sikhe 2

वैसे आजकल कई स्कूल में सिमुलेटर द्वारा ड्राइविंग सिखाते हैं। सिमुलेटर एक फिजिकल वीडियो गेम की तरह होता है। जिसमें एक केबिन होता है। उस केबिन में बैठकर वाहन संचालन के हर एक गुण को आसानी से सीख सकते हैं।

उस केबिन में एक 3D स्क्रीन होता है। जिसमें एक सड़क की तरह दिखाया जाता है और उसपर वाहन चलाने के अनेक तरीकों को दिखाया जाता है। इस तरह से इसमें ड्राइव के सभी प्रकार बारीकियों को बहुत ही आसानी से सिखाया जाता है।

जिसमें छात्रों को ऐसा अनुभव होता है वह किसी फोर व्हीलर में बैठ कर रोड पर ड्राइविंग कर रहे हैं। उसमें सभी बारीकियों को जैसे कि गियर, क्लच, एक्सीलेटर आदि की बेहतर जानकारी प्राप्त हो जाती है।

 4. रिश्तेदार या मित्र से सीखें

अगर आप पैसे देकर स्कूल में वाहन चलाना सीखना नहीं चाहते हैं। ऐसे समय में अपने रिश्तेदार या मित्र से वाहन संचालन सीख सकते हैं।

अगर आपके जान पहचान के लोगों पास फोर व्हीलर है। वह एक बेहतर ड्राइव करते हैं तो उनसे प्रतिदिन कुछ समय बहुत ही आसानी से और बेहतर तरीके से वाहन संचालन सीख सकते हैं।

5. हर रोज अभ्यास करें

चाहे आप किसी ड्राइविंग स्कूल में कार चलाना सीखें या किसी अपने रिश्तेदार क्या मित्र से सीखें। सबसे जरूरी है कि प्रतिदिन अभ्यास जरूर करें। स्कूल में कार चलाना सीखते हैं तो वहां से सीखने के बाद घर आकर किसी खाली स्थान पर कुछ देर तक के लिए फोर व्हीलर चलाने का अभ्यास जरूर करें।

किसी भी कार्य में सफलता प्राप्त करने के लिए अभ्यास बहुत जरूरी है। अगर हररोज प्रैक्टिस करेंगे तो बहुत जल्द कार ड्राइव सीख सकते हैं। धीरे धीरे उसपर नियंत्रण करने की कोशिश करें। ब्रेक लगाना और स्टेरिंग अच्छे से पकड़ना और गियर चेंज करने का अभ्यास करें।

6. गाड़ी खाली स्थान पर चलाएं

शुरू शुरू में जब कार संचालन सीख रहे हैं तो अभ्यास करने के लिए वैसे जगह का चुनाव करें जहां पर ट्रैफिक कम हो। वैसे सबसे बेहतर होगा कि आप किसी पार्क में या खाली जगह पर अभ्यास करें।

जहां पर लोगों का कम आना जाना हो और बिना किसी रूकावट या प्रतिबंध के आप अभ्यास कर सकें। क्योंकि शुरू शुरू में जो व्यक्ति ड्राइविंग करना सीखते हैं, उनसे खतरा होने का भी डर रहता है।

अगर वह किसी व्यक्ति को सामने देख लेंगे या ट्रैफिक को सामने देख लेंगे तो बहुत ही जल्द घबरा जाएंगे। ऐसे में अपने साथ-साथ दूसरों को भी नुकसान उठाना पड़ सकता है। इसलिए खाली जगह पर जाकर प्रतिदिन अभ्यास करें।

7. ट्रैफिक नियमों को जानें

जब फोर व्हीलर चलाना सीख रहे हैं तो ट्रैफिक नियमों की भी जानकारी रखनी आवश्यक है। क्योंकि अगर किसी ड्राइविंग स्कूल से वाहन संचालन सीखते हैं या किसी रिश्तेदार से तो सीखने के बाद अब धीरे-धीरे अभ्यास के लिए रोड पर भी चलाना सिखेंगें।

ऐसे में आप सभी ट्रैफिक नियमों की जानकारी जरूर रखें। जब भी सड़क पर ड्राइव करें तो सीट बेल्ट बांध कर रखें। अपना ड्राइविंग लाइसेंस अपने पास रखें। नहीं तो ऐसे समय में चालान कटने का भी डर रहता है।

Car Chalana Kaise Sikhe 3

जब आप ट्रैफिक नियमों को जान जाएंगे तो बेहतर तरीके से रोड पर ड्राइव कर सकते हैं। ट्रैफिक नियमों का पालन करके यात्रियों और अपने आप को सुरक्षित रखें।

8. गाड़ी धीरे चलाएं

जब भी रोड पर वाहन चलाने का अभ्यास करते हैं तो शुरू शुरू में उसका स्पीड बहुत ही कम रखें। क्योंकि अगर स्पीड ज्यादा रखेंगे तो अचानक सामने से कोई गाड़ी आ जाएगा या पीछे से कोई वाहन हर्न देने लगेगा उस समय घबराहट हो सकता है।

क्योंकि शुरू शुरू में ड्राइविंग करते समय कई तरह का डर मन में रहता है। इसलिए पूरे आत्मविश्वास से रोड पर वाहन चलाएं। साथ ही कम स्पीड में चलाएंगे तो उसको हैंडल करना आसान हो जाएगा। बेहतर तरीके से ब्रेक मार सकते हैं या ड्राइव के जो भी तरीके हैं उसको इजली कर सकते हैं।

9. मिरर का इस्तेमाल करें

सभी गाड़ी में दोनों साइड में मिरर दिया रहता हैं। साथ ही ड्राइवर के सामने सीट पर भी एक मीरर रहता है। जिसके माध्यम से फोर व्हीलर के पीछे जो भी वाहन आ रही है उसका निरीक्षण कर सकते हैं। इसलिए जब भी कार ड्राइविंग करें उस समय अपने दोनों साइड मिरर और सामने वाला मिरर का अच्छे तरीके से इस्तेमाल करें।

जिससे आपके फोर व्हीलर के पीछे कोई गाड़ी आ रहा है तो उसको साइड से रास्ता दे सकते हैं। या साइड में कोई गाड़ी आ रही है तो उसको भी इजली देखकर कार चलाना सिख पाएंगे।डांस कैसे सीखें

सारांश

कार संचालन करना एक बहुत ही बड़ा गुण होता है इसको सीखने के लिए व्यक्ति को आत्मविश्वास धैर्य के साथ-साथ एक सही समय पर सही निर्णय लेने की जरूरत होती है। कभी भी कार ड्राइविंग करते समय मोबाइल फोन पर बात नहीं करें।

क्योंकि मोबाइल फोन पर बात करने से या कोई भी चीज देखने से ध्यान भटक जाता है जिससे खतरा हो सकता हैं। कार ड्राइविंग करते समय सीधा सामने ध्यान होना चाहिए। जिससे किसी भी अनजान खतरों से बच सकें।

इस लेख में कार चलाना हमलोग कैसे आसानी से सीखें के लिए कई तरह के तरीके बताए गए हैं। अगर यह तरीके आपको अच्छा लगा हो या इस जानकारी से किसी भी तरह का सवाल या सुझाव है तो कमेंट के माध्यम से आसानी से बता सकते हैं।

Leave a Comment